रानगिर की माँ हरसिद्धि माई

गुरुवार, 4 जून 2020

फफूंद लगे खाने के मामले में एक कर्मचारी निलंबित, विधायक शेलेन्द्र जैन ने की बीएमसी की समीक्षा

फफूंद लगे खाने के मामले में एक कर्मचारी निलंबित, विधायक शेलेन्द्र जैन ने की बीएमसी की समीक्षा

★संदिग्ध मरीजों के सैंपल उपरांत रिपोर्ट प्राप्त होने पर तत्काल उन्हें एसएमएस के माध्यम से भेजी जानी चाहिए इसके दिए सख्त निर्देश

सागर। विधायक शैलेंद्र जैन ने कोरोना के मामले में लगातार मिल रही शिकायतों के मद्देनजर बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में पहुंचकर आयुक्त नगर निगम, अधिष्ठाता बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज, डिप्टी कलेक्टर अंजलि शाह एवं जिला चिकित्सालय सिविल सर्जन डॉक्टर तोमर ,बीएमसी के अधीक्षक डॉ पिप्पल कोविड19 हॉस्पिटल इंचार्ज डॉ रमेश पांडेय  के साथ समीक्षा बैठक की।
 सबसे पहले उन्होंने विगत दिनों बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में एवं क्वॉरेंटाइन सेंटरों में फफूंद लगे खाने की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए अपनी आपत्ति दर्ज कराई और कड़ी चेतावनी दी जिस पर बीएमसी प्रबंधन द्वारा तत्काल एक्शन लेते हुए भोजन डिस्ट्रीब्यूशन इंचार्ज को निलंबित कर दिया गया है ।साथ हीअन्य स्टाफ को ताकीद कर दिया गया भोजन जैसे ही डिलीवर हो उसके तत्काल बाद मरीजों एवं अन्य व्यक्तियों तक पहुंच जाना चाहिए इसमें कोई कोताही नहीं बरती जाना चाहिए।

पढ़े : सागर: चना तुलाई के एवज में पाँच हजार की रिश्वत लेते समिति प्रबंधक पकड़ाया ,लोकायुक्त पुलिस की कार्यवाई

अधिष्ठाता मेडिकल कॉलेज डॉ पटेल  एवं आयुक्त नगर निगम आर पी अहिरवार के साथ यह तय किया गया अब मरीजों को हाई प्रोटीन डाइट भी दी जानी चाहिए प्रत्येक मरीज को लगभग आधा लिटर दूध हल्दी वाला, सेब, केला शाम को बादाम काजू पिस्ता उपलब्ध कराए जाएं। उन्होंने कहा कि अभी की स्थिति में मरीज को सिर्फ ओरल दवाओं के माध्यम से उपचार किया जा रहा है जिससे मरीज को एक अच्छा भाव नहीं आ पा रहा है अस्पताल में प्रत्येक वार्ड में टेलीविजन लगाई जाए योगा क्लासेस शुरू की जाए म्यूजिक सिस्टम्स के माध्यम से भजन और योगा तथा न्यूज़ चलाई जाए ताकि मरीजों एवं कोरेंटिन लोगों का मनोरंजन हो सके साथ ही जो छोटे बच्चे पॉजिटिव है अथवा क्वॉरेंटाइन है ।

 पढ़े : सागर : शॉपिग काम्प्लेक्स के मालिक ने दो माह का किराया किया माफ़, किरायेदारो ने माना आभार
कोरोना आपदा के मददगार

उन्हें खिलौने उपलब्ध कराए जाएं एवं उन्हें मनोरंजन के साधन उपलब्ध कराए जाएं ताकि उनका मन बहल सके और मानसिक रूप से स्वस्थ रह सकें उन्होंने अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहा कि आज लगभग 42 लोग डिस्चार्ज हो रहे हैं इससे हमारे बीएमसी का रिकवरी रेट बहुत अच्छा हो गया है  उन्होंने कहा कि मरीजों में भय का माहौल है इसका एक मुख्य कारण उन्हें पर्याप्त जानकारी ना होना है और हमारे द्वारा इस संबंध में उनको कोई भी जानकारी उपलब्ध नहीं कराई जा रही है ना ही उन्हें यह पता है कि उनका ट्रीटमेंट किस तरह होना है और उनका सैंपल कब लिया जाना है या किस तरह लिया जाना है और किन मरीजों के लिए जाना है इस संबंध में उन्होंने सीएमएचओ को निर्देशित करते हुए कहा कि ऐसे संदिग्ध पेशेंट जो अपना सैंपल दे चुके हैं उनकी रिपोर्ट आने पर तत्काल उनके मोबाइल नंबर पर भेज दी जानी चाहिए ताकि वह संतुष्ट हो सके और जिन लोगों को क्वॉरेंटाइन किया गया है उन्हें यदि कोई भी लक्षण नहीं है तो उन्हें यह बताना चाहिए कि उनके सैंपल की कोई आवश्यकता नहीं है ।

पढ़े : सागर मेडिकल कॉलेज की व्यवस्थाएं बेहतर करें: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

आपको इंस्टिट्यूशन करंट टाइम किया गया है मुख्य रूप से उन्होंने डीन मेडिकल कॉलेज को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी मरीजों की काउंसलिंग की जानी चाहिए और उन्हें विस्तार से सारी जानकारी उपलब्ध कराई जानी चाहिए। ताकि उन्हें यह पता हो कि उन्हें किस तरह का उपचार किया जा रहा है और उनकी स्थिति कैसी है व्यक्ति मानसिक तनाव बना रहे सफाई व्यवस्था पर उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा चाहे बीएमसी का मामला हो या क्वॉरेंटाइन सेंटर का मामला हो सफाई व्यवस्था में कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सीएमएचओ सागर को निर्देशित करते हुए कहा कि कोरोना कंट्रोल रूम को और भी अधिक चुस्त-दुरुस्त करने की आवश्यकता है वहां पर बैठा हुआ व्यक्ति प्रत्येक कॉल को अटेंड करें और उन्हें पूर्ण जानकारी देकर संतुष्ट करें इससे अनेकों समस्याओं का निदान सिर्फ फोन पर ही हो सकेगा। साथी बीएमसी में भर्ती मरीज अपने परिवार के संपर्क में रह सके इस संबंध में उनके फोन एवं अन्य सुविधाएं उन्हें उपलब्ध कराई जानी चाहिए ।

---------------------------- 


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885

-----------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive