आपदामपहर्तारं दातारं सर्वसम्पदाम्‌ । लोकाभिरामं श्रीरामं भूयो भूयो नमाम्यहम्‌ ॥ श्री रामनवमी की हार्दिक शुभकामनाएं

सोमवार, 14 सितंबर 2020

उद्यानिकी विभाग में मनरेगा व अन्य योजनाओं में भ्रष्टाचार की जाँच की माँग, पूर्व मंत्री सुरेन्द्र चौधरी ने कमिश्नर को लिखा पत्र

उद्यानिकी विभाग में मनरेगा व अन्य योजनाओं में भ्रष्टाचार की जाँच  की माँग, पूर्व मंत्री सुरेन्द्र चौधरी ने कमिश्नर को लिखा पत्र 

सागर ।  उद्यानिकी विभाग छतरपुर में वर्ष 2017-18, 2018-19 में  मनरेगा व अन्य योजनाओं में करोड़ो के हुये भ्रष्टाचार की जाँच कर दोषियों पर कार्यवाही किये जाने को लेकर मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री श्री सुरेंद्र चौधरी ने संभाग कमिश्नर श्री जे.के. जैन को पत्र लिखा है। सम्भाग कमिश्नर को लिखे पत्र में श्री चौधरी ने कहा कि उद्यानिकी विभाग छतरपुर के तत्कालीन प्रभारी सहायक संचालक उद्यान के कार्यकाल में वर्ष 2017-18, 2018-19 में  मनरेगा योजना में निजी नर्सरी से  मुनगा एवं एलोवेरा के पौधों का फर्जी कागजो में क्रय  दर्शाकर एवं फर्जी नर्सरीयो , फर्मो से  अन्य पौधे व सामग्री क्रय कर भुगतान करने में 20 करोड़ के भ्रष्टाचार की जांच मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत छतरपुर कर रहे है। किन्तु एक साल बाद भी कोई कार्यवाही नही हुई है। उन्होंने कहा कि मनरेगा योजना में लगभग एक हज़ार अनुसूचित जाति वर्ग के किसानों के साथ धोखा धड़ी की गई है। यही नही  लगभग एक हजार से अधिक अनुसूचित जाति वर्ग के किसानों के नाम से बैंक आफ इंडिया शाखा छतरपुर से प्रति कृषक 68 हज़ार रुपये धोखाधड़ी कर बैक लोन स्वीकृत कराया गया व मेसर्स कोठारी ड्रिप कम्पनी को किसानों के प्रक्षेत्र पर बिना ड्रिप लगाए सम्बंधित कम्पनी को सीधे बैंक से राशि का भुगतान करा दिया।जिस हेतु सम्बंधित बेक को सीधे ड्रिप कम्पनी को भुगतान करने की कोई स्वीकृति बैंक को प्रदान की गई। किसानों को जब लोन भुगतान का नोटिस प्राप्त हुआ तब उनको पता चला कि उनके साथ धोखाधड़ी की गई है। किसानों द्वारा इसकी शिकायत जिले के कलेक्टर से की गई जिस पर भी आज तक  कोई कार्यवाही नही हुई। 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे

ट्वीटर  फॉलो करें
@weYljxbV9kkvq5ZB

वेबसाईट


श्री चौधरी ने कहा कि  छतरपुर जिले की नर्सरीयो में शासकीय पैसा खर्च कर संचालनालय से बिना स्वीकृति प्राप्त किये प्याज व अन्य फसलो के बीजोत्पादन का कार्य किया व  मेसर्स कलश सीड कम्पनी जालना महाराष्ट्र व अन्य कम्पनियों को बेच दिया जाता रहा है। उद्यानिकी विभाग  छतरपुर के वर्तमान सहायक संचालक उद्यान  द्वारा उक्त घोटाले को पकड़ा गया। उन्होंने कहा कि उद्यानिकी विभाग छतरपुर के तत्कालीन  प्रभारी सहायक संचालक उद्यान द्वारा वर्ष 2017-18 में संचालनालय उधानिकी भोपाल में पदस्थी के दौरान नमामी देवी नर्मदा योजना के नोडल अधिकारी रहते हुए बिना टेंडर के लगभग 50 लाख पौधे निजी संस्थाओं एवं नर्सरीयो से स्वयं फर्जी सत्यापन कर गुडवत्ता हींन पौधे जिलो को सप्लाई कराये जिसकी शिकायत आज भो EOW भोपाल में प्रचलित है। श्री चौधरी ने पत्र में मांग की है कि उद्यानिकी विभाग छतरपुर के  तत्कालीन प्रभारी सहायक संचालक उद्यान जिला छतरपुर में पदस्थापना के दौरान वर्ष 2017-18, 2018-19 में  मनरेगा व अन्य योजनाओं में करोड़ो के हुए भ्रष्टाचार की उच्च स्तरीय जांच कर  कार्यवाही की जावे।अन्यथा की स्थिति में  कांग्रेस पार्टी आंदोलन को वाध्य होगी जिसका संपूर्ण उत्तरदायित्व शासन प्रशासन का होगा।

---------------------------- 



तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885

-----------------------------

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


SAGAR : ऑक्सीजन की प्रति घंटे के हिसाब से कीमत तय ,लो फ्लो ऑक्सीजन प्रति घंटे डेढ़ सौ एवं हाईफ्लो ऑक्सीजन व्हिथ वेंटीलेटर 300 रुपये

Archive