शुक्रवार, 1 अप्रैल 2022

मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने माडल स्कूल में किया 7.77 करोड़ के छात्रावास का लोकार्पण

मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने माडल स्कूल में किया 7.77 करोड़ के छात्रावास का लोकार्पण

★ पं केसी शर्मा स्कूल में इंडोर स्टेडियम व मल्टी पर्पज हाल भी लोकार्पित हुए
खुरई। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने माडल स्कूल खुरई में 7.77 करोड़ लागत के सर्वसुविधायुक्त छात्रावास का लोकार्पण किया। इसके पूर्व मंत्री श्री सिंह ने पं केसी शर्मा स्कूल प्रांगण पहुंच कर एक करोड़ रु की लागत से बनाए गये मल्टी पर्पज हाल तथा 96.22 लाख की लागत से बनाए गये इंडोर स्टेडियम का लोकार्पण किया।_

     मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने छात्र-छात्राओं को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि दोनों छात्रावास अलग अलग बनाए गए हैं। छात्रावास में छात्रों एवं छात्राओं के लिए अलग-अलग व्यवस्थाएं की गई हैं। इंडोर स्टेडियम के रूप में विद्यार्थियों को जो सौगात मिली है उसका उपयोग करके वे पढ़ें खेलें और आगे बढ़ें। उन्होंने कहा कि पिछले कार्यकाल में ऐसे तीन इंडोर स्टेडियम विधानसभा क्षेत्र में उन्होंने स्वीकृत कराए थे। मालथौन व बांदरी में ऐसे ही इंडोर स्टेडियम बन चुके हैं,तीसरा आज लोकार्पित हुआ है। इंडोर स्टेडियम के लोकार्पण के दौरान ही उपस्थित छात्र छात्राओं की मांग पर स्टेडियम में एयरकंडीशन और बैडमिंटन के लिए वुडन फ्लोरिंग का कार्य भी मंत्री श्री सिंह ने स्वीकृत कर दिया। 
मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह जी की भाजपा सरकार लगातार इस बात का प्रयास कर रही हैं, कि हमारे देश के छात्र-छात्राएं शिक्षा के माध्यम से आगे बढ़े। उनको अच्छी शिक्षा मिले, शिक्षा के माध्यम से वो हमारे देश का भविष्य बने। इसके लिए हम लगातार प्रयास कर रहे हैं। श्री सिंह ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी और प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जी आज छात्र-छात्राओं से बर्चुअली जुड़कर परीक्षाओं के बारे में चर्चा कर रहे हैं। छात्रों को अच्छे छात्र और संस्कारित छात्र बनाने निरंतर प्रयास कर रहे हैं। हमारे देश के अंदर जो शिक्षा नीति थी, वह पुरानी शिक्षा नीति अंग्रेजों के समय की बनाई हुई थी। श्री नरेन्द्र मोदी जी के प्रधानमंत्री बनने के बाद हमारी सरकार ने देश में नई शिक्षा नीति लागू की है। इस नई शिक्षा नीति से हमारे देश के छात्र-छात्राओं का भविष्य बनेगा। 

     उन्होंने कहा कि हमारे देश के बच्चों में प्रतिभा है और आज दुनिया में जितने बड़े स्थानों पर हैं, वह अधिकांश हमारे देश के बच्चे-बच्चियां हैं। हमारे देश के उन बच्चे-बच्चियों को देश में ही आगे बढ़ने का अवसर मिले और इसके लिए अनेक निर्णय सरकार के द्वारा हो रहे हैं। मंत्री श्री सिंह ने कहा कि सबसे अच्छी पढ़ाई अगर हम कर सकते हैं तो वह छात्रावास में रहकर ही हम कर सकते हैं। हमारे यहां पहले गुरूकुल व्यवस्था थी, राजा महाराजाओं के बच्चे भी जंगलों में जाकर गुरूकुल में रहकर शिक्षा का अध्ययन करते थे। और इसलिए सबसे अच्छी शिक्षा जो होती है वह छात्रावास के माध्यम से होती है। इसलिए हम और हमारी सरकार लगातार छात्रावास बनाने का काम कर रही है। हम लोगों ने यह तय किया है कि, सभी वर्गों के छात्रावास संयुक्त रूप से बनाए जाएंगे, वर्ग के हिसाब से नहीं बनाए जाएंगे जिससे छात्र-छात्राओं में सामाजिक समरसता हो।

 मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि हमारे देश के अंदर 10 लाख डाॅक्टरों के पद और 17 लाख नर्सों के पद खाली हैं। यह पद इसलिए खाली हैं, क्योंकि पहले इतने मेडीकल कालेज नहीं बनाए गए कि बच्चे वहां पर पढ़-लिखकर डाॅक्टर बन सकें और देश के अंदर जो डाक्टरों, नर्सेस की कमी को दूर किया जा सके। मंत्री श्री सिंह ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री जी, मुख्यमंत्री जी और भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने अब ये तय किया है कि, हमारे देश के हर जिले में मेडीकल कालेज खोला जाएगा, नर्सिंग कालेज, इंजीनियरिंग कालेज, आईटीआई कालेज खोले जाएंगे। 
श्री सिंह ने कहा कि इनके अलावा टूरिज्म, एविएशन सहित ऐसे कई कोर्स है जिन कोर्स को पढ़ने से सीधा रोजगार मिलेगा। पर यह इतने मंहगे हैं कि हमारे यहां के बच्चे पढ़ नहीं पाते थे। इसलिए सरकार ने तय किया है कि, हमारे जा छात्र-छात्राएं हैं, जो मेडिकल कालेज में जाएंगे, आईआईटी में जाएंगे, आईआईएम में जाएंगे, जो भी उच्च शिक्षा में जाएंगे चाहे वह मेडिकल हो उसकी सारी फीस अब मध्यप्रदेश की सरकार जमा करेगी। इसलिए अब आपकों चिंता करने की जरूरत नहीं है कि, आप पढ़ेंगे तो आपकी आगे की शिक्षा का क्या होगा। वह पूरा खर्चा सरकार उठाएगी। 

     मंत्री श्री सिंह ने कहा कि शासकीय मेडीकल कालेजों में भी जो फीस लगती थी। वह भी भारत सरकार ने आधी कर दी है। तो उसका भी बच्चों पर या उनके पेरेंट्स पर उसका भी भार नहीं आएगा। सरकार ने यह तय किया है, चाहे मेडीकल की पढ़ाई हो या इंजीनियरिंग की पढ़ाई हो उसको हम हिन्दी मीडियम में करेंगें। हमारे छात्र जो अंग्रेजी भाषा के कारण पिछड़ जाते थे और इस साल से इंदौर के एक मेडीकल कालेज में हिन्दी मीडियम से मेडिकल की पढ़ाई शुरू हो जाएगी। 

     मंत्री श्री सिंह ने कहा कि हम लोगों ने मेधावी छात्र योजना के माध्यम से 85 प्रतिशत से ज्यादा अंक लाने वाले छात्रों को हमारी सरकार लेपटाप देती है। शिक्षा के नए-नए कोर्स शुरू हों इसलिए हमने खुरई में कृषि महाविद्यालय प्रारंभ कराया। कृषि महाविद्यालय के माध्यम से कृषि के लिए में हमारे बच्चे आगे बढ़ सकें। खुरई के शासकीय महाविद्यालय में भी हम नए विषय ला रहे हैं। जिससे एमएससी, बीएससी सहित बांकी विषयों की शिक्षा मिल सके। पालिटेक्निक काॅलेज में भी हम नए नए विषय शुरू कर रहे हैं, पेट्रोकेमिकल विषय प्रारंभ किया है। जिससे हमारे क्षेत्र के बच्चे बीना रिफायनरी जा सकें, वहां निकल सकें। हमारे क्षेत्र के बच्चे-बच्चियां खेलकूद के क्षेत्र में भी आगे बढ़ें, संगीत के क्षेत्र में भी आगे बढ़ें, हर क्षेत्र में स्कोप है, अगर आज योग की बात करें तो पूरी दुनिया में लाखों योग शिक्षकों के पद खाली हैं। मंत्री श्री सिंह ने बताया कि मध्यप्रदेश पुलिस भर्ती में 33 प्रतिशत पद बच्चियों के लिए आरक्षित होंगे। 

     मंत्री श्री सिंह ने कार्यक्रम में सांस्कृतिक प्रस्तुति देने वाली बच्चियों को पांच-पांच हजार रूपए पुरस्कार स्वरूप देने की घोषणा की। मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने खुरई में बने इंडोर स्टेडियम की सुविधाओं की जानकारी दी। श्री सिंह ने कहा कि, एक स्टेडियम हम और बना रहे हैं, जिसमें सभी प्रकार के खेलों की सुविधाएं होंगी। मंत्री श्री सिंह ने डोहेला महोत्सव की चर्चा करते हुए कहा कि, इस साल डोहेला महोत्सव चार दिन का हुआ था, अगले साल हम 5 दिन डोहेला महोत्सव का आयोजन करेंगे। 

       आज खुरई के अंदर चारों तरफ विकास के कार्य हो रहे हैं। स्टेडियम, स्ट्रीट लाईट, हाईमास्क लाईट सहित ऐसे अनेक कार्य हो रहे हैं। मंत्री श्री सिंह ने कहा कि, एक सीएम राईज स्कूल 38 करोड़ की लागत से बनेगा। जिसमें कम्प्यूटर लेब, शिक्षकों का केम्पस, सहित आधुनिक सुविधाएं होंगी। सीएम राइज स्कूल में आसपास के 15 किलोमीटर के बच्चे-बच्चियों को निःशुल्क बस से स्कूल लाया जाएगा। 

     मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि होशंगाबाद के एक बच्चे विकास ने ओलंपिक में भाग लिया था। उसको हमारी भाजपा सरकार ने डायरेक्टर डीएसपी बनाया है। मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने बताया कि, अभी पिछले दिनों अहिरवार समाज की एक बच्ची जिसके दोनों पैर खराब थे, वह बच्ची पांच किलोमीटर दूर हांथ से चलाने वाली साईकिल लेकर स्कूल जाती थी। वह बच्ची हमारे पास आई, उसको हमने नब्बे हजार की तीन पहिए की स्कूटी खरीदकर दी। अब वह बच्ची खुशी-खुशी स्कूल जाती है और अपना भविष्य बना रही है।

      मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने छात्र-छात्राओं के उज्जवल भविष्य की कामना की। मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि, पैसे से आप कुछ भी खरीद सकते हैं, मगर शिक्षा आपके परिश्रम और आपके टेलेंट से आती है। इसलिए मन लगाकर पढ़ाई करें। छात्रावास के लोकार्पण कार्यक्रम में खुरई के गणमान्य नागरिक, शिक्षकगण, छात्र-छात्राएं, पत्रकार बंधु, वरिष्ठ भाजपा नेता एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे। 


0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense