रविवार, 25 अक्तूबर 2020

पोस्टल मतदान के वायरल वीडियो की हुई जांच, कलेक्टर बोले नही हुआ नियमो का उल्लंघन #सुरखी_उपचुनाव

पोस्टल मतदान के वायरल वीडियो की  हुई जांच, कलेक्टर  बोले नही हुआ नियमो का उल्लंघन


#सुरखी_उपचुनाव


★ रिटर्निंग अधिकारी ने प्रस्तुत की तथ्यात्मक रिपोर्ट , विधि सम्मत हुआ मतदान, नियमों का नही हुआ उल्लंघन

 
सागर । कलेक्टर और जिला निर्वाचन अधिकारी  दीपक सिंह ने  सुरखी विधानसभा क्षेत्र में डाक मत -पत्र से  मतदान के दौरान मतदान स्थल पर बीजेपी कार्यकर्ता के उपस्थित होने से संबंधित वीडियो वायरल होने के मामले की जांच रिटर्निंग ऑफिसर श्री रमेश पांडे से करवाई। इस संबंध में  रिटर्निंग अधिकारी द्वारा  प्रस्तुत तथ्यात्मक प्रतिवेदन में  पाया गया कि डाक मतपत्र से  मतदान की प्रक्रिया  विधि सम्मत और   नियमों के अनुसार हुई है ।  प्रक्रिया में नियमों का उल्लंघन होना नहीं पाया गया । 
कलेक्टर दीपक सिंह के मूताबिक सुरखी में करीब चार हजार ऐसे वोटरों को फार्म d दिया गया उनके आवेदनों के आधार पर 1100 मतदाता पोस्टल बैलेट के लिये सामने आए। च्युनाव आयोग के निर्देश के अनुसार मतदान प्रक्रिया चल रही है। इसके लिए 30 मतदान दल बनाये गए। मतदाता चाहे तो अपना प्रतिनिधि मदद के लिए सहायक रख सकता है। वायरल वीडियो में निर्वाचन के कर्मचारी ही थे। कहि भी प्रक्रिया का उल्लंघन नही हुआ। 

इस मामले में अधिकृत बयान के अनुसार विस्तृत जांच अनुविभागीय अधिकारी सागर , राहतगढ़ अनुविभागीय अधिकारी तथा सुरखी विधानसभा उपचुनाव के रिटर्निंग अधिकारी  द्वारा सर्व संबंधितों के कथन लिए गए तथा पूरी प्रक्रिया की जाँच कराई गई।

तीनबत्ती न्यूज़.कॉम
सुरखी उपचुनाव : पोस्टल मतदान में नियमो का उल्लंघन का वीडियो वायरल , दिग्विजयसिंह ने निर्वाचन आयोग में की गड़बड़ियों की शिकायत



इस संबंध में मतदाता श्री घासीराम के सहयोगी श्री धर्मेन्द्र पटेल द्वारा अपने कथन में बताया गया कि- मैं ग्राम रीछई का निवासी हूं। मेरे दादा श्री घासीराम कुर्मी है, जिनका मैं नाती हूं। मेरे दादाजी की उम्र 80 वर्ष से ज्यादा है। दादाजी को कम सुनाई देता है, इसलिये मैंने सहयोग करके मतदान कराया। मेरे द्वारा कोई गलत कार्य नहीं किया गया है।


देखे : पोस्टल मतदान पर कलेक्टर दीपक सिंह  का जवाब 

उपरोक्त कथनों एवं पंचनामा से यह स्पष्ट है कि मतदाता घासीराम अत्याधिक वृद्ध होने के कारण उनके साथी के रूप में पीठासीन अधिकारी द्वारा घोषणापत्र भरवाकर श्री धर्मेन्द्र पटेल को अधिकृत किया गया था। धर्मेन्द्र पटेल द्वारा इसी आधार पर बुजुर्ग मतदाता श्री घासीराम का मतदान कराया है। निर्वाचनों के संचालन नियम 1961 के नियम 40 के प्रावधानों के तहत साथी का घोषणापत्र भरवाकर मतदान कराया गया है, जो विधि सम्मत है। किसी भी नियम का उल्नघंन नहीं किया गया है।
वीडियो किसके द्वारा बनाया गया है एवं किस उददेश्य से वायरल किया गया है यह स्पष्ट नहीं है। वीडियो में शिथिलांग मतदाता, उसका साथी, मतदान हेतु नियुक्त शासकीय सेवक के अलावा अन्य कोई दृष्टिगोचर नहीं हो रहे हैं । 
 

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense