रविवार, 17 अप्रैल 2022

SAGAR : स्कूल ऑफ एक्सीलेंस में पूर्व विद्यार्थी मिलन समारोह★ विधायक प्रदीप लारिया, अशोक मनवानी सहित कई पूर्व छात्र मिले जुले★ विधायक शेलेन्द्र जैन ने किया सम्मान

SAGAR : स्कूल ऑफ एक्सीलेंस में पूर्व  विद्यार्थी मिलन समारोह
★ विधायक प्रदीप लारिया, अशोक मनवानी सहित कई पूर्व छात्र मिले जुले
★ विधायक शेलेन्द्र जैन ने किया सम्मान

सागर।शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय गवर्नमेंट स्कूल के गुरुजनों का सम्मान समारोह एवं पूर्व छात्रों का मिलन समारोह विद्यालय के प्राचार्य आर के वैद्य एवं पूर्व छात्रों ने सामूहिक रूप से आयोजित किया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में विधायक शैलेंद्र जैन उपस्थित रहे कार्यक्रम में सभी गुरुजनों का पूर्व विद्यार्थियों ने चरण छू कर आशीर्वाद लिया और उनका सम्मान किया, विधायक शैलेंद्र जैन ने भी पहुंचकर सर्वप्रथम मंचासीन सभी गुरुजनों को चरण स्पर्श करके उनका आशीर्वाद प्राप्त किया। विद्यालय में प्रथम बार इस तरह का अनूठा कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें गुरुजन इतने उत्साहित और प्रसन्न रहें इसकी कोई सीमा नहीं थी ।उन्होंने सभी को खुले हृदय से आशीर्वाद प्रदान किया।



 कार्यक्रम में कार्यक्रम में वर्ष 1973 से 1980 तक बेच के विद्यार्थी विशेष रुप से उपस्थित थे इनके अतिरिक्त अन्य बैचों के विद्यार्थी भी उपस्थित हो गए थे। पूर्व छात्र जो सभी अपने अपने स्थान पर व्यवस्थित हैं उन्होंने अपनी अलग अलग पहचान अपने क्षेत्र में बनाई है ।जैसे नरयावली विधायक माननीय प्रदीप लारिया, डॉ आर के चौदा, आलोक अग्रवाल, सुदेश तिवारी, दिलीप श्रीवास्तव, अखलेश पाठक, दीपक दुबे, आशुतोष गोस्वामी, उपस्थित रहे पूर्व छात्रों में अनेकों छात्र इंजीनियर डॉक्टर आईईएस जैसी महत्वपूर्ण सेवाएं दे रहे हैं।




कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधायक शैलेंद्र जैन ने कहा कि आज हम कुछ भी बन जाए परंतु हम जो कुछ भी हैं हमारे इन भारत भाग्य विधाता गुरुजनों की बदौलत है उनके ही आशीर्वाद से आज मैं विधायक हूं आप इंजीनियर हैं आप डॉक्टर हैं और शिक्षक हैं, हमारे विद्यालय सागर का गौरव है आज यहां आप सभी को एक साथ देख कर बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं आप अलग-अलग विधाओं में अलग-अलग विद्यमान हैं और अपनी प्रतिभा से पूरे देश को महका रहे हैं, विद्यालय के पुराने भवन के निर्माण के संबंध में चर्चा करते हुए कहा कि जब मेरे प्रयासों से कुछ राशि पुराने भवन के जीर्णोद्धार के लिए लाई गई तब हमारे प्राचार्य आर के वैद्य जी ने मुझसे आकर मुलाकात की और एक नया ब्लॉक निर्माण करने की मांग रखी इस पर मैंने पहले पुनर्विचार करने की बात कही फिर समझ में आया कि यह अच्छा सुझाव है और आज जो नया भवन आप देख रहे हैं। यह वेद साहब की कल्पना का मूर्त रूप है उन्होंने हमारा संकल्प पूरा नहीं हुआ है बाकी के परिसर को भी हम बहुत जल्द एक भव्य नवीन भवन में तब्दील करेंगे।
कार्यक्रम में पूर्व शिक्षकों में मुख्य रूप से एच एस नेमा जी, एसआर श्रीवास्तव, एस के श्रीवास्तव, एके सिघई ,एनआर शर्मा ,आरके रजक, बी के भट्ट, वाय एल गोविलकर आदि मौजूद रहे। 

खूब मिले पुराने छात्र, हुई यादे ताजा

सागर के प्रतिष्ठित गवर्नमेंट मल्टीपरपज हायर सेकेंडरी स्कूल जो अब स्कूल ऑफ एक्सीलेंस है, के पूर्व वर्षों के विद्यार्थियों का मिलन समारोह  आज रविवार, 17 अप्रैल को सागर में विद्यालय परिसर में संपन्न हुआ  ।विधायक श्री शैलेंद्र जैन और श्री प्रदीप लारिया की उपस्थिति में वरिष्ठ अध्यापकों का सम्मान भी किया गया। स्व आर सी श्रीवास्तव की स्मृति में उनके परिवार ने उत्कृष्ट अध्यापकों और विद्यार्थियों का सम्मान किया। इसके साथ ही बीते वर्षो की यादों को ताजा करने के लिए विद्यार्थी  परस्पर चर्चा और संवाद करते दिखाई दिए । श्री मनोज श्रीवास्तव ने पिता स्व एसके श्रीवास्तव की स्मृति में मानवता पुरस्कार श्री अंकित तिवारी को प्रदान किया जिन्होंने कोरोना काल में लोगों की बहुत सहायता की।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट



अनेक विद्यार्थियों ने स्मृतियों को सहेज रखा है। अनेक विद्यार्थी पुरानी कक्षा देखने गए तो कई लोग खेल का मैदान और पुस्तकालय कक्ष ढूंढते नजर आए। स्कूल परिसर में चहल-पहल थी। अब यह स्कूल सह शिक्षा का केंद्र है। पुराने दौर के विद्यार्थियों में वर्ष 1973 बैच के चंद्रभान चंदवानी ने इस आयोजन के सूत्रधार दिलीप श्रीवास्तव को स्मृति चिह्न दिया।वर्ष 1981 के केपी सक्सेना, गंगा प्रसाद सक्सेना और संजय चतुर्वेदी ने पुरानी यादें ताजा की । पीआरओ अशोक मनवानी ने कहा कि वे आज स्कूल यूनिफार्म में बैग लेकर यहां आए हैं।इस स्कूल ने शिक्षा के साथ संस्कार भी दिए हैं। यहां फैकल्टी का अंतर हम भूल जाते थे। कला संकाय के विद्यार्थी विज्ञान प्रदर्शनी में हिस्सा लेते थे। वाणिज्य के विद्यार्थी विज्ञान की प्रयोगशाला में दिखाई देते थे और विज्ञान के विद्यार्थी खेल के मैदान में पदक जीतकर लाते थे।

 खेल शिक्षक श्री दुबे विज्ञान शिक्षक श्री केसी सिंघई  एनसीसी के पारंगत प्रशिक्षक श्री जीआर श्रीवास्तव, श्री कनौजिया श्री एसके श्रीवास्तव ,श्री आर सी रजक सहित अनेक वरिष्ठ शिक्षक कार्यक्रम में उपस्थित थे। अनेक विद्यार्थियों ने गीत भी सुनाए । आंचलिक लोक नृत्य बधाई,कालबेलिया और बुंदेली संस्कृति का परिचय देने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम भी हुए। दोपहर के भोजन में बुंदेली व्यंजन परोसे गए ।शिक्षकों और विद्यार्थियों को  स्मृति चिन्ह  भी प्रदान किए गए।

हंसी ठिठोली कुछ ऐसी चली विद्यार्थियों की कि  देर तक हंसते रहे सब

संजय चतुर्वेदी 1981 बेच ने पंचर ठीक कराने के लिए 50 पैसे अशोक मनवानी से 1981 में लिए थे जो उन्होंने इतने बरस की मुलाकात के बाद आज लौटाए और कहा आपकी उधारी ₹2 के रूप में वापस कर रहा हूं ।सुनते ही ठहाके गूंज उठे।

श्री  श्रीवास्तव जी का हुआ सम्मान
वरिष्ठ प्राध्यापक श्री जी आर श्रीवास्तव जी ने जो अनुशासन सिखाया वो विद्यार्थियों के जीवन में आज भी दिखाई देता है ।विधायक श्री शैलेंद्र जैन ने जीआर सर का सम्मान किया।
स्कूल ने दी है अनोखी प्रतिभाएं
सागर के शा उच्चतर मा विद्यालय का पूर्व विद्यार्थी मिलन आज हुआ जिसमें वरिष्ठ गुरुजन का सम्मान किया गया।विद्यालय से शिक्षा प्राप्त करने के बाद जीवन  में अनेक सफलताएं प्राप्त करने वाले लोगों की लंबी सूची है।
 इस स्कूल से पढ़कर निकले विद्यार्थियों में कई  अभियंता हो गए। कुछ प्रथम श्रेणी अधिकारी हैं। कोई मंत्री के ओएसडी तो कोई मुख्यमंत्री के जनसंपर्क अधिकारी हैं। कुछ पत्रकार भी हैं।
इसके अलावा अनेक प्रतिष्ठित व्यवसायी , वकील और मैनेजमेंट गुरु भी बन चुके हैं। कुछ शिक्षा जगत को प्राचार्य और अध्यापक के रूप में  महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं।


0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense