सागर की पहचान -लाख बंजारा झील

रविवार, 13 सितंबर 2020

सागर : खेलकूद में हुए झगडे के चलते की थी नाबालिग जुड़वा भाईयो ने दो सगे भाईयो की हत्या, नदी में दिया था धक्का

सागर : खेलकूद में  हुए झगडे के चलते की थी  नाबालिग जुड़वा भाईयो ने  दो सगे भाईयो की हत्या, नदी में दिया था धक्का

@ दीपक चौरसिया


सागर। सागर जिले के देवरी थाना क्षेत्र में दो मासूम बच्चों की नदी मे लाश मिलने के मामले का पुलिस ने खुलासा कर लिया है। दरअसल खेलकूद के दौरान कि बच्चों की आपसी लड़ाई ने इस वारदात को अंजाम दिया। आरोपी नाबालिग बच्चो के बीच झगड़ा हुआ तो वे दोनों बच्चों को नदी किनारे ले गए और धक्का दे दिया। जिसके कारण डूबने से मौत हो गई। इस घटना से क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। मृतक के पिता ने मौके पर हत्या की आशंका भी जताई थी। जो पुलिस पड़ताल में सही निकली। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। 

ये है घटना

रामगढ़ बहेरिया ,मौजा पिपरिया क्षेत्र से गत 10 सितंबर को अपनी  मम्मी  दमयंती अप्रैल से 500 रूपये लेकर  महालक्ष्मी पूजन की सामग्री लेने एवं धना पिसाने के लिये 11 साल के अमन एवं 8 साल के अनुज दोनों प्रकाश पटेल के पुत्र घर से साइकिल लेकर देवरी जाने की कहकर निकले थे, लेकिन घर वापस ना आने पर परिजनों ने 11 सितंबर को देवरी पुलिस थाने में अपहरण का मामला दर्ज कराया था और उसी दिन शाम को दोनों नाबालिग मासूमों की लाश सुखचैन नदी  के मंगरा घाट में बेशरम  की झाड़ियों में फंसी हुई बरामद की गई ।


तीनबत्ती न्यूज़.कॉम
14 सितंबर से 20 सितंबर  तक का साप्ताहिक भविष्यफल
★ ज्योतिषाचार्य श्री अनिल पांडेय -


इस मामले में पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह,एडिशनल एसपी विक्रम सिंह देवरी सडीओपी पूजा शर्मा ,कार्यवाहक एसडीओपी भिनव मिश्रा के नेतृत्व में पुलिस टीम गठित की गई और दोनों बच्चों की लाश की बरामदगी के बाद उनकी हत्या किए जाने के संदेह होने पर घटनास्थल का  निरीक्षण किया गया ।दोनों के शवों का पैनल पोस्टमार्टम बीएमसी सागर कराया एफएसएल टीम द्वारा मामले की जांच की गई और साक्ष्य जुटाए गए पुलिस की जांच पड़ताल के बाद रतिराम पिता पंचू गौड़ 40 साल निवासी रामगढ़ बहेरिया के दो जुड़वा पुत्र आरोपी पाए गए हैं। पिता रतिराम गौड़ को साक्ष्य छिपाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। 

पुलिस टीआई कृपाल मार्को ने मामले का खुलासा करते हुए  बताया ने बताया कि आरोपित दोनों बच्चे नाबालिग हैं और दोनों बच्चों का मृतक बच्चों के घर आना जाना रहता था और उनके साथ खेलना कूदना भी रहता था वह आपस में लड़ते झगड़ते भी ।रहते थे ।दोनों अपचारी बालकों द्वारा अपराध बालकों को सीताफल तोड़ने के बहाने से सबसे नदी के किनारे ले गए और विवाद करने लगे और उन्हें धक्का देकर नदी के पानी में गिरा दिया जिससे अमन एवं अनुज दोनों बालकों के पानी में डूबने से मृत्यु हो गई  थी।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे

ट्वीटर  फॉलो करें
@weYljxbV9kkvq5ZB

वेबसाईट

 इस मामले में आरोपित दोनों बच्चों के पिता रतिराम द्वारा हत्या की जानकारी छुपाने मृतकों की साइकिल और  धनिया अपने घर में रखने एवं विवेचना के दौरान साक्ष्य छुपाने के आरोप में धारा 201  ताहि के तहत बनाया गया है। आरोपियों के पास साइकल धनिया का थैला  नगदी 500 बरामद किया गया है और सभी आरोपितों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है ,जिन्हें पुलिस ने आज न्यायालय में पेश किया जहां से जेल भेज दिया गया है।

इनकी रही महत्वपूर्ण भूमिका रही

टीआई कृपाल सिंह ,मार्को, महाराजपुर टीआई चंद्रजीत यादव ,रवि भूषण पाठक ,आनंद राज, दिव्य प्रकाश त्रिपाठी ,सत्यव्रत धाकड़ ,टेकसिंह धुर्वे, रामदास टेकाम वीणा विश्वकर्मा, विवेक शर्मा ,प्रधान आरक्षक बद्री पटेल, गणगौर प्रसाद आरक्षक रा केंद्र राजीव मुकेश वीरेंद्र, घनश्याम ,प्रेम जीत,रुपेश कुलवंत एवं नित्य प्रकाश की भूमिका सराहनीय रही।


---------------------------- 



तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885

-----------------------------

2 comments:


कोविड संक्रमण: कमिश्नर ने बीएमसी के चिकित्सकों की बैठक ली

Archive