रविवार, 19 जून 2022

कलेक्टरेट के डिस्पले से गायब हुई महापौर प्रत्याशियों के शपथ-पत्र की प्रतिलिपियां★ कांग्रेस की महापौर प्रत्याशी निधि सुनील जैन के परिजन की आपत्ति के बाद सक्रिय हुआ चुनावी अमला★ आपत्तिकर्ता एड. समृद्धि जैन ने कहा, जब नामांकन देखने ही नहीं मिलेगा तो फिर आपत्ति कैसे करेंगे

कलेक्टरेट के डिस्पले से गायब हुई महापौर प्रत्याशियों के शपथ-पत्र की प्रतिलिपियां

★ कांग्रेस की महापौर प्रत्याशी निधि सुनील जैन के परिजन की आपत्ति के बाद सक्रिय हुआ चुनावी अमला

★ आपत्तिकर्ता एड. समृद्धि जैन ने कहा, जब नामांकन देखने ही नहीं मिलेगा तो फिर आपत्ति कैसे करेंगे 


सागर। नगर निगम के महापौर चुनाव के लिए प्रत्याशियों ने नामांकन स्तर पर भी जंग शुरु कर दी है। सोमवार को नाम निर्देशन पत्रों की स्क्रूटिनी होगी। इस लिहाज से मप्र कांग्रेस कमेटी की ओर से महापौर चुनाव के लिए नियुक्त प्रभारी सुरेंद्र सुहाने ने एड. समृद्धि जैन को रविवार दोपहर जिला रिटर्निंग ऑफिस में प्रत्याशियों के नामांकन एवं शपथ-पत्रों का अवलोकन करने भेजा था। लेकिन एड. जैन को डिस्पले बोर्ड पर एक भी प्रत्याशी का शपथ-पत्र नहीं दिखा। इस पर उन्होंने आपत्ति लेते हुए जिला उप-निर्वाचन अधिकारी शशि मिश्रा से जानकारी ली। डिस्पले से शपथ-पत्र गायब होने की बात को उन्होंने भी गंभीरता से लिया। मिश्रा ने अधीनस्थ अमले को तलब कर जानकारी ली तो उन्हें जवाब मिला कि शपथ-पत्र की प्रतिलिपियां तो डिस्पले बोर्ड पर टैग थीं। लेकिन अज्ञात व्यक्ति उन्हें निकाल ले गया। 
फिलहाल नहीं दिखा सकते, ट्रेजरी में जमा हैं सारे नामांकन-पत्र
एड. समृद्धि जैन ने उप निर्वाचन अधिकारी मिश्रा से कहा कि यह आप लोगों के स्तर की चूक है। फिलहाल मुझे सभी प्रत्याशियों के नामांकन पत्र के फार्म-४ व शपथ-पत्र की कॉपी उपलब्ध कराई जाए। जवाब में मिश्रा ने बताया कि सभी प्रत्याशियों के नामांकन प्रपत्र ट्रेजरी में जमा हैं। इसलिए दूसरी प्रति उपलब्ध नहीं है। ये सुनने के बाद एड. जैन ने कहा कि यह तो सरासर गलत है। अगर आप लोग नामांकन पत्र का फार्म-४ नहीं दिखाएंगे तो हम या कोई दूसरा प्रत्याशी सोमवार को किन तथ्यों के आधार पर आपत्ति लेगा। इसके बाद एड. जैन ने कहा कि मैं इस संबंध में अभी आपके समक्ष लिखित में आपत्ति दे रही हूं जिसकी एक कॉपी को राज्य निर्वाचन आयोग भी भेजा जाएगा। 

मीडियाकर्मी जमा हुए तो डिस्पले पर कॉपी भी टैग होने लगी 

जैसे ही इस घटनाक्रम की जानका78री कुछ मीडियाकर्मियों को मिली तो वह मौके पर पहुंच गए। यह जानकारी रिटर्निंग ऑफिस के अमले को भी लग गई। जिसके बाद अचानक से डिस्पले पर एक के बाद एक ६ प्रत्याशियों के शपथ-पत्र की प्रतिलिपियां टैग कर दी गईं। इसके बाद भी एड. जैन ने पूरे घटनाक्रम को लेकर अपनी आपत्ति उप-निर्वाचन अधिकारी को देना चाही। लेकिन उन्होंने उसे स्वीकार नहीं किया। इधर इस मामले को लेकर महापौर चुनाव के प्रभारी कांग्रेस नेता सुरेंद्र सुहाने ने कलेक्टर समेत राज्य निर्वाचन आयोग से मांग की है कि महापौर के पद के लिए जमा हुए सभी ९ नामांकन पत्र के फार्म-४ व शपथ-पत्रों की प्रतिलिपियां रविवार रात को ही हमारे प्रत्याशी के अधिकृत ई-मेल एड्रेस पर उपलब्ध कराई जाए। ताकि संपूर्ण चुनाव प्रक्रिया में पारदर्शिता बरकरार रहे।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense