बुधवार, 30 मार्च 2022

SAGAR : जहरीली शराब से नहीं हुई मौत, प्रशासन का दावा★ पूर्व सीएम कमलनाथ ने की जांच की मांग , कहा पता नही कब तक शराब माफिया प्रदेश में लोगों की जान लेते रहेंगे★ कलेक्टर ने बनाई विशेष जांच कनेटी

SAGAR : जहरीली शराब से नहीं हुई मौत, प्रशासन का दावा
★ पूर्व सीएम कमलनाथ ने की जांच की मांग , कहा पता नही कब तक शराब माफिया प्रदेश में लोगों की जान लेते रहेंगे
★ कलेक्टर ने बनाई विशेष जांच कनेटी

सागर । सागर जिले में जहरीली शराब से मौत और अवैध शराब के कारोबार की खबरों से  हड़कम्प मचा हुआ है।  दैनिक भास्कर अखबार ने आज  पिछले दो महीने में मकरोनिया, बामोरा और कुछ इलाकों में जहरीली शराब  से 10 लोगो की मौत का दावा किया। हालांकि जहरीली शराब से मौत की पुष्टि नही हुई है। लेकिन अवैध शराब के कारोबार नियंत्रण में नही है। पुलिस भी रोजाना अवैध शराब पकड़ रही है। लेकिन शराब लाबी के कारण असली कारोबारियों तक पुलिस नही पहुच पाती। उधर इस मामले ने तूल पकड़ लिया है। पूर्व सीएम कमालनाथ ने ट्वीट कर पूरे मामले की जांच और  दोषियों पर कार्यवाही की मांग की है। 




प्रशासन ने किया दावा, नही हुई मौतें

आज प्रशासन ने प्रेस नोट जारी किया और सोशल मीडिया पर इसे जारी किया। जिसके अनुसार जहरीली शराब से सागर जिले में कहीं भी किसी भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई है। इस प्रकार की कोई भी शिकायत किसी भी थाने में या आबकारी विभाग में दर्ज़ नहीं की गई है।
कलेक्टर दीपक आर्य ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर अवैध रूप से शराब बिक्री, परिवहन और वाहन राजसात की कार्रवाई लगातार की जा रही है।  कुछ समाचार पत्रों में भ्रामक ख़बर प्रकाशित की गई है जिसमें यह उल्लेख किया गया है, कि जहरीली शराब पीने से हुई है मौत..। 
उक्त खबर के सम्बंध में कलेक्टर श्री आर्य ने बताया कि जहां भी अमानक शराब विक्रय की सूचना प्राप्त होती है, तत्काल कार्रवाई की जाती है। अवैध रूप से शराब परिवहन करने पर कुल 61 वाहनों पर कार्रवाई  की गई है एवं 50 से अधिक वाहनों की राजसात की कार्रवाई प्रचलन में है।



इसी तारतम्य में जिला चिकित्सालय की सिविल सर्जन डॉक्टर ज्योति चौहान ने जानकारी दी कि, विगत तीन माह में 169 पोस्टमार्टम हुए हैं , इन पोस्टमार्टम में 
ज़हरीली शराब पीने से मृत्यु होने के साक्ष्य प्राप्त नहीं हुए हैं। उन्होंने यह भी बताया कि मर्चुरी से प्राप्त जानकारी के अनुसार अधिकतम पोस्टमार्टम दुर्घटना से मृत हुए व्यक्तियों के हैं।
पुलिस अधीक्षक  तरुण नायक ने बताया कि, विगत  एक वर्ष में अवैध रूप से शराब परिवहन एवं बिक्री पर 32 सौ से अधिक कार्रवाई की गई है। उन्होंने बताया कि केवल मार्च माह में आबकारी अधिनियम के तहत 400 से अधिक कार्यवाही की गई है।
कलेक्टर ने बताया कि, शासन के निर्देशानुसार शराब दुकानों की नीलामी की जा रही है और जिला आबकारी विभाग द्वारा अवैध रूप से बिक रही शराब बिक्री को रोकने की पुलिस प्रशासन के साथ लगातार कार्रवाई की जा रही है। समाचार पत्र में मकरोनिया, बमोरा ,परसोरिया में 60 दिन में 10 व्यक्तियों के द्वारा शराब पीने से दम तोड़ने का समाचार प्रकाशित हुआ है, जो कि पूर्णत: निराधार, भ्रामक एवं तथ्यहीन है।
तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट



विशेष दल करेगा जांच कलेक्टर ने चार सदस्यीय टीम की गठित
एक समाचार पत्र  में प्रकाशित किए गए समाचार कि रहस्यमयी मौतों का सच, 60 दिवस में हुई 10 लोगों की मृत्यु.... की विस्तृत जांच करने तथा मृत्यु के कारणों के संबंध में स्पष्ट अभिमत प्रस्तुत करने के लिए कलेक्टर श्री दीपक आर्य ने विशेष दल गठित किया है। इस चार सदस्यीय दल में अपर कलेक्टर एवं अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी श्री अखिलेश जैन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री विक्रम सिंह कुशवाह, सहायक आयुक्त आबकारी श्री सी पी साल्वे एवं सिविल सर्जन डॉ ज्योति चौहान शामिल हैं।उक्त दल 48 घंटे के अंदर मृत्यु के कारणों के संबंध में स्पष्ट अभिमत प्रस्तुत करेगा।
पूर्व 



पूर्व सीएम कमलनाथ ने लगाए आरोप किया ट्वीट



0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense