रविवार, 20 मार्च 2022

आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की हडताल का 14 वाँ दिन , विभाग का नोटिस बेअसर, अब आंदोलन होगा उग्र

आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की हडताल का 14 वाँ दिन , विभाग का नोटिस बेअसर, अब आंदोलन होगा उग्र 

सागर । आंगनबाडी कार्यकर्ताओ/सहायिकाओं की निरंतर 14 दिनों से जारी हडताल पर बैठी आंगनबाडी कार्यकर्ताओं ने जनप्रतिनिधियों पर उपेक्षा का आरोप लगाते हुए उन्हें जमकर कोसा। उधर  महिला एवं बल विकास विभाग ने आंदोलनकर्ताओं को सेवा समाप्ति की चेतावनी सम्बन्धी नोटिस भी जारी किए है। लेकिन आंदोलन पर कोई असर नही है। 
संघ की संभागीय अध्यक्ष श्रीमती लीला शर्मा ने कहा कि हमारी कार्यकर्ताएं निरंतर 14 दिनो से तप्ती धूप में अपने अधिकारों की लडाई को लड रही है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि सागर में तीन मंत्री, विधायक, जो इन आंदोलनरत आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए कहा कि हम पिछले 14 दिनों से शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन कर रहे थे। अब हमारा आंदोलन उग्र रूप लेगा जिसमें तीनों मंत्रियों और विधायकों के पुतले दहन किए जाएगे। अब हम आर-पार की लडाई लडने के मूड में आ चुके है। अंजाम जो भी हो हम इन जनप्रतिनिधियों को अब नहीं बक्सेगे।




 आंदोलन में शिवसेना उपराज्य प्रमुख पप्पू तिवारी, शिवसेना संगठन प्रमुख हेमराज आलू, ममता तिवारी, लक्ष्मी चौरसिया, खुशबू केशरवानी, कमला पटैल, किरन तिवारी, सविता रोहित, माया पाठक, अजरा बी, शेहनाज बानों, प्रतिभा, सोमिता, सियाबाई, चंदा, कमला, जयश्री, मीना, सोनिया, राजश्री दुबे, माधवी, ऋतु, उमा अहिरवार, अखीला वानो, कला लोधी, जाहिदा खान, कमला रजक, वर्षा रजक, गीता पटैरिया, स्वर्णलता मिश्रा, निक्की केशरवानी, किरण सेन, नीता, अनीता पटैल, सबीता उपाध्याय, उर्मिला कोरी, पुष्पा अहिरवार, रोशनी कोरी, अजहरी, परबीन, इसरत, शहनाज बानों, शिल्पी कोरी सहित सैकडों की संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थें।


0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense