SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

बुधवार, 12 मई 2021

महामृत्युंजय जाप ,त्राटक एवं प्राणायाम का विशेष अनुष्ठान वर्तमान कोरोना काल के निदान हेतु " विषय पर कार्यशाला आयोजित

''महामृत्युंजय जाप ,त्राटक एवं प्राणायाम का विशेष अनुष्ठान वर्तमान कोरोना काल के निदान हेतु " विषय पर कार्यशाला आयोजित


महू। डॉक्टर बी आर अंबेडकर सामाजिक विज्ञान विश्वविद्यालय महू द्वारा विषय ''महामृत्युंजय जाप त्राटक एवं प्राणायाम का विशेष अनुष्ठान वर्तमान कोरोना काल के निदान हेतु " पर योग अध्ययन शाला के माध्यम से एक राष्ट्रीय योग कार्यशाला का आयोजन किया गया ।जिसमें योगाचार्य डॉ अजय दुबे द्वारा महामृत्युंजय  और गायत्री श्लोक के जाप के साथ कार्यक्रम प्रारंभ किया तथा विभिन्न योगासन का महत्व बताते हुए उपस्थित समस्त श्रोताओं से ऑनलाइन माध्यम का प्रयोग करते हुए योगासन करवाएं तथा यह बताया गया कि सभी लोग नियमित योगाभ्यास करते रहेंगे तो हमारा शरीर निरोगी रहेगा योगाभ्यास से हम अपनी सांसो पर कंट्रोल कर ह्रदय को स्वस्थ बनाए रख सकते हैं यही नहीं विभिन्न योग को करने से क्या-क्या लाभ होते हैं 1. Kapalbhati का अभ्यास  से कफ दोष का निवारण होता है
2.Ujjayi प्राणयाम के अभ्यास से metabolism control रहता है.

3Bhastrika के अभ्यास से वर्तमान समय मे लंग की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है. 
4 Sheetali और sheetakari के अभ्यास से चरम रोग एवं ऊर्जावान, गर्मियों में करने से अधिक लाभकारी है. 

5. Nadishodhan के अभ्यास से बंद नासिका को खोलने में सक्षम है. 

6.Brahmari के अभ्यास से मन की शांति और सकारात्मक भाव उत्पन्न होता है. 


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट
  
महामृत्युंजय के अभ्यास से हमारी उम्र बड़ती है और अकस्मात मौत से बच सकते हैं 

त्राटक के अभ्यास से migrane से मुक्ति, गुस्सा कम होना. फोकस का बढ़ना, नकारात्मक भाव से सकारात्मक भाव. बातों पर प्रकाश डालते हुए आपने योग की महत्ता और उस पर श्लोक के प्रभाव को समझाया । डॉक्टर बी आर अंबेडकर सामाजिक विज्ञान विश्वविद्यालय महू  विषय ''महामृत्युंजय जाप त्राटक एवं प्राणायाम का विशेष अनुष्ठान वर्तमान कोरोना काल के निदान हेतु " पर योग अध्ययन शाला के माध्यम से एक राष्ट्रीय योग कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें योगाचार्य डॉ अजय दुबे द्वारा महामृत्युंजय  और गायत्री श्लोक के जाप के साथ कार्यक्रम प्रारंभ किया तथा विभिन्न योगासन का महत्व बताते हुए उपस्थित समस्त श्रोताओं से ऑनलाइन माध्यम का प्रयोग करते हुए योगासन करवाएं तथा यह बताया गया कि सभी लोग नियमित योगाभ्यास करते रहेंगे तो हमारा शरीर निरोगी रहेगा योगाभ्यास से हम अपनी सांसो पर कंट्रोल कर ह्रदय को स्वस्थ बनाए रख सकते हैं ।
 सायं कालीन सत्र में विश्वविद्यालय के सम्मानित शिक्षकों के अलावा 10 राज्यों के लगभग 100 से अधिक  योग प्रेमियों ने सहभागिता की ।   देवी अहिल्या विश्वविद्यालय इंदौर के प्रोफ़ेसर आर के शुक्ला जी भी इस कार्यक्रम में पधारे थे । इस कार्यक्रम की अध्यक्षता  कुलपति  प्रोफेसर आशा शुक्ला  ने किया तथा कार्यक्रम का संचालन डॉक्टर निशा अग्रवाल ने किया ।अंत में इस कार्यक्रम का आभार डॉ शैलेंद्र मिश्रा द्वारा किया गया। 

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें


SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive