मंगलवार, 15 फ़रवरी 2022

चुनाव नजदीक आते ही कमलनाथ और कांग्रेस को याद आने लगे रविदास जी० भाजपा नेताओं ने कांग्रेस की मानसिकता को बताया दोगलापन

चुनाव नजदीक आते ही कमलनाथ और कांग्रेस को याद आने लगे रविदास जी
० भाजपा नेताओं ने कांग्रेस की मानसिकता को बताया दोगलापन


सागर । प्रदेश में कांग्रेस सरकार रहते कमलनाथ ने अनुसूचित जाति वर्ग का न केवल अपमान किया बल्कि समाज के संतों को भी खुले मंच से अपमानित किया। कांग्रेस सरकार ने इस वर्ग के लिए चलाई जा रही तमाम योजनाओं को बंद कर दिया। अब चुनाव नजदीक आ रहे हैं तो कमलनाथ और कांग्रेसजन सागर में रविदास जयंती मनाने आ रहे हैं। यह सारे प्रयास कांग्रेस की दोगली मानसिकता को उजागर कर रहे हैं। 
भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के पदाधिकारियों और अन्य वरिष्ठ भाजपा नेताओं ने मंगलवार को मकरोनिया में यह बात पत्रकारों से चर्चा में कही। पत्रकार वार्ता में वरिष्ठ भाजपा नेता संतोष रोहित, जिला महामंत्री वृंदावन अहिरवार, एड.नरेंद्र अहिरवार, जिला अध्यक्ष इंदू चौधरी, पूर्व पार्षद चेतराम अहिरवार आदि मौजूद थे।



 संतोष रोहित ने कहा कि यह बड़ा सवाल है कि संत रविदास कुंभ में संतों का अपमान करने वाले कमलनाथ सागर आ रहे हैं। जब वे 15 माह तक कांग्रेस सरकार के मुखिया थे तो उन्होंने अजा वर्ग के लिए कुछ नहीं किया। जहां भाजपा ने संत रविदास के नाम पर कई योजनाओं की शुरुआत के साथ जनहित के लिए कल्याणकारी भवनों का निर्माण कराया तो कमलनाथ सरकार रविदास के नाम पर कोई योजना भी शुरू नहीं कर सकी। उल्टे जिन्हें भाजपा सरकार ने शुरू किया था, उन्हें भी बंद करा दिया। श्री रोहित ने कहा कि भाजपा ने बाबा साहब और संत रविदास की विचारधारा को अपनाया है और ऐसा किसी राजनीतिक दल ने नहीं किया। ऐसे में यह साफ है कि चुनाव को देखते हुए यह कांग्रेस का ढकोसला है और पार्टी अजा वर्ग को गुमराह और बरगलाने की कोशिश कर रही है। भाजपा ने बाबा साहब और रविदास के नाम पर कई सौगातें जनता को दी है। चाहे वह उज्जैन में अध्ययन पीठ की स्थापना हो या फिर गरीबों के लिए सामूहिक आयोजन के लिए मंगल भवन का निर्माण हो या फिर संसद के केंद्रीय कक्ष में बाबा साहब के चित्र के अनावरण की पहल। इसी तरह अंबेडकर पंचतीर्थ निर्माण और विकास, महू में अंबेडकर विवि स्थापित किया गया है। वृंदावन अहिरवार ने कहा कि कांग्रेस समाज के विभाजन की बात करती है तो भाजपा सामाजिक समरसता को बढ़ाती है। खुरई मामले में असलियत सामने है जहां कांग्रेस नेताओं ने भाजपा के अनुसूचित जाति वर्ग के पार्षदों पर जानलेवा हमला किया। अब कमलनाथ सागर में संत रविदास जयंती मनाने आ रहे हैं और दिखावा कर रहे हैं कि वे इस वर्ग के हितैषी हैं। भाजपा नेत्री इंदू चौधरी ने कहा कि कांग्रेस का दलित विरोधी चेहरा उजागर हो चुका है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense