शुक्रवार, 18 फ़रवरी 2022

मप्र के वन विकास निगम मंडल के पूर्व अध्यक्ष शिवशंकर पटेरिया का भोपाल में निधन★ कीटनाशक दवा पीने के कारण किया गया था भर्ती

मप्र के वन विकास निगम मंडल के पूर्व अध्यक्ष शिवशंकर पटेरिया का भोपाल  में निधन
★ कीटनाशक दवा पीने के कारण किया गया था भर्ती

भोपाल। मध्य प्रदेश वन विकास निगम के पूर्व अध्यक्ष राज्य मंत्री दर्जा प्राप्त शिवशंकर पटेरिया का निधन हो गया है। शिवशंकर पटेरिया ने कीटनाशक पीकर आत्महत्या करने की कोशिश की थी। जिसके बाद से बंसल अस्पताल भोपाल में उनका इलाज चल रहा था। जहां उन्होंने शुक्रवार को अंतिम सांस ली है। श्री पटेरिया भाजपा में थे। पूर्व वित्तमंत्री राघवजी के सीडी कांड बनवाने में अहम भूमिका के चलते भाजपा से निलंबित कर दिया गया था। 

सागर जिले के मंडी बामोरा में 9 फरवरी को शिवशंकर पटेरिया ने कीटनाशक पिया था। प्राथमिक इलाज के लिए बीना ले जाया गया जहां से उन्हें सागर रेफर किया गया। जानकारी मिली है कि शिवशंकर पटेरिया का कनेक्शन मध्य प्रदेश के पूर्व वित्त मंत्री राघवजी भाई के स्केंडल कांड से जुड़ा हुआ है।
सुसाईड नोट हुआ था वायरल
वहीं उसी दौरान सोशल मीडिया पर उनका लिखा एक सुसाइड नोट वायरल हो रहा हुआ था। उसमें लिखा है कि वह सरकार से नहीं लड़ सकते। उन्हें झूठे मामले में फंसाकर सजा दिलाने के लिए शासन में बैठे लोग सक्रिय हैं। उनके इस घटना की जानकारी वॉट्सऐप मैसेज के माध्यम से वायरल हुई।
वहीं कथित सुसाइड नोट में लिखा कि मैं हनुमान प्रसाद द्विवेदी अजयगढ़ जिला पन्ना के कारण आत्महत्या कर रहा हूं, जो 16 साल मेरे साथ रहा और मेरा सबकुछ ठग कर ले गया। धारा 307 का केस सरकार ने इकतरफा बनवाया और शासन में बैठे लोग न्यायालय में भी मुझे सजा कराने के लिए प्रत्यक्ष सक्रिय है।
उसमें आगे लिखा था कि मैं शासन सरकार से नहीं लड़ सकता, इतना ताकतवार नहीं हूं। पिछले एक वर्ष से जो जीवन जी रहा हूं अब और नहीं जिया जाता। हर न्याय उल्टा हो रहा है। मामले में पुलिस और एफएसएल की टीम मौके पर जांच कर रही है। जांच के दौरान साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। सुसाइड नोट की जांच कराई जाएगी।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense