शनिवार, 14 दिसंबर 2019

तलाक का मामला निपटा तो ,दूल्हा पहुचा अदालत में बारात लेकर,जज ने दिया वर बधू को आशीर्वाद

तलाक का मामला निपटा तो ,दूल्हा पहुचा अदालत में बारात लेकर,जज ने दिया वर बधू को आशीर्वाद
देवास ।शादी के तरीकों  की ढेरों अनोखी कहानियां है । लेकिन एमपी के देवास की कहानी बिल्कुल अलग है। यहां नेशनल लोक अदालत के दौरान  दूल्हा घोड़े पर बैठकर बाजे गाजे के साथ बारात लेकर पहुचा और बधू को लेकर आया। यही नही जज गंगा चरण दुबे से आशीर्वाद भी लिया। दरअसल कुटुंब न्यायालय में एक तलाक का मामल चल रहा था। लेकिन अदालत की समझाईश के बाद तस्वीर बदल गयी। फिर नेशनल लोक अदालत परिसर में शादी का नजारा देखने मिला। वकीलों ने। स्वागत भी किया। जज गंगाचरण दुबे के सामने वरमाला पहनाई गई।
कई वर्षों से अलग अलग रह रहे थे पवन -करुणा
  देवास में पारिवारिक विवाद के कारण कई वर्षों से अलग रह रहे पवन कुमावत और करुणा कुमावत के बीच तलाक का मुकदमा लंबित था।
जानकारी के मुताबिक पवन कुमावत और करुणा का 2008 अप्रैल में विवाह हुआ था। दोनों के तीन बच्चे हैं। इसके बाद पति-पत्नी के बीच विवाद होने लगा। पति पवन का कहना था कि वह सिक्युरिटी गार्ड की नौकरी करता है और पत्नी को सिलाई का कोर्स कराया।
 इनके तीन बच्चे भी है।  पवन का आरोप था कि उसकी पत्नी करुणा अपनी सास के साथ अच्छा व्यवहार नहीं करती है। जबकि करुणा का कहना था कि उसका पति कुछ अन्य औरतों से अवैध संबंध रखता है इसी कारण दोनों के बीच विवाद बढ़ता गया और तलाक की नौबत आ गई। कुटुंब न्यायालय में  प्रकरण भेजा गया जहां  न्यायाधीश गंगाचरण दुबे ने पति पत्नी को समझाइश दी। दोनो पक्षो के वकीलो ने भी इसमे सहयोग किया। जिसके चलते  दोनो को साथ में रहने के लिए राजी किया। पवन और करुणा के बीच समझौता करार हुआ।
बेंड बाजो के साथ बारात 
दोनो के बीच सहमति बनी तो पवन कुमावत  बकायदा बारात लेकर बारातियों के साथ लेकर लोक अदालत में  पहुचा।  जिसमें उसके दो बेटे  और एक बेटी भी शामिल थी । साथ में  बैंड बाजे भी। अदालत परिसर में  विद्वान न्यायाधीश गंगाचरण दुबे ने बारात का जोरदार स्वागत किया और न्यायालय के कक्ष में ही पवन और करुणा ने एक दूसरे को वरमाला पहनाकर साथ रहने का वादा किया।वर वधु ने जज के पैर छूकर आशीर्वाद लिया।  इस अनोखे नजारे को देखने के लिए न्यायालय भवन में बड़ी संख्या में लोग पहुंचे और सभी ने पुष्प वर्षा कर विवाह करने वाली दंपति को आशीर्वाद दिए। बाकायदा शादी की वीडियो रिकार्डिंग भी हुई।


0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive