शनिवार, 9 अप्रैल 2022

आर्ट्स एवं कॉमर्स कॉलेज में परीक्षा के दौरान एक दर्जन से अधिक नकलची छात्र पकड़े गए

आर्ट्स एवं कॉमर्स कॉलेज में परीक्षा के दौरान एक दर्जन से अधिक नकलची छात्र  पकड़े गए
सागर ।   शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय में  छत्रसाल बुंदेलखंड विश्वविद्यालय की स्नातक स्तर की परीक्षाएं शांतिपूर्वक चल रही हैं। परीक्षा में कड़ी सख्ती और चौकसी के चलते शनिवार को एक ही दिन में 06 से 
 नकलची पकड़े गए हैं। इसके पहले भी अलग-अलग दिनों में अब तक कुल 14 परीक्षार्थियों का यूएफएम केस बनाकर विवि को भेजे गए है।
                  महाराजा छत्रसाल विश्वविद्यालय की स्नातक स्तर के बीए बीएससी एवं बीकॉम द्वितीय तथा तृतीय वर्ष के रेगुलर विद्यार्थियों की वार्षिक परीक्षाएं पिछले दिनों से शुरू हुई है। शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय के परीक्षा केंद्र में परीक्षा केंद्र अध्यक्ष एवं प्राचार्य डॉ जी एस रोहित के निर्देशन में दो पारियों में परीक्षाओं का संचालन किया जा रहा है। इन परीक्षाओं में सुबह की पारी में केंद्र अधीक्षक डॉ विनय शर्मा तथा सहायक अधीक्षक डॉ इमरान सिद्दीकी एवं डॉ प्रतिभा जैन द्वारा परीक्षा कार्य में समन्वय किया जा रहा है। सांय कालीन परीक्षा के संचालन में डॉ मधु स्थापक को केंद्र अधीक्षक तथा डॉ संगीता मुखर्जी व डॉ अमर कुमार जैन सहायक अधीक्षक बनाए गए हैं।



                  स्नातक स्तर की बीएससी एवं बीकॉम द्वितीय व तृतीय वर्ष की परीक्षाएं सुबह की पाली में तथा बीए द्वितीय एवं तृतीय वर्ष की परीक्षाएं दोपहर की पाली में संचालित की जा रही है। महाविद्यालय की परीक्षा आयोजन समिति के सदस्य डॉ संदीप सबलोक ने बताया कि परीक्षा भवन में प्रवेश के लिए परीक्षार्थियों को क्लिपपेड (तख्ती)  पर्स मोबाइल बैग एवं अन्य किसी भी तरह के कागज पुर्जे को कड़े रूप में प्रतिबंधित किया गया है। परीक्षा भवन में प्रवेश के पहले प्रत्येक परीक्षार्थी को कड़ी जांच एवं परीक्षण के दौर से गुजरना होता है। इसके बावजूद भी कतिपय परीक्षार्थी चालाकी से नकल सामग्री को छिपाकर अंदर ले जाने में सफल तो हो जाते हैं लेकिन वीक्षकों की कड़ी निगरानी में नकल करते हुए नजर आते ही उन्हें तुरंत दबोच लिया जाता है और यूएफएम के केस बनाए जा रहे हैं। सुबह की पाली में बीएससी एवं बीकॉम के 13 तथा दोपहर की पाली में 1 परीक्षार्थि को नकल करते हुए पकड़ा जा चुका है और उनके यूएफएम के केस बनाकर विश्वविद्यालय को भेजे गए हैं।
                  केंद्र अध्यक्ष एवं प्राचार्य डॉ जी एस रोहित ने परीक्षार्थियों से अपेक्षा व्यक्त की है कि वे परीक्षा भवन में प्रवेश करते समय किसी भी तरह की प्रतिबंधित सामग्री जिनमें क्लिप पैड (तख्ती) पर्स मोबाइल तथा किसी भी तरह की लिखित या छपी हुई सामग्री को लेकर नहीं आएं अन्यथा उनके विरुद्ध परीक्षा अधिनियम के तहत कार्यवाही कर प्रकरण बनाए जाएंगे।
   

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense