SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

सोमवार, 10 मई 2021

SAGAR: निजी कोविड़ हॉस्पिटलों की जांच जारी, दो हॉस्पिटलों में मिली कमियां, नोटिस जारी ★ निजी चिकित्सालय कोविड गाइडलाइन के तहत तय कीमतों के अनुसार करें इलाज : कलेक्टर

SAGAR: निजी कोविड़ हॉस्पिटलों की जांच जारी, दो हॉस्पिटलों में मिली कमियां, नोटिस जारी

★ निजी चिकित्सालय कोविड गाइडलाइन के तहत तय कीमतों के अनुसार करें इलाज : कलेक्टर
 
सागर । समस्त निजी चिकित्सालय कोविड गाइडलाइन के तहत तय कीमतों के अनुसार करें इलाज उक्त निर्देश कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने समस्त निजी चिकित्सालय के संचालकों को दिए ।
कलेक्टर श्री सिंह ने बताया कि  कोरोना संक्रमण के चलते मध्यप्रदेश शासन द्वारा 
जिले की  9  निजी चिकित्सालय  को आयुष्मान भारत योजना के तहत चयनित किया है और निजि चिकित्सालय में आयुष्मान कार्ड धारियों का निशुल्क इलाज किया जाएगा। साथ ही अन्य लोगों का भी इलाज किया जा रहा है  ।उन्होंने बताया कि समस्त निजी चिकित्सालय शासन द्वारा तय की गई  कीमतों के अनुसार ही इलाज करें  जिसके लिए निरंतर निजी चिकित्सालय ओं का निरीक्षण जारी रहेगा।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट

कलेक्टर श्री दीपक सिंह के निर्देश पर सोमवार को  डॉ.सुरेश बौद्ध मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सागर एवं निरीक्षण दल में उपस्थित डॉ.एम.एल.जैन एवं प्रीत स्वरूप र्ड्ग इंस्पेक्टर द्वारा निजी नर्सिंग होम में कोविड के मरीजों का इलाज संबंधी निरीक्षण किया गया ।
सर्व प्रथम आयुष्मान नर्सिंग होम तिली रोड सागर में संचालक, डॉ.कविता गहलोत उपस्थित थी ।कोविड मरीजों की भर्ती हेतु दिशा सूचक वोर्ड नहीं थे इससे आमजन को कोविड अस्पताल की जानकारी का पता नहीं चल रहा था । इसके बाद बालाजी हास्पिटल तिली का निरीक्षण किया गया जिसमें पाया गया कि कोविड मरीज 15 भर्ती थे परन्तु एलोपैथी चिकित्सा धारी डॉक्टर कोई चिकित्सक इलाज हेतु उपस्थित नहीं थे । 


तीनबत्ती न्यूज़.कॉम
SAGAR: चार निजी हॉस्पिटलों में मिली खामियां,इलाज  नाम पर मनमानी वसूली तो कही स्टाफ की कमी, जमकर दिखी  भीड़भाड़, कलेक्टर ने कराई जांच, मिलेंगे नोटिस -


इसके बाद श्री चैतन महा प्रभु हास्पिटल तिली रोड को निरीक्षण किया गया जिसमें भीड-भाड़ थी मरीजो को देखने में कापी समय लग रहा था इस कारण मरीज एवं उनके परिजन काफी आक्रोशित हो रहे थें । सभी संचालकों को आयुष्मान कार्ड पात्र धारक कोविड संक्रमित पीड़ित को 20 प्रतिशत बेड आरक्षित करने उन्हे आयुष्मान भारत योजनान्तर्ग उपचार करने निर्देश दिये एवं सभी संचालाकों को कारण बताओं नोटिस जारी किये गये । सभी नर्सिंग होम के संचालको से संतोषजनक उत्तर प्राप्त न होने की स्थिति में वैधानिक कार्यवाही की जावेगी । 


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें


SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive