शुक्रवार, 10 जनवरी 2020

डॉ गौर को भारत रत्न दिलाने के लिए अब सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगेगी

डॉ गौर को भारत रत्न दिलाने के लिए अब सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगेगी
सागर। डॉ हरीसिंग गौर को भारतरत्न दिलाने की मांग को लेकर सुप्रीमकोर्ट में याचिका दायर की जाएगी। इस संबंध में गौर यूथ फ़ोरम के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ विवेक तिवारी और सुप्रीम कोर्ट के वकील एहतेशाम हाशमी जी( मप्र सरकार के सुप्रीम कोर्ट में अधिकृत कांउसिल ) ने संयुक्त बयान जारी कर ये जानकारी दी। यह प्रश्न और मांग यहाँ के जनमानस से जुड़ी हुई है पूर्व में कई बार इस संबंध में आंदोलन हुए जनप्रतिनिधियों, विश्वविद्यालय प्रशासन, सामाजिक संगठन लगातार ये मांग करते आये हैं।
ज्ञात हो कि डॉ सर हरीसिंह गौर जी भारत के संविधान को निर्माण करने वाली समिति के भी सदस्य थे। संविधान दिवस भी उनके जन्मदिन 26 नवंबर को मनाया जाता है। हिन्दू लॉ और अन्य कई महत्वपूर्ण कानून जो आज भारतवर्ष में चल रहे हैं उनके निर्माण में भी उनका विशेष योगदान है। 
विश्वविद्यालय से जानकारी लेने पर यह पता चला कि विधिवत प्रस्ताव केवल एक बार तत्कालीन कुलपति प्रो. डी. पी. सिंह जी के समय भारत सरकार के पास भेजा गया था। केवल यही एक सार्थक प्रयास हुआ है, बाकि केवल कमेटियों तक ही सीमित रहा मामला या मंचों से घोषणा बखान होता रहा ।
डॉ विवेक तिवारी और सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता एहतेशाम हाशमी जी ने कहा कि भारत रत्न मिलना ही डॉ गौर को सच्ची श्रद्धांजलि होगी और अगर आवश्यक हुआ तो विश्वविद्यालय से मदद ली जावेगी या उनको भी इसमें पार्टी बनाया जाएगा।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive