जंय श्री गणेशाय नमः

शनिवार, 27 जून 2020

बीएमसी के डीन और डॉक्टर्स पर कार्यवाही के खिलाफ लामबन्द हुए डॉक्टर्स, 29 जून से अनिश्चित कालीन हड़ताल, कमिश्नर के फैसले से नाराजगी

बीएमसी के डीन और डॉक्टर्स पर कार्यवाही के खिलाफ लामबन्द हुए डॉक्टर्स, 29 जून से अनिश्चित कालीन हड़ताल, कमिश्नर के फैसले से नाराजगी

★कमिश्नर ने डीन और अन्य डाक्टरो के खिलाफ सख्ती दिखाई थी, इसमे स्पष्टीकरण के साथ ही चार डॉक्टर्स का वेतन  आहरण पर रोक लगाई थी।

★बुन्देलखण्ड मेडिकल कालेज एक महीने से सुर्खियों में 

सागर। सागर सम्भाग के इकलौते शासकीय बुन्देलखण्ड मेडिकल कालेज  कोरोना काल मे विवादों के घेरे में है। इलाज से लेकर  कोविड मरीजो के खानेपीने  तक को लेकर विवाद चला। इसमे डीन डॉ  जीएस पटेल को सीएम शिवराज सिंह ने समीक्षा के बाद हटाया। इसके बाद वेतन को लेकर डॉक्टर्स ने हड़ताल पर जाने की बात कही। बड़ी मुश्किलो में यह मामला थमा। इसी बीच कमिश्नर आर के जैन ने प्रभारी डीन डॉ आर एस वर्मा और वायरोलॉजी के डॉक्टर सुमित रावत को मरीज के सेम्पल में देरी के चलते नोटिस दिया। इसके साथ चार डाक्टरो को  गेर हाजिर और खाने पीने के कार्यो में लापरवाही के चलते उनके वेतन आहरण पर रोक लगा दी गई। 

तीनबत्ती न्यूज. कॉम
बीएमसी के डीन डॉ वर्मा और डॉक्टर सुमित रावत से मांगा स्पष्टीकरण,सेम्पल  भेजने में हुई देरी
गैरहाजिर चार डॉक्टर्स का वेतन रोका , कमिश्रर की कार्यवाई

बीएमसी के डॉक्टर्स ने जताया विरोध ,कल काली पट्टी बांधेंगे,29 जून से कामबंद

कमिश्नर द्वारा की गई कार्यवाही की असंगत बताते हुए  कामबंद हड़ताल की चेतावनी डॉक्टर्स ने दी है । इसमें सभी शामिल है। उन्होंने एक पत्र भी मेडिकल कालेज के सीईओ को एक ज्ञापन भी आज दिया है। पत्र के मुताबिक  कोरोना महामारी के कारण कोरोना गरीज एवं अन्य सामान्य मरीजों के उपचार के कारण चिकित्सा शिक्षकों पर पहले से ही काफी कार्यों का दायित्व है ऐसे में सफाई, सुरक्षा मरीजों को भोजन वितरण करना मरीजों के सैम्पलों को अन्यत्र स्थानों पर भिजवाना, दूसरे चिकित्सालय (पीडी अस्पताल, पलू इत्यादि) से मरीजों को बीएमसी. के कोविद चिकित्सालय में भिजवाने आदि का कार्य
चिकित्सकों द्वारा संपादित करना उचित नही है।
चिकित्सको के कार्यों का आकलन एवं अवलोकन  करने हेतु कनिष्ठ पदों पर पदस्थ व्यक्तियों (गैर चिकित्सकीय व्यक्ति द्वारा अपने उच्च पदों पर पदस्थ चिकित्सकों के कार्यों का अवलोकन करने से चिकित्सक हतोत्साहित एवं अपमानित होते हैं। ऐसा करना अनुचित एवं नियम विरुद्ध है। 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम

के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे

ट्वीटर  फॉलो करें
@weYljxbV9kkvq5Z

अधिष्ठाता महोदय एवं इंचार्ज नायरोलॉजी लैब एवं चार अन्य चिकित्सको केविरुद्ध की गई कार्यवाही अनुचित एवं एकतरफा है, जिसका हम सभी चिकित्सक विरोधकरते है। इस संबंध में हम सभी चिकित्सक आपको सूचित करते है कि कल दिनाक 28 जून को काली पट्टी बाधकर विरोध करेंगे एवं दिनांक 29 जून से जब तक अधिष्ठाता  इचार्ज बायरोलॉजी लैब एवं चार अन्य चिकित्सकों के विरूद्ध की गई कार्यवाही वापिस नहीं की जाती तब तक कार्य बद रखेगे।
मेडिकल कालेज शिक्षक संघ के अध्यक्ष प्रो सर्वेश जैन ने बताया कि हमारे साथ सभी है। जूनियर डॉक्टर्स  संगठन  का समर्थन है। रविवार को काली पट्टी बांधेंगे और 29 जून से  अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाएँगे। 
उधर एक डॉक्टर का कहना है कि जिस दिन निरीक्षण हुआ उस दिन उनकी ड्यूटी नही थी फिर भी कार्यवाई हुई है। 
---------------------------- 




तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive