SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

सोमवार, 19 अप्रैल 2021

कोरोना का दूसरा स्ट्रेन खतरनाक, साग़र में बेड की कमी, हमारी कोशिश खुरई में ही बेहतर इलाज की: मन्त्री भूपेन्द्र सिंह ★ खुरई में 50 बेड के कोविड-19 केयर सेंटर का शुभारंभ

कोरोना का दूसरा स्ट्रेन खतरनाक,  साग़र में बेड की कमी, हमारी कोशिश खुरई में ही बेहतर  इलाज की:  मन्त्री भूपेन्द्र सिंह 
★ खुरई में 50 बेड के कोविड-19 केयर सेंटर का शुभारंभ
★ कोविड-19 टेस्ट के लिए अस्पताल से दूर नये स्थान पर की जाएगी टेस्ट करने की व्यवस्था 

साग़र।  पिछले वर्ष जो कोरोना था वो इतना खतरनाक नहीं था, जितना इस साल वाला है, पहले कोरोना केवल पहले से बीमार और बुजुर्गों को हो रहा था, लेकिन इस बार कोरोना का संक्रमण सभी को हो रहा है और दो-तीन दिन में ही हालात बिगड़ जाते हैं। हमारे खुरई में जब सिविल अस्पताल है तो यह जरूरी था कि, खुरई में कोविड-19 का केयर सेंटर बने। यह बात सोमवार को प्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह सिविल अस्पताल खुरई में 50 बेड की क्षमता के कोविड-19 केयर सेंटर के शुभारंभ पर कही।_
मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि, बीच में सवा साल की कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में व्यवस्थाएं बिगड़ीं, कई डाॅक्टर अपना ट्रांसफर करा के चले गए, मशीनें बंद पड़ी हैं। धीरे-धीरे करके अब हम खुरई अस्पताल को फिर से वह सभी सुविधाओं को उपलब्ध कराने की कोशिश कर रहे हैं। जिससे कि खुरई की जनता को परेशान न होना पड़े, अन्य जगह न जाना पड़े। 
उन्होंने कहा कि, मेडीकल काॅलेज सागर में अभी यह हालात हैं कि एक भी बेड खाली नहीं है और हमारे पास प्राईवेट अस्पतालों की भी कमी है। इस कठिन परिस्थिति में हमारी यह कोशिश है कि खुरई वासियों को कोरोना में इलाज की बेहतर व्यवस्था अपने ही क्षेत्र में मिलें। इस हेतु हमने खुरई में यह कोविड-19 केयर सेंटर की स्थापना की है। अगर किसी में कोरोना के लक्षण दिखें जैसे सर्दी-खांसी, बुखार, भूख न लगना, स्वाद न आना तो तत्काल कोरोना का एंटीजेन टेस्ट कराएं, उक्त टेस्ट की रिपार्ट पांच मिनिट में आ जाती है। इसके अलावा आरटीपीसीआर टेस्ट भी करा सकते हैं, लेकिन इसकी रिपार्ट आने में समय लगता है। हमने यह तय किया है कि, खुरई में एंटीजेन टेस्ट के लिए सिविल अस्पताल की जगह खुरई नगर में एक अन्य स्थान निर्धारित कर वहां पर एंजीजेन टेस्ट की व्यवस्था करेंगे। 
श्री सिंह ने कहा कि, सिविल अस्पताल में केवल कोविड पाॅजिटिव मरीजों के इलाज की व्यवस्था होगी। अकेले टेस्ट के लिए यहां तक न आना पढे़ ऐसी व्यवस्था हम कर रहे हैं। श्री सिंह ने बताया कि, अभी टेस्ट दोपहर 3 बजे तक होता था हमने क्षमता को बढ़ाने शाम 5 बजे तक का समय तय कर दिया है। मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि, अगर किसी को ज्यादा सर्दी, खांसी बुखार है तो उसे एक्स-रे कराना चाहिए। सबसे महत्वपूर्ण यह है कि, हमारा ऑक्सीजन लेवल 94 से नीचे नहीं जाना चाहिए। हमने अपने स्तर पर सिटी स्केन मशीन उपलब्ध कराने की भी कोशिश की थी लेकिन वह अभी तीन महीने तक उपलब्ध नहीं हो पाएगी, इसलिए हमने अभी अतिआवश्यक व्यवस्थाओं पर ज्यादा ध्यान दिया। मंत्री श्री सिंह ने कहा कि, हमारे द्वारा कोरोना को रोकने हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट

खुरई में एम्बूलेंस की संख्या बढ़ाने हम तीन नई एम्बूलेंस की व्यवस्था की है, इससे किसी को सिटी स्केन या इमरजेंसी में जिला मुख्यालय जाने हेतु आसानी होगी। यह एम्बूलेंस लगभग 8-10 दिन में उपलब्ध हो जाएंगी। वेंटिलेटर की कमी को दूर करने 22 लाख लागत के 5 वेंटिलेटर दे रहे हैं। प्रेसर के साथ ऑक्सीजन देने के लिए 8 लाख लागत के 20 ऑक्सीजन कंस्टेंटर, 15 लाख लागत के 50 जम्बो ऑक्सीजन सिलेण्डर, इसके अलावा 25 छोटे ऑक्सीजन सिलेण्डर की भी व्यवस्था की गई है। 50 जम्बो ऑक्सीजन सिलेण्डर भावनगर से आना है, चूंकि भावनगर में ट्रांसपोटर्स की हड़ताल है तो, हमने सागर के ट्रांसपोर्टर्स बात कर ली है, आगाम दो दिन में यह 50 जम्बो ऑक्सीजन सिलेण्डर खुरई मे उपलब्ध हो जाएंगे।  
मंत्री श्री सिंह ने कहा कि, डाॅक्टर्स, नर्स और टेक्निकल स्टाॅफ की कमी को पूरा करने कांट्रेक्ट असाइनमेंट पर जितना चाहें उतने स्टाॅफ की भर्ती कर सकते हैं। सरकार की तरफ से छूट है कि जितना स्टाफ रखना चाहें रख सकते हैं पर किसी मरीज को कोई परेशानी नहीं होती चाहिए।  मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने यह भी कहा कि, हमारी लोगों से अपील है कि, मास्क का सही उपयोग करें आपको कभी कोरोना का संक्रमण नहीं हो सकता, समय-समय पर हाथों को साफ करें और अनावश्यक घर से न निकलें। मंत्री श्री सिंह ने सिविल अस्ताल में सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करने बीएमओ खुरई को निर्देशित किया। अस्पताल में पानी की समस्या को दूर करने तत्काल नगर पालिका द्वारा बोर की व्यवस्था की जाएगी। 
 मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने प्रशासन को निर्देश देते हुए कहा कि, जो भी व्यक्ति मास्क के बिना मिलें उनके खिलाफ चालानी कार्यवाई की जाए। हो सके तो अन्य शहरों की तर्ज पर खुरई में भी खुली जेल बनाकर मास्क का उपयोग न करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करें। कार्यक्रम को कलेक्टर दीपक सिंह ने संबोधित किया उन्होंने ने खुरई सिविल अस्पताल के चिकित्सकीय स्टाफ को आवश्यक निर्देश दिए और लोगों से मास्क लगाने की अपील की।

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें


SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive