SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

मंगलवार, 2 जून 2020

सागर: 8 नए पाॅजिटिव मरीज मिले, होम क्वारेंटाइन की आनलाइन लाइव निगरानी,103 दिखे सीमाओं को तोड़ते हुए लाईव

सागर: 8 नए पाॅजिटिव मरीज मिले, होम क्वारेंटाइन  की आनलाइन लाइव निगरानी,103 दिखे  सीमाओं को तोड़ते हुए लाईव

सागर ।सागर में कोरोना पाजिटिव निकलने का सिलसिला जारी है। मेडिकल काॅलेज से प्राप्त जानकारी के अनुसार आज बायरोलाॅजी लैब की रिपोर्ट  होम क्वारेंटाइन व्यक्तियों की
आॅनलाइन लाइव निगरानी अनुसार 8 मरीजों की कोरोना पाॅजिटिव रिपोर्ट आई है। इनमें 45 वर्षीय पुरूष नगर निगम सागर,  38 वर्षीय महिला सदर बाजार, 36 वर्षीय पुरूष सदर बाजार, 69 वर्षीय पुरूष मोतीनगर, 55 वर्षीय महिला नगर निगम सागर, 55 वर्षीय पुरूष नगर निगम सागर, 45 वर्षीय पुरूष थाना केंट, 42 वर्षीय पुरूष  थाना केंट सागर निवासी शामिल है।इसके अलावा एक जून को देर रात्रि प्राप्त रिपोर्ट में 50 वर्षीय मढ़िया विठ्ठल नगर वार्ड की कोरोना पाॅजिटिव रिपोर्ट आई है।
सागर जिले में कोरोना मरीजो का आंकड़ा 198 हो गया है। अभी तक 95 मरीज स्वस्थ्य होकर घर वापिस हो चुके है। जिले में 10 मरीजो की मौत हो चुकी है। 

जियो टैगिंग से की जा रही होम क्वारेंटाइन व्यक्तियों की आनलाइन लाइव निगरानी
सागर ।  सागर जिले में कोविड-19 कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम हेतु जिला कलेक्टर दीपक सिंह के निर्देशानुसार सागर स्मार्ट सिटी कार्यालय के इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से निगमायुक्त आर पी अहिरवार, जिला पंचायत सीईओ इच्छित गढ़पाले, जिला रजिस्ट्रार रत्नेश भदोरिया, स्मार्ट सिटी सीईओ राहुल सिंह राजपूत के मार्गदर्शन में की जा रही रियल टाइम ट्रैकिंग में जियो टैगिंग से महत्वपूर्ण सहयोग मिल रहा है। जिला प्रशासन की बड़ी चिंता अब कोरोना संदिग्धों का संपर्क दूसरे व्यक्तियों से तोड़ने की है। इसके लिए कई कदम उठाए गए हैं। 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे

ट्वीटर  फॉलो करें
@weYljxbV9kkvq5Z


होम क्वारेंटाइन में रहने वाले सभी कोरोना संदिग्धों का मोबाइल नंबर और अन्य जानकारी के साथ लोकेशन प्राप्त कर जियो टैग किया गया है। जीपीएस से ट्रैकिंग करने के लिए इनटू ट्रेक कंपनी की विशेष शाखा के माध्यम से वर्तमान होम क्वारेंटाइन व्यक्तियों की आॅनलाइन लाइव निगरानी की जा रही है।  
इसके अंर्तगत यदि क्वारेंटाइन व्यक्ति अपनी टेग लोकेशन से 200 मीटर तक बाहर जाता है, तो शाॅर्ट ब्रीच और इससे अधिक दूरी तय करने पर लाॅग ब्रीच की कार्यवाही की जाती है। ग्राफिक्स में शार्ट ब्रीच,लाॅग ब्रीच आदि को रेड, ग्रीन एवं यलो डाॅटस से प्रदर्शित किया जाता है। उक्त व्यक्ति द्वारा इस प्रकार नियमों का उल्लंघन करने पर तत्काल फोन कर समझाइस दी जाती है और यदि न माने और कोई उल्लंघन देखा जाता है, तो त्वरित कार्रवाई के लिए तुरंत इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर में तैनात की गई स्पेशल एसडीईआरएफ फोर्स और फ्लाइंग स्क्वायड को अलर्ट भेजा जाता है। यह स्पेशल फोर्स उसके घर जा कर कार्यवाही कर एफआईआर दर्ज कराती है। 
अब तक लगभग 452 में से कुल 103 व्यक्तियों द्वारा तय की गई सीमाओं को तोड़ते हुए मामलों को लाइव देखा गया था। और पिछले कुछ दिनों में घर से बाहर जाने वाले लोगों की रिपोर्ट के बाद लोगों पर विशेष रूप से डिजिटल निगरानी का सकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है। उपरोक्त निगरानी पद्धिति स्मार्ट फोन के साथ-साथ फीचर फोन में भी प्रभावी है।
इसके साथ ही पाॅजिटिव कोरोना पेशेंटों के घर एवं संबंधित कंटेनमेंट एरिया को भी जियो टैग कर गूगल मैपिंग से जोड़ा गया है। जिनसे संबंधित जानकारी को डेसबोर्ड में प्रदर्शित किया जाता है। जिस पर पाईचार्ट एवं ग्राफिकल प्रेजेंटेशन के माध्यम से एनालिसिस किया जा रहा है। जिसकी मदद से कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम हेतु आगे की रणनीति तैयार करने में मदद मिल रही है।

---------------------------- 


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885

-----------------------------

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive