जंय श्री गणेशाय नमः

बुधवार, 12 मई 2021

SAGAR: आयुष्मान योजना के तहत अभी तक 18 कोविड मरीज भर्ती , हॉस्पिटल में ही बन सकते है कार्ड

SAGAR: आयुष्मान योजना के तहत अभी तक 18 कोविड मरीज भर्ती , हॉस्पिटल में ही बन सकते है कार्ड


सागर।  मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना के तहत समस्त पात्र हितग्राहियों को लाभ मिले एवं पंजीकृत अस्पतालों के द्वारा पात्र हितग्राहियों का निःशुल्क उपचार किया जाए इस संबंध में मुख्य सचिव श्री इक़बाल सिंह बैस की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक आयोजित की गई। बैठक में प्रदेश के समस्त जिला कलेक्टर्स मौजूद थे। सागर से कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने इस बैठक में भाग लिया।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट


कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने बताया कि, आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत पात्र हितग्राहियों को निःशुल्क उपचार की सुविधा दी गई है। इस योजना के अंतर्गत सागर के 9 निजी अस्पतालों को भी पंजीकृत किया गया है। वर्तमान में सागर ज़िले में क़रीब 15 लाख 82 हज़ार पात्र हितग्राही हैं जिससे सागर की लगभग 50 प्रतिशत जनसंख्या आयुष्मान योजना के तहत पात्र है।
कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने बताया कि, वर्तमान में सागर ज़िले में क़रीब 2 हज़ार मरीज़ उपचाररत हैं इनमें से लगभग 15 सौ व्यक्ति होम आइसोलेशन में रह रहे हैं जबकि 5 सौ व्यक्ति विभिन्न अस्पतालों में भर्ती हैं। कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने बताया कि अस्पतालों में भर्ती ऐसे मरीज़ जो आयुष्मान कार्डधारी हैं, उन्हें इस योजना के तहत लाभ दिया जाएगा।
उन्होंने बताया कि यदि कोई कोरोना संक्रमित व्यक्ति अस्पताल में भर्ती होता है और उसका आयुष्मान कार्ड नहीं है तो संबंधित अस्पताल तत्काल कार्ड बना सकता है और संबल कार्डधारी, राशन , पात्रता पर्ची के आधार पर संबंधित का इलाज शुरू कर सकता है।
उन्होंने बताया कि आयुष्मान योजना के तहत निजी अस्पतालों में अधिक से अधिक पात्र आयुष्मान कार्ड धारियों को भर्ती कर इलाज की सुविधा उपलब्ध कराएँ। इस संबंध में आयुष्मान मित्र तैनात करें एवं जनता की सुविधा को जागरूक करें। कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने बताया कि आज दिनांक तक सागर में कुल 18 व्यक्ति आयुष्मान योजना के तहत लाभ लेकर भर्ती हैं।

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------
 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive