शुक्रवार, 10 जनवरी 2020

अधिकारी ज्ञानेंद्रिय है तो कर्मचारी कार्येंद्रिय : डी.जी. पुरूषोत्तम शर्मा

अधिकारी ज्ञानेंद्रिय है तो  कर्मचारी कार्येंद्रिय : डी.जी. पुरूषोत्तम शर्मा
सागर। लोक अभियोजन संवर्ग में हमारे अभियोजन अधिकारी ज्ञानेंद्रिय है तो लोक अभियोजन के सहायक ग्रेड कर्मचारी अभियोजन की कार्येंद्रिय है जिनके कारण अभियोजन उत्तरोत्तर प्रगति कर रहा है। किसी भी संगठन के लक्ष्य को कुषल और प्रषिक्षित कर्मचारियों के द्वारा ही हासिल किया जा सकता है इसी उद्देष्य से सहायक ग्रेड कर्मचारी का 13 दिवसीय प्रषिक्षण कार्यक्रम म.प्र. पुलिस अकादमी भौंरी, भोपाल में आयोजित किया जा रहा है। उक्त आषय के उद्गार लोक अभियोजन के सहायक ग्रेड-3 का आधारभूत प्रषिक्षण कार्यक्रम आधार निर्माण का शुभारंभ करते हुए पुरूषोत्तम शर्मा महानिदेषक लोक अभियोजन संचालनालय द्वारा व्यक्त किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि म.प्र. पुलिस अकादमी भौंरी के निदेषक अतिरिक्त पुलिस महानिदेषक श्री वाइफै द्वारा सम्मिलित प्रषिक्षुओं को प्रेरक उद्बोधन करते हुए उनके भविष्य की मंगल कामना की गई। प्रषिक्षण कार्यक्रम की रूपरेखा सहायक संचालक प्रषिक्षण श्रीमती अमिता बरतारिया द्वारा प्रस्तुत करते हुए प्रषिक्षण कार्यक्रम को व्यावहारिक कठिनाईनों का समाधान करते हुए कर्मचारियों की कार्यदक्षता को विकसित करने वाला निरूपित किया गया।
ज्ञात हो कि उक्त प्रषिक्षण कार्यक्रम में प्रदेष के लगभग 260 कर्मचारी प्रषिक्षु के रूप में सम्मिलित हुए हैं, जिन्हें लेखा संबंधी, स्थापना एवं रीडर आदि विभिन्न विषयों पर उक्त क्षेत्र के विषेषज्ञों द्वारा 13 दिवस का प्रषिक्षण दिया जायेगा। जिसमें सागर अभियोजन के सहायक जिला अभियोजन अधिकारी अमित कुमार जैन द्वारा प्रषिक्षुओं को मासिक नक्षा बनाने, फिंगरप्रिंट लेने संबंधी नियमों से अवगत कराया गया। शुभारंभ के अवसर पर पुलिस अकादमी भौंरी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुश्री रष्मि पाण्डे, श्री मौर्या, उप संचालक अभियोजन के.के. सक्सेना सहित विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive