शुक्रवार, 1 अप्रैल 2022

रेलवे वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक 20 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ाया

 रेलवे वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक 20 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ाया 

कोटा. राजस्थान में भरतपुर के भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने गुरुवार की रात बड़ी कार्यवाही को अंजाम देते हुए पश्चिम मध्य रेलवे के कोटा मंडल के वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक (सीनियर डीसीएम) अजय पाल को 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है.

जानकारी के अनुसार अजय पाल ने यह रिश्वत अपने कर्मचारी की चार्जशीट माफ करने के एवज में ली थी. मामले में एसीबी ने एक दलाल को भी गिरफ्तार किया है. एसीबी की यह कार्रवाई तड़के 3 बजे तक चलती रही. अजय पाल को आज शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा.

MP : शराबबंदी : सागर ,विदिशा और रीवा आदि में शराब दुकानों में तोड़फोड़ की खबरे★ पूर्व सीएम उमा भारती ने फिर दिखाए तेवर , ट्वीट किया...महिला- बेटियों की इज्जत एवं जान पर खेलकर हम राजस्व कमा रहे हैं इस पर शर्मिंदा भी हूं ★ BJP विधायक के पी त्रिपाठी ने किया शराब दुकान पर प्रदर्शन

एसीबी ने बताया कि भरतपुर रेलवे स्टेशन पर खानपान निरीक्षक पद पर कार्यरत हेमराज मीणा ने मंगलवार को शिकायत दी थी कि अजय पाल ने उसे 16 मार्च को एक चार्जशीट थमाई थी. इस चार्जशीट का जवाब उसने 28 मार्च को दे दिया था, लेकिन इसके बाद हिंडोन स्टेशन पर कार्यरत एक खानपान वेंडर महेश कुमार शर्मा ने फोन कर उससे कहा कि वह अजय पाल से उसकी चार्जशीट माफ करवा देगा. लेकिन इसके लिए उसे 20 हजार रुपए देने होंगे. हेमराज इस पर राजी हो गया. लेकिन इसके बाद हेमराज ने मामले की शिकायत भरतपुर एसीबी से कर दी.

वनरक्षक 10 हजार की रिश्वत लेते पकड़ाया,लोकायुक्त पुलिस सागर की कार्यवाही

SAGAR : किराए पर ट्रैक्टर लेकर धोखाधड़ी कर बेचने वाला गिरोह पकड़ाया ★ कुल 17 ट्रेक्टर और एक लोडिंग वाहन जब्त , कीमत डेढ़ करोड़ रुपये

शिकायत की पुष्टि के बाद एसीबी ने अजय पाल को रंगे हाथों पकडऩे का प्लान बनाया. प्लान के मुताबिक हेमराज महेश को लेकर कोटा डीआरएम ऑफिस पहुंचा. यहां शाम करीब 7:30 बजे महेश ने हेमराज से पैसे लेकर ऑफिस में ही अजय पाल को सौंप दिए. महेश के अजय पाल को पैसे देते ही हेमराज ने एसीबी को इशारा कर दिया. इशारा मिलते ही मौके की तलाश में खड़े एसीबी के अधिकारी धड़धड़ते हुए अजय के चेंबर में घुस गए. यहां तलाशी में एसीबी को अजय की टेबल की दराज से रिश्वत के 20 हजार रुपए बरामद हो गए. रकम बरामद होते ही एसीबी ने मौके पर ही अजय पाल और महेश को गिरफ्तार कर लिया.


अधिकारियों ने बताया कि यह पूरी कार्रवाई तड़के करीब 3 बजे तक चलती रही. रात करीब 11:30 बजे तक तो अजय पाल के चेंबर में ही यह कार्रवाई चलती रही. इसके बाद अजय की घर की तलाशी ली गई. घर पर यह कार्यवाही रात करीब 2:30 बजे तक चलती रही. घर की तलाशी में एसीबी को अजय पाल के घर से नोटों के कई बंडल मिले हैं. अधिकतर नोट लिफाफों में रखे हुए थे. ऐसे में एसीबी को शक है कि यह राशि भी रिश्वत की हो सकती है. इसके अलावा अजय के घर से सोने-चांदी की ज्वेलरी भी मिली है. कुछ काले बैग में भी सामान मिला है. इसकी जांच की जा रही है

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense