SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

मंगलवार, 15 दिसंबर 2020

बुन्देलखण्ड मेडिकल कालेज में बिजली बंद होने का मामला ★ मन्त्री भूपेंद्र सिंह ने कहा मामला सरकार के संज्ञान में, सरकार कार्यवाही करेगी ★ कमिश्नर सहित प्रशासन पहुचा मेडिकल कालेज, किया निरीक्षण,दिए निर्देश

बुन्देलखण्ड मेडिकल कालेज में बिजली बंद होने का मामला
★  मन्त्री भूपेंद्र सिंह ने कहा  मामला सरकार के संज्ञान में, सरकार कार्यवाही करेगी
★ कमिश्नर सहित प्रशासन पहुचा मेडिकल कालेज, किया निरीक्षण,दिए निर्देश

सागर। एमपी में सरकारी हॉस्पिटलों और मेडिकल कालेजों में अब बिजली बंद होने की घटनाएं सामने आ रही है। हमीदिया हॉस्पिटल और शहडोल का मामला अभी थमा नही है। ताजा मामला बुन्देलखण्ड मेडिकल कालेज सागर का सामने आया। जहां कल रात में हाई वोल्टेज के चलते बिजली बंद हो गई। इसके चलते हड़कम्प मच गया। रात में हो 17 बच्चों को दूसरी जगह शिफ्ट कराया। आज सागर सम्भाग के कमिश्नर सहित पूरा प्रशासन कालेज पहुचा बेठक ली और निरीक्षण किया । उधर कमिश्नर मुकेश शुक्ला सहित अन्य अधिकारी बीमसी पहुचे और बेठक ली और व्यवस्थाओं का निरीक्षण कर जरूरी निर्देश दिए। 

मामला सरकार के संज्ञान में: मन्त्री भूपेंद्र सिंह

बीएमसी में हुई इस घटना को  नगरीय आवास मन्त्री भूपेंद्र सिंह  से लेते हुए कहा कि  मेडिकल कालेज में व्यवस्थाएं सुधारने की जरूरत है। बिजली गुल का मामला सरकार के ध्यान में है। यहां क्या व्यवस्थाएं करनी है और क्या कार्यवाही। यह सरकार करेगी। सरकार यहां व्यवस्थाओं को सुधारने के प्रति गंभीर है। आने वाले समय सब ठीक होगा। 

कमिश्नर ने की समीक्षा और व्यवस्थाएं सुधारने के निर्देश दिए

कमिश्नर   मुकेष शुक्ला ने मंगलवार को बीएमसी के सभाकक्ष में निगम कमिष्नर  आरपी अहिरवार, बीएमसी डीन डा. आरएस वर्मा, अधीक्षक डा. राजेष जैन, उपायुक्त डा0 पीके खरे सहित पीडब्ल्यूडी, इलेक्ट्रिक एण्ड मैंटेनेंस के अधिकारी एवं डाक्टर्स के साथ बैठक ली। 
कमिष्नर श्री शुक्ला ने सर्वप्रथम नगर निगम कमिष्नर श्री अहिरवार, उपायुक्त डा. खरे एवं बीएमसी के डाक्टर्स को गत दिवस हाई बोल्टेज के कारण विद्युत आपूर्ति बंद होने के पष्चात युद्ध स्तर पर किए गए आवष्यक उपाय के चलते कोई हानि न होने पर बधाई दी। कमिष्नर श्री शुक्ला ने हाई बोल्टेज होने के कारणों की बिन्दुवार समीक्षा करते हुए निर्देष दिए कि आने वाले समय में यह सुनिष्चित किया जाए कि, भविष्य में विद्युत आपूर्ति बंद होने के बाद भी बीएमसी की विद्युत व्यवस्था सुचारू रूप से संधारित होती रहे। उचित प्रबंधन और समन्वय के साथ कार्य कर व्यवस्थाओं को दुरस्त किया जाएगा।  कमिष्नर श्री शुक्ला ने बैठक के दौरान संपूर्ण मेडिकल कॉलेज परिसर की विद्युत वायर को मध्यप्रदेष विद्युत मण्डल, इलेक्ट्रिक एण्ड मैंटेनेंस के अधिकारी, अधीक्षक बीएमसी को निर्देष दिए कि एक सप्ताह के भीतर परीक्षण करें एवं परीक्षण के उपरांत जहां-जहां लाईन खराब पाई जाती है, उसको तत्काल प्रभाव से बदलवाएं।


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे



ट्वीटर  फॉलो करें

@weYljxbV9kkvq5ZB



वेबसाईट


ऑपरेषन थियेटर, आईसीयू, एसएनसीयू में लगाएं इनवर्टर एवं यूपीएस

कमिष्नर श्री शुक्ला ने विद्युत आपूर्ति निर्बाध रूप से संचालित होने के लिए तत्काल प्रभाव से बीएमसी में बैठक आयोजित कर बीएमसी डीन डा. आरएस वर्मा को निर्देष दिए कि एक सप्ताह के अंदर बीएमसी के समस्त 11 ऑपरेषन थियटरों, आईसीयू, कोविड आईसीयू, एसएनसीयू सहित अन्य आवष्यक विभागों में इनवर्टर एवं यूपीएस लगाए जाएं। उन्होंने यह भी निर्देष दिए कि बीएमसी में लगाए गए तीनों जनरेटरों को ऑटो-मोड पर रखा जाए एवं जनरेटरों को ऑपरेट करने के लिए चौबीसों घंटों ऑपरेटरों की व्यवस्था सुनिष्चित की जाए।                                              
17 लाख से अधिक की राषि से डाली जाएगी अतिरिक्त केबल लाईन

कमिष्नर श्री शुक्ला ने विद्युत आपूर्ति निर्बाध रूप से संचालित होने के लिए तत्काल प्रभाव से बीएमसी स्थित विद्युत सब-स्टेषन से एक अतिरिक्त केबल लाईन डाली जाए। इसके लिए उन्होंने बैठक में 17 लाख से अधिक की राषि का भुगतान विद्युत मण्डल को किया और आज से ही कार्य प्रारंभ करने के निर्देष दिए।
बायो-मेडिकल इंजीनियर की भर्ती की जाए
कमिष्नर श्री शुक्ला ने विद्युत आपूर्ति निर्बाध रूप से संचालित होने के लिए तत्काल प्रभाव से बीएमसी में बैठक आयोजित कर बीएमसी डीन डा. आरएस वर्मा को निर्देष दिए कि एक सप्ताह के अंदर  बायो-मेडिकल इंजीनियर की भर्ती की जाए। उन्होंने निर्देष दिए कि भर्ती के समय यह विषेष रूप से ध्यान रखा जाए कि चयनित इंजीनियर को कितने वर्ष का अनुभव प्राप्त है।
बॉडी केबिनेट बनाएं
कमिष्नर श्री शुक्ला ने बीएमसी में समीक्षा करते हुए निर्देष दिए कि बीएमसी की मर्चुरी में बॉडी केबिनेट को अत्याधुनिक तकनीक से तैयार रखा जाए। जिससे मर्चुरी में रखे मृत शरीर को खराब होने से बचाया जा सके।

बीएमसी का किया निरीक्षण, दिए आवष्यक निर्देष

संभागायुक्त ने बुन्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज के एसएनसीयू, आईसीयू, ऑपरेषन थियेटर, जनरेटर कक्ष, फायर सुरक्षा कक्ष सहित अन्य विभागों का सूक्ष्मता से निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान नगर निगम कमिष्नर श्री आरपी अहिरवार, बीएमसी डीन डा. आरएस वर्मा, अधीक्षक डा. राजेष जैन, उपायुक्त डा0 पीके खरे सहित पीडब्ल्यूडी, इलेक्ट्रीक एण्ड मैंटेनेंस के अधिकारी एवं डाक्टर्स मौजूद थे।
संभागायुक्त श्री मुकेष शुक्ला ने बीएमसी के निरीक्षण के दौरान एसएनसीयू वार्ड का निरीक्षण के दौरान निर्देष दिए कि यहां भर्ती होने वाले नवजात षिषुओं के लिए हर संभव अत्याधुनिक उपकरणों को संधारित किया जाए। साथ ही यहां लगाए गए विद्युत उपकरणों को प्रतिदिन मॉनीटरिंग की जावे। उन्होंने गत दिवस हुई हाई बोल्टेज की घटना की जानकारी डा. आषीष जैन से लेते हुए निर्देष दिए कि इस वार्ड में विद्युत संबंधी व्यवस्था को सुचारू रूप से संधारित करें। उन्होंने आईसीयू, ऑपरेषन थियेटर, जनरेटर कक्ष, फायर सुरक्षा कक्ष सहित अन्य विभागों के निरीक्षण के दौरान आगजनी के पष्चात फायर सुरक्षा के इंतजाम को भी देखा ।


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें


SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive