रविवार, 13 फ़रवरी 2022

गढ़ौला जागीर उमावि बनेगी सीएम राइज स्कूल★ मंत्री भूपेन्द्र सिंह के प्रयासों से मिली सौगात

गढ़ौला जागीर उमावि बनेगी सीएम राइज स्कूल
★ मंत्री भूपेन्द्र सिंह के प्रयासों से मिली सौगात

सागर। खुरई विकासखंड की शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय गढ़ौला जागीर को अब सीएम राइज योजना के तहत सर्वसंसाधन संपन्न स्कूल के रूप में विकसित किया जाएगा। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह के प्रयासों से गढौला जागीर विद्यालय को 38 करोड़ रूपए की लागत से सीएम राइज स्कूल के अनुरूप उन्नयन करने की प्रशासकीय, तकनीकी स्वीकृति व तदानुसार समस्त शैक्षणिक एवं सहशैक्षणिक गतिविधियों को प्रारंभ करने की अनुमति जारी कर दी गई है।

स्कूल शिक्षा विभाग मंत्रालय द्वारा जारी आदेश के अनुसार गढ़ौला जागीर उच्चतर माध्यमिक विद्यालय को सीएम राइज योजना के अंतर्गत सर्वसंसाधन संपन्न विद्यालय के रूप में अधोसंरचना विकास के लिए प्रथम चरण के विद्यालयों में शामिल किया गया है। अब गढ़ौला जागीर स्कूल में 38 करोड़ रूपए तक की लागत से विस्तृत शैक्षणिक व आवासीय कवर्ड कैंपस, विशेष रूप से चयनित विशेषज्ञ शिक्षण स्टाफ, कंप्यूटर एवं विज्ञान प्रयोग शालाओं, उन्नत खेल सुविधाओं, आसपास के ग्रामों से विद्यार्थियों के आवागमन के लिए स्कूल की ओर से निःशुल्क बस सेवा जैसी विशिष्ट सुविधाओं से लैस किया जाएगा। 


     मध्य प्रदेश के छात्रों को प्री-प्राइमरी और हायर सेकेंडरी स्तर पर सीबीएसई बोर्ड और आईसीएससी जैसी शिक्षा मिल सके, इसलिए सीएम राइज स्कूलों को खोला जा रहा है। इन स्कूलों में पढ़ाने के लिए शिक्षकों की नियुक्तियां परीक्षा के जरिए होगी और इन शिक्षकों की नियुक्तियां नियमित बेसिस पर की जाएगी। सीएम राइज स्कूल संकुल के नीचे की सभी सुविधाओं के अलावा बैंकिंग काउंटर, कैफेटेरिया, क्रिएटिव थिंकिंग एरिया, जिम, लाइब्रेरी, लैब और एनसीसी की सुविधा रहेगी। ब्लॉक स्तरीय स्कूलों में संकुल स्कूलों की तमाम सुविधाओं के साथ ऑडिटोरियम और शिक्षकों के लिए आवास सुविधा, स्मार्ट क्लासरूम, ई लाइब्रेरी भी रहेगी। जिला स्तरीय स्कूलों में नीचे के तीनों स्तर की सुविधाओं के साथ स्वीमिंग पूल, डिजिटल स्टूडियो, ट्रेक एंड फील्ड की सुविधा दी जाएगी।  

     इन स्कूलों में सर्वोत्कृष्ट सर्वांगीण शिक्षण सुविधा शासन की ओर से उपलब्ध कराई जाएगी। यह निःशुल्क उत्कृष्ट शिक्षा मंहगे प्राइवेट स्कूलों की तुलना में भी बेहतर सिद्ध होगी। शिक्षा के क्षेत्र में जो आर्थिक असमानता व्याप्त है उसमें क्रमशः एकरूपता लाई जा सकेगी ताकि गरीब और ग्रामीण विद्यार्थियों को भी शिक्षा के समान अवसर प्राप्त हों। गढ़ौला जागीर उमावि का सीएम राइज विद्यालय के प्रथम चरण में चयन एक बड़ी उपलब्धि है जिसे नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह के विशेष प्रयासों से हासिल किया गया है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense