SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

गुरुवार, 6 मई 2021

पंजाब केंद्रीय विश्वविद्यालय में ग्रह, नक्षत्र और राशि वाटिका' की स्थापना, कुलपति प्रो. आर पी तिवारी ने किया उद्घाटन किया


पंजाब केंद्रीय विश्वविद्यालय में ग्रह, नक्षत्र और राशि वाटिका' की स्थापना, कुलपति प्रो. आर पी  तिवारी ने किया उद्घाटन किया


बठिंडा।  पंजाब केंद्रीय विश्वविद्यालय, बठिंडा (सीयूपीबी) के घुद्दा परिसर में  कुलपति प्रो. राघवेन्द्र प्रसाद तिवारी के संरक्षण में "ग्रह, नक्षत्र और राशि वाटिका" की स्थापना हेतु वृक्षारोपण अभियान का
आयोजन किया गया।
कार्यक्रम के आरंभ में कुलपति प्रो. राघवेन्द्र प्रसाद तिवारी ने सीयूपीबी घुद्दा परिसर में अतिथि गृह के समीप स्थित
वाटिका में ग्रह, नक्षत्र और राशि के पौधे लगाकर कार्यक्रम का उद्घाटन किया। इस वाटिका में नौ ग्रहों, सत्ताईस
नक्षत्रों और बारह राशियों से संबंधित दिव्य पौधे लगाए गए। जिन महत्वपूर्ण दिव्य पौधों को इस वाटिका में लगाया
गया है उनमें बरगद, पीपल, आंवला, गूलर, जामुन, शमी, बेल, अर्जुन, नागकेसर, कटहल, कदम्ब, आम, नीम और महुआ सम्मिलित हैं। इस अवसर पर कुलसचिव  के.पी.एस. मुंदरा, डीन प्रभारी अकादमिक प्रो. आर.के.वुसिरिका, डीन छात्र कल्याण प्रो. विनोद कुमार गर्ग, आई.क्यू.ए.सी. निदेशक प्रो. एस.के. बावा, पूर्व डीन अकादमिक मामले प्रो. पी. रामाराव, और उप वित्त अधिकारी श्री चंदन मित्तल सहित सभी डीन, विभागाध्यक्षों और अधिकारियों ने भी दिव्य वृक्षों के पौधे लगाए।


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट

इस अवसर पर कुलपति प्रो. तिवारी ने कहा कि भारतीय सभ्यता के मूल्यों ने हमें हमेशा प्रकृति के सभी सजीव और
निर्जीव घटकों के साथ पूर्ण सामंजस्य बनाए रखने के लिए प्रेरित किया है। उन्होंने आगे कहा कि ग्रह, नक्षत्र और
राशि के अनुसार वृक्षारोपण को समग्र रूप से मानवता की समृद्धि और अच्छे स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण माना जाता
है। पर्यावरण की रक्षा करने के अलावा, व्यक्ति इस वाटिका में समय बिताकर सकारात्मक मानसिक और शारीरिक
ऊर्जा प्राप्त कर सकता है। उन्होंने कहा कि यह वाटिका छात्रों के लिए लाभदायक होगी, क्योंकि वे अपने दैनिक शैक्षणिक गतिविधियों के बाद यहां गुणवत्तापूर्ण समय व्यतीत करके आनंदित हो सकेंगे। उन्होंने बताया कि छात्रोंऔर आगंतुकों के लाभ के लिए इस वाटिका में लगाए गए पौधों के नाम पंजाबी, हिंदी और अंग्रेजी भाषाओं में दर्शाए जाएंगे, जिनमें वानस्पतिक नाम भी शामिल हैं।

कार्यक्रम के दौरान प्रो. तिवारी ने शिक्षकों, कर्मचारियों और अधिकारियों को पौधे भेंट किए और प्राकृतिक पर्यावरण
को संरक्षित करने के लिए उनसे अधिक से अधिक पौधे लगाने की अपील की।
कोरोना दिशानिर्देशों को ध्यान में रखते हुए, इस कार्यक्रम को विभिन्न सत्रों में आयोजित किया गया, जिसकी शुरुआत उद्घाटन सत्र के साथ हुई और इसके बाद विश्वविद्यालय के डीन, विभागाध्यक्षों और अधिकारियों द्वारा पौधारोपण किया गया।
कार्यक्रम समन्वयक डॉ. दीपक कुमार चौहान ने बताया कि इस वृक्षारोपण अभियान में सभी ग्रहों, नक्षत्रों और
राशियों से संबंधित पौधे लगाए गए। उन्होंने इस अनूठे कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए अधिकारियों, शिक्षकों
और कर्मचारियों के प्रति आभार व्यक्त किया।

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें


SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive