रानगिर की माँ हरसिद्धि माई

शुक्रवार, 7 मई 2021

राजघाट के पानी में कोरोना की आशंका, वायरोलॉजी लैब में कोरोना टेस्ट, रिपोर्ट निगेटिव, पानी सुरक्षित ★ विधायक शैलेन्द्र जैन और अधिकारियों ने जताई थी आशंका। ★ बीएमसी की वायरोलॉजी लैब भेजे गए थे सैम्पल। ★ पालतू जानवरों के स्वाब सैम्पल भी लेकर वायरोलॉजी लैब में कराये जा सकते हैं टेस्ट। @ चैतन्य सोनी

राजघाट के पानी में कोरोना की आशंका, वायरोलॉजी लैब में कोरोना टेस्ट, रिपोर्ट निगेटिव, पानी सुरक्षित

 ★ विधायक शैलेन्द्र जैन और अधिकारियों ने जताई थी आशंका।

 ★ बीएमसी की वायरोलॉजी लैब भेजे गए थे सैम्पल।
 
★ पालतू जानवरों के स्वाब सैम्पल भी लेकर वायरोलॉजी लैब में कराये जा सकते हैं टेस्ट। 

@ चैतन्य सोनी

सागर। कोरोना के आउटब्रेक के बाद सागर में अपनी तरह का पहला मामला सामने आया है। शहर को सप्लाई होने वाले नल के पानी और राजघाट बांध के फिल्टर हाउस के क्लियर वाटर टैंक के पानी का कोरोना टेस्ट कराया गया है। राहतभरी खबर है कि राजघाट के पानी की रिपोर्ट निगेटिव है और यह पानी कोरोना से पूरी तरह सुरक्षित है। दूसरी तरफ जिले के कुछ इलाकों में बकरियों व अन्य जानवरों को सर्दी होने व नाक बहने की सूचनाएं हैं। वैटनरी विभाग के माध्यम से इनके सैम्पल कराये जा सकते हैं। 

सागर विधायक शैलेंद्र जैन व वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों ने कोरोना फैलने को लेकर आशंकायें जाहिर की थीं, कि कहीं पानी में तो कोरोना वायरस नहीं आ गया है। आशंका के बाद राजघाट बांध से क्लियर वाटर से एक लीटर पानी व नल से सप्लाई पानी का सैम्पल बीएमसी की वायरोलॉजी लैब में जांच के लिए भेजा गया है। इसके अलावा विशेषज्ञों ने जानवरों में भी कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका जताई है। कारण जिले के कुछ इलाकों में पालतू बकरियों और अन्य मवेशियों को सर्दी-जुकाम होने व नाक बहने की जानकारी मिली है। आगामी दिनों में इनके भी सैम्पल कराये जा सकते हैं। 

शेरों को कोरोना के बाद जताई गई आशंका

कोरोना एक इंसान से दूसरे इंसान में फैलता है, लेकिन जिस तेजी से आउट ब्रेक हो रहा है उसने अलग तरीके सोचने पर मजबूर कर दिया है। बीते दिनों हैदराबाद के नेहरु जूलॉजिकल पार्क में 8 एशियाई शेरों को कोरोना वायरस की जानकारी सार्वजनिक होने के बाद हड़कम्प मचा हुआ है। देश के सारे अभ्यारण्य को अलर्ट भेजा गया है। इधर हैदराबाद में ही बीते साल सीवर के पानी में कोरोना वायरस की मौजूदगी मिली थी। यह दावा सेंटर फॉर मॉलिक्यूलर बायोलॉजी की रिपोर्ट में किया गया था। जिसके बाद सीवरेज को ट्रीटमेंट किया गया था।

पालतू मवेशियों, डेयरियों से भी सैम्पल कराये जाएं

विधायक शैलेन्द्र जैन का मानना है कि पानी व मवेशियों में कोरोना संक्रमण के मामले पहले  सामने आ चुके हैं। जानवरों को सर्दी-जुकाम की खबरें भी हैं। वेटरनरी विभाग के माध्यम से इनके सैम्पल लेकर कोरोना की जांच करा  रहे हैं। हमें कोरोना से निपटने में हर स्तर पर नजर रखना होगी। 

इनका कहना है

पानी में कोरोना वायरस नहीं होता, सुरक्षित हैै

पानी में कोरोना वायरस नहीं होता है। राजघाट के पानी में इस तरह की आशंका नहीं है। शहर में सप्लाई होने वाला पानी पूरी तरह फिल्टर प्रक्रिया के बाद सप्लाई होता है। 

- आरपी अहिरवार, आयुक्त नगर निगम सागर

राजघाट व नल के पानी का सैम्पल टेस्ट कराया गया है

पानी में कोरोना वायरस व अन्य वायरस होने की रिसर्च हैं। जिस तेजी से वायरस फैल रहा है तो राजघाट व नलों के पानी कल एहतियात के तौर पर लैब में टेस्ट कराने भेजा था। शहरवासियों से जुड़ा मामला है, इसलिए हर शंका, आशंका पर नजर रखना जरूरी है। वैसे पानी में वायरस नहीं मिला है। यह  राहत भरी खबर है। 
- शैलेन्द्र जैन, विधायक, सागर


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive