SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

मंगलवार, 11 मई 2021

एमपीईबी कर्मचारियों से सौतेला व्यवहार, वैक्सीन लगाने से इनकार ★ सरकार ने माना फ्रंटलाइन वर्कर, स्वास्थ्य विभाग ने टीकाकरण कराने से किया इनकार

एमपीईबी कर्मचारियों से सौतेला व्यवहार, वैक्सीन लगाने से इनकार
★ सरकार ने माना फ्रंटलाइन वर्कर, स्वास्थ्य विभाग ने टीकाकरण कराने से किया इनकार 

सागर। बिजली कंपनी के फील्ड वर्कर और शहर को रोशन रखने वाले फ्रंट लाइन वर्कर से स्वास्थ्य विभाग सौतेला व्यवहार कर रहा है।   सरकार ने इन्हें फ्रंटलाइन वर्कर जरूर माना है, लेकिन  स्वास्थ्य विभाग ने इन्हें वैक्सिनेशन कराने से इनकार कर दिया है, जिस कारण विभाग के सैकड़ों कर्मचारियों में नाराजगी बनी हुई है। 
जानकारी अनुसार मंगलवार को पीटीसी ग्राउंड में 18 साल से ऊपर वाले फ्रंट लाइन वर्कर के लिए कोरोना की वैक्सिनेशन कैम्प लगाया गया था। जब बिजली विभाग के कर्मचारी यहां वैक्सिनेशन कराने पहुंचे तो जिला टीकाकरण अधिकारी ने उन कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाने से इनकार कर दिया। बिजली विभाग के अधिकारियों ने जब कोरोना योद्धा और फ्रंट लाइन वर्कर होने का सरकार का पत्र दिखाया तो भी स्वास्थ्य विभाग नहीं माना और बिजली कर्मचारियों को बैरंग लौटा दिया।
उल्लेखनीय है कि बिजली कंपनी के सैकड़ो कर्मचारी स्वास्थ्य विभाग के इस रवैये से नाराज हैं। कई कर्मचारी बीमार भी हैं तो दर्जनों अधिकारी-कर्मचारी कोरोना संक्रमित भी हो चुके हैं। 2 अधिकारियों की कोरोना से जान भी जा चुकी है। ऐसे में यदि सामूहिक अवकाश या हड़ताल जैसी स्थिति बनी तो BMC, जिला अस्पताल, अन्य कोविड सेंटरों, अस्पतालों सहित शहर में अंधेरा छा जाएगा।

इधर जानकारी अनुसार मौके पर कर्मचारी वैक्सिनेशन करा रहे थे, बिजली विभाग के कुछबल कर्मचारियों को वैक्सीन लगी भी थी, लेकिन मौके पर पहुंचे जिला टीकाकरण अधिकारी ने मना करा दिया। 

उन्हें फ्रंट लाइन वर्कर का सर्टिफिकेट अपलोड करना पड़ेगा

पीटीसी ग्राउंड पर 45 से ऊपर वालों का वैक्सिनेशन हो रहा है। 18 से ऊपर वालों का नहीं है। यदि एमपीईबी वालों को फ्रंटलाइन वर्कर के तहत टीकाकरण कराना है तो उन्हें पहले यह सर्टिफिकेट अपलोड करना पड़ेगा, उसके बाद ही वैक्सिनेशन हो सकेगा। 

- एसआर रोशन, जिला टीकाकरण अधिकारी।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें


SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive