जंय श्री गणेशाय नमः

बुधवार, 18 अगस्त 2021

SAGAR: 17 घंटे रेलवे ट्रैक के पास पड़ा रहा घायल ★ एंबुलेंस के मेडिकल कर्मी दो किलोमीटर पैदल चलकर मौके पर पहुचे

 SAGAR: 17 घंटे रेलवे ट्रैक के पास पड़ा रहा घायल 
★ एंबुलेंस के मेडिकल कर्मी दो किलोमीटर पैदल चलकर मौके पर पहुचे

सागर।  भोपाल - बीना रेलवे ट्रैक के किनारे बुधवार सुबह एक घायल यात्री मिला । घटनास्थल तक एंबुलेंस के लिए रास्ता न होने के बाद मेडिकल कर्मी करीब 2 किलोमीटर पैदल चलकर घायल तक पहुंचे । इसके बाद भोपाल - बीना मेमू ट्रेन को रोका गया । फिर घायल को ट्रेन से पड़रिया रेलवे गेट तक लाया गया । यहां से एंबुलेंस के जरिए उसे अस्पताल में एडमिट कराया गया । फिलहाल , घायल यात्री की हालत खतरे से बाहर है । उसने अपना नाम नंदकिशोर पिता रामगोपाल खटीक ( 35 ) निवासी सर्वोदय चौराहा बीना बताया है । मंगलवार शाम 4 बजे चलती ट्रेन से गिरा था। नंदकिशोर ने बताया कि वह मंगलवार शाम करीब 4 बजे चलती ट्रेन से बीना के पास गिर गया था । ट्रेन से गिरने के बाद पैर में चोट लगी जिससे मैं चल नहीं पा रहा था । साथ ही घटनास्थल सुनसान होने की वजह से वहीं 17 घंटे से पड़ा रहा । सुबह  वहां से गुजर रहे ट्रैकमैन की नजर मुझपर पड़ी जिसके बाद इसकी सूचना 108 एंबुलेंस को दी गई ।
एंबुलेंस के लिए रास्ता नहीं था तो पैदल पहुंचे एंबुलेंस में मौजूद रुद्रेश सिंह पंवार ने बताया कि सूचना के बाद हम घटनास्थल की ओर रवाना हुए , लेकिन जहां घायल पड़ा था ।, वहां तक एंबुलेंस के लिए रास्ता नहीं था । इसके बाद पड़रिया गेट के पास एबुलेंस को खड़ा कर हमें पैदल ही घायल तक पहुंचना पड़ा । इसके बाद ट्रैकमैन ने कंट्रोल रूम को सूचना दी । फिर भोपाल से बीना आने वाली मेमू ट्रेन को सुबह करीब 10.15 बजे घटनास्थल पर रोका गया । ट्रेन में घायल यात्री को चढ़ाया और पड़रिया गेट तक लेकर आए । यहां से एंबुलेंस की मदद से बीना सिविल अस्पताल में घायल यात्री को भर्ती कराया गया ।पैर फैक्चर , शरीर के अन्य हिस्सों पर आई चोटें अस्पताल में इलाज कर रहे डॉक्टर ने बताया कि नंदकिशोर की हालत खतरे से बाहर है । ट्रेन से गिरने के चलते उसका पैर फ्रैक्चर हो गया है । साथ ही शरीर के अन्य हिस्सों पर चोटें आई हैं । उधर , पुलिस ने बताया कि नंदकिशोर के परिजनों को घटना की सूचना दे दी गई है । गौरव साहू 108 एंबुलेंस जिलाधिकारी ने बताया कि हमारे एम्बुलेंस कर्मी दो किलोमीटर चलकर वहां पहुचे और मेमू ट्रेन के जरिये लाये और घायल को  हॉस्पिटल में भर्ती कराया। 

1 comments:

Archive