दानवीर , सागर विवि के संस्थापक डॉ हरि सिंह गौर की जयंती,26 नवम्बर ।

बुधवार, 10 नवंबर 2021

कोविड टीकाकरण : लापरवाही बरतने पर चिकित्सा अधिकारी डॉ. आशीष जैन को नोटिस


कोविड टीकाकरण : लापरवाही बरतने पर चिकित्सा अधिकारी डॉ. आशीष जैन को नोटिस

सागर। कलेक्टर श्री दीपक आर्य के निर्देश पर सीएमएचओ डा. सुरेश बौद्ध ने जिला चिकित्सालय के चिकित्सा अधिकारी पी.जी. कम्यूनिटी मेडीसीन डॉ. आशीष जैन को कोविड-19 टीकाकरण कार्य में लापरवाही बरतने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

सीएमएचओ डॉ सुरेश बौद्ध ने बताया कि  टीकाकरण कार्य के शत प्रतिशत गुणवत्ता पूर्ण एवं टीकाकरण जैसे : अति महत्वपूर्ण संवेदनशील कार्यक्रम हेतु डाक्टर  जैन को शहरी क्षेत्र का नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है एवं उक्त कार्य को पूर्ण निष्ठा एवं लगन के साथ कियान्वित किया जाना डाक्टर  जैन का दायित्व है । टीकाकरण महाअभियान के सफल संचालन हेतु कार्यालय में 4 बैठक आयोजित की गयी।  जिसमें डाक्टर  जैन  बिना किसी पूर्व सूचना के अनुपस्थित पाये गये । डाक्टर जैन के उक्त कृत्य से टीकाकरण जैसे अतिमहत्वपूर्ण राष्ट्रीय कार्यक्रमों के प्रति अरुचि , उदासीनता एवं वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा देय निर्देशों की अवहेलना करना सिद्ध होता है । जिला टीकाकरण अधिकारी द्वारा भी 10 नवंबर 2021 को अवगत कराया गया कि प्रातः 10.30 बजे तक डाक्टर  जैन  द्वारा उनके फोन कॉल भी रिसीव नहीं किये गये । डाक्टर  जैन निष्क्रियता के कारण सेंटरों पर वैक्सीन समय पर नहीं पहुंचने से सत्र समय पर प्रारंभ नहीं हो सके जिस कारण कलेक्टर द्वारा भी अत्यन्त नाराजगी एवं अप्रसन्नता व्यक्त की गयी। जिससे विभाग की छवि भी धूमिल हुई । इस प्रकार डाक्टर  जैन का उपरोक्त कृत्य मध्यप्रदेश सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के नियम -3 के उप नियम ( 1 ) ( 11 ) ( 111 ) के अनुरूप न होकर कदाचरण की श्रेणी में आता है , इस प्रकार आप उक्त नियमों का पालन म और अपने कार्य के प्रति सन्निष्ठ एवं कर्तव्य परायण में रहते हुये अनुशासनात्मक कार्यवाही के भागी बन गये है । अतः डाक्टर  जैन  नोटिस प्राप्ति के 48 घंटे के अंदर अपना प्रतिवाद उत्तर सीएमएचओ के समक्ष उपस्थित होकर प्रस्तुत करें कि क्यों न आपके विरुद्ध मध्यप्रदेश सिविल सेवा ( वर्गीकरण नियंत्रण तथा अपील ) नियम 1966 के अंतगर्त अनुशासानात्मक कार्यवाही हेतु प्रस्ताव वरिष्ठ कार्यालय को भेजा जाये । डाक्टर  जैन  उत्तर समय सीमा मे एवं संतोषजनक न पाये जाने पर डाक्टर  जैन के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही हेतु प्रस्ताव गरिष्ठ कार्यालय को भेज दिया जायेगा। जिसके लिये डाक्टर  जैन  स्वयं उत्तरदायी हांगे ।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive