SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

शुक्रवार, 18 सितंबर 2020

भाजपा को झटका, पूर्व विधायक पारुल साहू ने थामा कांग्रेस का दामन, ★ सुरखी में होगा एक दफा फिर परिवहन मंत्री गोविंद राजपूत का मुकाबला पारुल साहू से , लेकिन दल नए होंगे

भाजपा को झटका, पूर्व विधायक पारुल साहू ने थामा कांग्रेस का दामन, 



★ सुरखी में होगा एक दफा फिर  परिवहन मंत्री गोविंद राजपूत का मुकाबला पारुल साहू से , लेकिन दल नए होंगे



@ विनोद आर्य


भोपाल / सागर। ( तीनबत्ती न्यूज़.कॉम )। एमपी में 27 सीटो के उपचुनाव के लिए राजनीतिक बिसात विछने लगी है। जिस दलबदल के चलते कमलनाथ सरकार गई। उसी फार्मूले को पूर्व सीएम कमलनाथ कई सीटों पर आजमा रहे है। कांग्रेस के घोषित 15 टिकिट कुछ इसी तरह के है। अब ताजा मामला एमपी के सबसे चर्चित सीट सुरखी का इसमे शामिल हो गया।  सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के खास सिपहसालार और राजस्व और परिवहन मंत्री गोविंद राजपुत का मुकाबला अब पूर्व विधायक पारुल साहू से होगा। पारुल ने आज भोपाल में कमलनाथ के सामने कंग्रेस की सदस्यता लेली। भाजपा यह बड़ा झटका भी माना जा रहा है। 




एमपी के जानेमाने शराब ठेकेदार और पूर्व विधायक सन्तोष साहू की बेटी और  सुरखी विधानसभा क्षेत्र की पूर्व विधायक  पारुल साहू ने कांग्रेस का दामन थाम लिया है। उन्होंने पूर्व सीएम कमलनाथ के समक्ष पार्टी की सदस्यता ली। पारुल ने 2013 में सुरखी से कांग्रेस के गोविंद राजपूत को  हराया था। पहली दफा लड़ी पारुल ने गोविंद राजपूत को 141 वोट से पराजित किया था। पिछले चुनाव में उनको पार्टी ने टिकिट नही दिया था। वही गोविंद राजपूत के भाजपा में शामिल होनी उनकी नाराजगी और बढ़ गई थी। हालांकि भाजपा ने पारुल को मनाने की भरपूर कोशिशें की। लेकिन सफलता नही मिली।




अब एक बार फिर सुरखी में राजस्व मंत्री गोविंद राजपूत का मुकाबला पारुल से होगा।फर्क इतना है कि पार्टी बदली हुई है।  पिछले कई दिनों से पारुल के कांग्रेस में जाने की चर्चाएं थी। कल गुरुवार को नगरीय विकास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा था कि  अभी तक तो भाजपा में है भविष्य का कहा नही जा सकता है। मन्त्री भूपेंद्र सिंह यह बयान दूसरे दिन आज शुक्रवार को साबित हो गया।  आज शुक्रवार को पारुल कांग्रेस में चली गयी। बहरहाल अब सुरखी में गोविंद राजपूत और पारुल साहू के बीच कड़ा मुकाबला होगा। मन्त्री गोविंद राजपूत की भाजपा में मुश्किलें अभी खत्म नही हुई है। पारुल को रोकने में असफल भाजपा के लिए अभी पूर्व प्रत्याशी राजेन्द्र सिंह मोकलपुर को मनाना बाकी है। हालांकि मन्त्री भूपेंद्र सिंह दोनो को एक साथ बैठाकर चर्चा कर चुके है। लेकिन पार्टी के बेठक और सुरखी के राजनीतिक आयोजनों से अभी तक दूरी बनी है।



तीनबत्ती न्यूज़. कॉम

के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे

https://www.facebook.com/तीनबत्ती-न्यूज़-कॉम-107825044004760/


ट्वीटर  फॉलो करें

@weYljxbV9kkvq5ZB

https://twitter.com/weYljxbV9kkvq5Z?s=08


वेबसाईट

www.teenbattinews.com






उधर सुरखी और सागर के कांग्रेसियों में इस वापसी से उत्साह बढ़ा है। लोगो का मानना है कि धन और बल में अब बराबरी का मुकाबला होगा। 
कांग्रेस की सदस्यता लेते समय पूर्व विधायक  श्रीमती पारुल साहू ने सम्बोधित करते हुए कहा कि मै आज सुरखी विधानसभा क्षेत्र की जनता की आवाज़ बनकर अहंकार और डर के खिलाफ लड़ाई लड़ रही हूं। आज मेरी घर वापसी हुई है और मैं अपने परिवार में वापस आयी हूँ , इसकी मुझे बेहद ख़ुशी है।

पारुल की सदस्यता के समय पूर्व मंत्री हर्ष यादव, अरुणोदय चौबे, नारायण प्रजापति, देवी प्रसाद दुबे, भोलेश्वर तिवारी,  कमलेश साहू, महेंद्र सिंह, रमाकांत यादव, बुन्देलसिंघ बुंदेला, पंडित महेश तिवारी सहित सागर जिले के अनेक नेता मौजूद थे। 



---------------------------- 


www.teenbattinews.com



तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------




0 comments:

एक टिप्पणी भेजें


SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive