रानगिर की माँ हरसिद्धि माई

शनिवार, 1 मई 2021

कोरोना काल मे बड़ी मदद , 83 नए इंटर्न डाक्टर मिले , बीएमसी के 2016 के बेच छात्र अब ड्यूटी पर ★ परिवीक्षा अवधि में यह सेवाकाल जुड़वाया जाएगा : मन्त्री गोविंद राजपूत

कोरोना काल मे बड़ी मदद , 83 नए इंटर्न डाक्टर मिले , बीएमसी के 2016 के बेच छात्र अब ड्यूटी पर
★ परिवीक्षा अवधि में यह सेवाकाल  जुड़वाया जाएगा : मन्त्री गोविंद राजपूत

सागर । सागर कोरोना संक्रमण अदृश्य  युद्ध है इसे अपने प्रयासों से हर हाल में जीतना होगा एवं भगवान का दूसरा रुप होते हैं डॉक्टर इस कहावत को अपने प्रयासों से मूर्त रूप दें एवं अपनी सेवाओं के माध्यम से सागर जिले को कोरोना मुक्त करें ।उक्त विचार राजस्व एवं परिवहन मंत्री  गोविंद सिंह राजपूत ने बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस की पढ़ाई कर चुके  83 डाक्टरों की कोरोना संक्रमण की बीमारी को दूर करने में अपनी सहभागिता लेने के अवसर पर व्यक्त किए। 
शासकीय बुन्देलखण्ड मेडिकल कालेज साग़र से एम बी बी एस की डिग्री पूर्ण होने पर इंटर्नशिप पर आज सागर बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज के  2016 के बेच के 83 डॉक्टर्स ने अपनी सेवा देना आज से ही प्रारंभ की।आज इनको कार्य की शपथ दिलाई गई। 
मंत्री श्री राजपूत ने डॉक्टरों की समस्याओं के बारे में कहा कि उनकी परिवीक्षा अवधि में यह सेवाकाल  को जोड़ने के लिए शिवराज सिंह चौहान से बात कर उनकी परिवीक्षा अवधि में यह सेवाकाल भी जुड़वाया जाएगा।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे

ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट


इस अवसर पर विधायक श्री शैलेंद्र जैन ने कहा आप पूरी ईमानदारी एवं निश्चिंता के साथ इलाज करें बाकी का कार्य हम एवं हमारी सरकार पर छोड़ दें। 
संभागायुक्त श्री मुकेश शुक्ला ने कहा कि आज पूरा बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज बड़ा सौभाग्य महसूस कर रहा है कि इतने बड़े संकट के समय आप जैसे योग्य ईमानदार डॉ इस कॉलेज को मिल रहे हैं और पूरी ईमानदारी तन्मयता के साथ कोरोना संक्रमण का इलाज करेंगे। श्री शुक्ला ने कहा कि आप सभी की सेवा से हमारा सागर कोरोना मुक्त होगा। बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ आर एस वर्मा ,नगर निगम उपायुक्त डॉ प्रणय कमल खरे ,सीएससी श्री रामबरन प्रजापति ,थाना प्रभारी श्रीमती उपमा सिंह, डॉक्टर एस के पिप्पल ,डॉ मनीष जैन ,डॉ उमेश पटेल  सहित सहित अन्य डॉक्टर मौजूद थे।

मदद मिलेगी बीएमसी को

एमबीबीएस 2016 बैच के 83 स्टूडेंट की फाइनल ईयर की  परीक्षा पूर्ण हो चुकी है  किंतु रिजल्ट नहीं आया है। लेकिन कोविड-19 महामारी के चलते चिकित्सकों की कमी को देखते हुए इनकी पदस्थापना कोविड- वार्डों में की जा रही है मरीजों की फाइल कंप्लीट करना और अन्य काम  इनको करना होगा ताकि कार्य की अधिकता से जूझ रहे चिकित्सकों को सहायता मिले एवं वह अपना पूरा ध्यान मरीजों के उपचार पर केंद्रित कर सकें। 

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------


0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive