जंय श्री गणेशाय नमः

शुक्रवार, 26 जून 2020

सागर स्मार्ट सिटी की परामर्श समीति की बैठक संपन्न, कई सुझाव दिएसमाजसेवियों ने


सागर स्मार्ट सिटी की परामर्श समीति की बैठक संपन्न, कई  सुझाव दिए समाजसेवियों ने 

सागर । स्मार्ट सिटी द्वारा शहर विकास के अनेक मुद्दों को लेकर स्मार्ट सिटी कार्यालय में परामर्शी समिति की बैठक संपन्न हुई। बैठक में सांसद राजबहादुर सिंह, विधायक शैलेन्द्र जैन, जिला कलेक्टर सह अध्यक्ष दीपक सिंह, नगर निगमायुक्त सह कार्यकारी निदेशक आर पी अहिरवार, स्मार्ट सिटी सीईओ राहुल सिंह राजपूत, वरिष्ठ समाजसेविका मीना पिंपलापुरे ताई(वीडियो काॅन्फ्रेंस के माध्यम से), देवेश गर्ग, इंजी. प्रकाश चौबे , राजू तिवारी, नेहा जैन(वीडियो काॅन्फ्रेंस के माध्यम से),  स्मार्ट सिटी कंपनी सचिव रजत गुप्ता शामिल हुए। सभी की गरिमामयी उपस्थिति में वर्तमान एवं आगामी विकास कार्यों पर सर्वसम्मिति से सुझाव दिये गए।

पढ़े: सागर: थाना प्रभारी हुए संक्रमित,पुलिस से लेकर पत्रकारों तक की हुई थर्मल स्क्रीनिंग
सांसद एवं विधायक ने संयुक्त रूप से शहर में मानसूनी मौसम के अहम मुद्दे स्ट्रोम वाटर योजनाओं एवं ड्रेनेज सिस्टम पर चर्चा करते हुए कहा कि जलनिकासी हेतु चिन्हित किये गए नालों के सर्वे से मिली जानकारी पर जल्द से जल्द कार्य शुरू हो, जहां अतिक्रमण की स्थिति है वहां का अतिक्रमण हटाने हेतु अभियान चलाया जाये ताकि बिना अवरोध प्रोजेक्ट को तय समय सीमा में संपन्न करा कर शहर का ड्रेनेज सिस्टम सुधरा जा सके। इसके अलावा अन्य प्रोजेक्टों इन्क्यूबेशन सेंटर, स्मार्ट रोड, जीआईएस प्लेटफार्म डेवलपमेंट, स्मार्ट क्लास रूम, कामकाजी महिला छात्रावा(Working Women Hostel), विद्युत शवदाह गृह, लाखा बंजारा लेक के कार्य हेतु कार्यप्रणाली का विस्तृत प्रजेंटेशन दिया गया। सभी महत्वाकांक्षी प्रोजेक्टों की सराहना करते हुए कहा कि आगामी समय में इन सभी प्रोजेक्टों से सागर शहर को अन्य विकसित शहरों की तरह स्थापित करनें में विशेष सहयोग मिलेगा। 

स्मार्ट सिटीज मिशन एवं अन्य योजनाओं की सफल पांचवी वर्षगांठ पर हुई वीडियो काॅन्फ्रेंस*


जिला कलेक्टर दीपक सिंह  ने सभी प्रोजेक्ट प्रजेंटेशनों की समीक्षा कर कहा कि स्मार्ट सिटी मिशन के तहत किये जा रहे विकास कार्यो को एक निश्चित राशि आवंटित है जो कि नियत समय पांच वर्ष में विकास कार्यों हेतु केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा दी जायेगी, इसलिए हमारे प्रोजेक्टों को रिवेन्यू माॅडल के आधार पर विकसित किया जाये ताकि स्मार्ट सिटी के वन टाइम इन्वेस्टमेंट के बाद इनका रखरखाव एवं स्टाफ मेंटेनेंस आदि निर्वाध रूप से आगे भी चलता रहे।

समाज सेवी डॉ मीना पिम्पलापुरे ने कोविड 19 से जुड़े स्किल डेवलमेंट प्रोग्राम चलाने और इनोवेशन पर जोर दिया। सभी तरह के  मरीजो को होम केयर जैसे स्किल कार्यक्रम की बात कही। हेरिटेज से जुड़े मसलो पर इन क्षेत्रों में कार्य करने वाले संगठनों को जोड़ने का सुझाव दिया।

इसके साथ ही निम्नांकित बिन्दूओं पर सर्वसम्मिति बनाते हुए सुझाव दिये गए -

# इन्क्यूबेशन सेंटर(भोपाल एवं जबलपुर)प्रोजेक्ट जो स्मार्ट सिटी के अंतर्गत सफलता पूर्वक संचालित है उनकी आफीसियल विजिट सलाहकार समीति द्वारा की जाये।

# विद्युत शवदाह गृह को सर्वप्रथम मोतिनगर शमशानघाट पर प्रयोग सफल होने पर अन्य विकसित किये जाये।

# पुराने बस स्टैण्ड पर एक फ्लैगशिप प्रोजेक्ट तैयार किया जायेगा एवं नया बस स्टैंड स्मार्ट सिटी द्वारा तैयार किया जाये। 

# शहर में यातायात एवं कनेक्टिविटी सुगम करने बावत् सिटी बसों हेतु समीति द्वारा पहले किये गए टेंडर संबंधी प्रयासों के सफल न होने के कारणों पर चर्चा करते हुए टेंडर प्रक्रिया एवं अन्य को सरल करनें और सिटी बस चालू कराने हेतु कार्य होगा।

# जिले की अधिक से अधिक स्कूलों में स्मार्ट क्लास रूम तैयार किये जायें इसके लिए स्कूल शिक्षा विभाग, सर्वशिक्षा अभियान और अन्य से क्र्वाडिनेट करें। वर्तमान में सागर एक्सिलेंस स्कूल में स्मार्ट क्लास रूम का सेंट्रल स्टूडियो बनाया जा रहा है। जहां से सभी स्मार्ट क्लास रूम को जोड़ कर विषय विशेष्ज्ञों का लाभ छात्र-छात्राओं को मिलेगा। सागर के केन्ट क्षेत्र के दो स्कूलों को भी स्मार्ट क्लास रूम प्रोजेक्ट में शामिल किया जाये।

#सागर के हैरिटेज साइटों, बावड़ियों, बड़े कुओं एवं जलस्रोतों आदि के पुनर्विकास हेतु चिन्हित कर उसका  प्रोजेक्ट बना कर कार्य किया जाये।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

@weYljxbV9kkvq5Z



 ---------------------------- 




तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive