SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

बुधवार, 16 सितंबर 2020

सागर: मनरेगा अंतर्गत बन रहे 33 गौ-शाला भवन, महिला समूहों को सौंपा जायेगा

सागर: मनरेगा अंतर्गत बन रहे 33 गौ-शाला भवन, महिला समूहों को सौंपा जायेगा


सागर ।  जिले में आश्रय विहीन गायों को निर्माणाधीन 33 गौशालाओं में आश्रय दिये जाने के लिए श्री दीपक सिंह, जिला कलेक्टर के मार्गदर्शन में जिला पंचायत के द्वारा तैयारी कर ली गई है। डॉ. इच्छित गढ़पाले मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत ने बताया कि राहतगढ़ विकासखण्ड के सीहोरा, झिला, जेरई, सागर के रिछावर, रेवंझा, पडरिया, शाहगढ़ के दलपतपुर, बरायठा, हीरापुर, देवरी के मूसरबावरी, रायखेड़ा, खकरिया, रहली के समनापुर कला, छिरारी, बलेह, केसली के पटनाखुर्द, पठाखुर्द रंगाझौली, निवारी खुर्द (मुहली), बण्डा के भेड़ाखास, बीना के देवल, ऐरन, लखाहार, खुरई के गढ़ौलाजागीर, बसाहरी, बारधा, मालथौन के बोबई, मालथौन, बरोदियाकला, जैसीनगर के हिन्नौद, बांसा, खमकुंआ में गौ-शाला भवन मनरेगा के अंतर्गत बनकर तैयार हो रहे हैं। इन गौ-शालाओं में निराश्रित गायों को रखा जायेगा। जहां पशु चिकित्स की समय समय पर विजिट होगी और महिला स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से इन गौ-शालाओं का संचालन किया जायेगा।
महिला समूह गौ-शालाओं में गोबर, गौमूत्र से खाद बनाकर जैविक खाद को और जैविक कीटनाश्कों को अन्य किसानों के लिए समूचित दामों में उपलब्ध करावेंगी। जिससे किसान रासायनिक खेती से मुक्ति पा सकता है। 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे

ट्वीटर  फॉलो करें
@weYljxbV9kkvq5ZB

वेबसाईट


गौ-शालाओं में पशुओं के उत्तम चारे के लिए उपलब्ध स्थान में चारागाह विकास का कार्यक्रम भी संचालित होगा, ताकि पशु ताजा चारा खा सके। आजीविका मिशन के माध्यम से गौ-शालां में गौकाष्ट बनाने वाली मशीनें लगाई जाकर ईंधन के रूप में एक उत्तम विकल्प भी लोगों को दिया जा सकेगा। गौ-शाला संचालन के माध्यम से संचालक समूह आत्म निर्भर बन सकेंगे। और गौ-शालाओं का भी उत्तम प्रबंधन हो सकेगा।
इस हेतु राहतगढ़ में शिवानी स्व. सहायता समूह, सरगम स्व. सहायता समूह, संतोषी स्व. सहायता समूह, सागर में जयमातादी समूह, जय बडादेव स्व. सहायता समूह, लक्ष्मी स्व. सहायता समूह, शाहगढ में ग्राम संगठन दलपतपुर, ग्राम संगठन बरायठा, ग्राम संगठन हीरापुर, देवरी में दुर्गा स्व. सहायता समूह, प्रतिज्ञा स्व. सहायता समूह, रहली में जय माता स्व. सहायता समूह, जय मां शारदा स्व. सहायता समूह सहित 31 समूहों का चिन्हांकन किया गया है। गौ-शाला संचालन से जुड़ी महिलाओें को गौ-शाला संचालन तकनीकी पर आजीविका मिशन और पशुपालन विभाग के समन्वयन में प्रशिक्षित किये जाने की रणनीति बना दी गई है।

---------------------------- 



तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885

-----------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें


SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive