रविवार, 13 फ़रवरी 2022

खुरई में हुई लाठी चार्ज के घटनाक्रम के संबंध में 7 दिवस तक तथ्य प्रस्तुत कर सकते है नागरिक ★ भाजपा- कांग्रेस कार्यकर्ताओं में हुआ था टकराव



खुरई में हुई लाठी चार्ज के घटनाक्रम के संबंध में 7 दिवस तक तथ्य प्रस्तुत कर सकते है नागरिक
★ भाजपा- कांग्रेस कार्यकर्ताओं में हुआ था टकराव

सागर । सागर जिले के खुरई में 27 जनवरी  को सेल्फी पॉइंट को लेकर भाजपा-कांग्रेस कार्यकर्ता के हुए टकराव के दौरान पुलिस द्वारा किये गए लाठीचार्ज को लेकर प्रशासन ने 7 दिनों के भीतर आमजन से तथ्य मांगे है। इस विवाद में दोनों पक्षो के कार्यकर्ता घायल हुए थे। मंत्री भूपेंद्र सिंह भी घटना के दौरान पहुचे थे। 



एक आधिकारिक जानकारी के अनुसार अनुविभागीय अधिकारी एवं दण्डाधिकारी बीना द्वारा सर्व साधारण को सूचित किया गया है कि 27 जनवरी को दिन में 12 से 12ः30 बजे के मध्य तहसील खुरई मुख्यालय पर दो पक्षों के मध्य विरोध प्रदर्शन एवं ज्ञापन दिये जाने के दौरान हुई झड़प के घटनाक्रम से उपजी कानून व्यवस्था की स्थिति को नियंत्रित करने हेतु पुलिस द्वारा किये गये लाठी चार्ज के घटनाक्रम के संबंध मे जो भी व्यक्ति अपने तथ्य प्रस्तुत करना चाहते है, 7 कार्यकारी दिवस के भीतर कार्यालय अनुविभागीय अधिकारी एवं दण्डाधिकारी बीना में उपस्थित होकर प्रस्तुत कर सकते है । 

ये हुआ था 

सागर जिले के खुरई में 27 जनवरी  को सेल्फी पॉइंट को लेकर भाजपा-कांग्रेस कार्यकर्ता के हुए टकराव हुआ था। जिसमे दोनो पक्ष आपस में भिड़ गए। स्थिति को नियंत्रण में करने पुलिस को लाठीचार्ज तक करना पड़ा। पूरा इलाका छावनी में तब्दील हो गया था। वहीँ प्रदर्शन की जानकारी लगते ही कैबिनेट मंत्री और स्थानीय विधायक भूपेन्द्र सिंह मौके पर पहुंचे थे। ।इसके बाद उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए इस घटना निंदा की। 

17 जनवरी को खुरई में सेल्फी पॉइंट को तोड़ दिया गया था । जिसमें 8 लोगों पर मामला दर्ज किया गया था। जिसको लेकर कांग्रेस कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे थे। जहाँ भाजपा कार्यकर्ता भी पहुँच गए। और स्थिति बिगड़ते देख पुलिस ने लाठीचार्ज किया इस झड़प में कुछ लोगों के घायल भी हो गए। कुछ गाड़ियों में तोड़फोड़ भी हुई थी। इस मामले की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश और खुरई थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया गया था। 


0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense