बुधवार, 24 जून 2020

चाय सुट्टा कैफे का सागर के सिविल लाईन में शुरुआत ,कैफे में कुल्हड़ का उपयोग

चाय सुट्टा कैफे का सागर के सिविल लाईन में शुरुआत ,कैफे में कुल्हड़ का उपयोग                   
सागर।  बुंदेलखंड के संभागीय मुख्यालय सागर शहर के सिविल लाईन मे जनपद मार्केट में चाय सुट्टा कैफे की फ्रेंजाइजी   का शुभारंभ विधि विधानपूर्वक की गई है । कैफे के सागर संचालक अरूणेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि मौजूदा समय में संचालित इस कैफे में चाय काफी के अलावा 78 प्रकार के स्नैक का लुफ्त भी खाने के शौकीन उठा सकेगे ।  उन्होने बताया कि मन में भरोसा अच्छी सोच नेक नीयत और परोपकार की भावना से शुरू किया गया कार्य हमेशा सफलता की ऊॅंचाईयों तक पहुचाता है। 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

@weYljxbV9kkvq5Z



ऐसे ही इंदौर के तीन युवाओं ने  सन् 2016 में एक ऐसे कैफे की परिकल्पना की जिसमें ना सिर्फ गुणवत्ता पूर्ण पेय उपभोक्ताओं को मिल सके बल्कि उस कारोवार से पर्यावरण की रक्षा कमजोर को रोजगार और परम्परागत संसाधन का उपयोग किया जाकर विशिष्ट पहचान बनायी जाय। इसी  सोच के साथ अनुभव आनंद राहुल  ने चाय सुट्टा बार की शुरूआत इंदौर शहर से प्रारंभ की।  जो कि आज दुबई  सहित दुनिया के कई देशों तक पहुंच गई है ।चाय सुट्टा बार की खासियत है कि यहा चाय काफी कुल्हड़ में सर्व की जाती है। प्रतिदिन पूरे देश में संचालित कैफे में 1 लाख कुल्हड़ों का इस्तेमाल किया जाता हैं जो खपत के मामले में पूरे विश्व में सर्वाधिक हैं। 7 प्रकार के फ्लेवर में बनायी जाने वाली चाय में सातों दिन अलग अलग खुशबूओं का लुफ्त लिया जा सकता है। देश भर में आज चाय सुट्टा बार के 76 कैफे संचालित किये जा रहे है और 200 कुम्हार परिवार को सालाना कुल्हड़ बनाने सत्त रूप से रोजगार प्राप्त हो रहा है। 2016 से अभी तक समस्त कैफे में 3 करोड़ कुल्हड़ का उपयोग किया जा चूका हैं।दिव्यांग जनों को  कैफे में प्राथमिकता के साथ रोजगार और नारी सशक्तिकरण के मद्दे नजर महिलाओं की सहभागिता ने चाय सुट्टा बार को अलग ही पहचान दिलायी है।

---------------------------- 


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885

-----------------------------

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive