SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

शुक्रवार, 8 मई 2020

सागर जिले में कोरोना से पहली मौत, बीना में बना कन्टेनमेट क्षेत्र, भाग्योदय तीर्थ के चिकित्साकर्मियों को किया होम कवारेन्टीन

सागर जिले में कोरोना से पहली मौत, बीना में बना कन्टेनमेट क्षेत्र,  भाग्योदय तीर्थ के चिकित्साकर्मियों को किया होम कवारेन्टीन


सागर। सागर जिले के बीना के एक मरीज की इलाजे के दौरान भोपाल में मौत हो गई। जिसकी पाजिटिव रिपोर्ट आई है । उसके भोपाल में ही अंतिम संस्कार के बाद बीना में पूरे इलाके को प्रतिबंधित कर स्क्रीनिग और अन्य सतर्कताये शुरू के दी गई है। इस मरीज का सागर के भाग्योदय तीर्थ असप्तताल में भी इलाज चला था। यही से भोपाल भेजा गया था। इस कारण भाग्योदय तीर्थ के डॉक्टर्स/कर्मचारियों को क़वारेंटतीं कर सेम्पल लिए जाएंगे। आज कलेक्टर प्रीति मैथिल और एसपी अमित सांघी ने बीना और भाग्योदय तीर्थ पहुचे। जहा व्यवस्था सम्बन्धी निःर्देश दिए।

सागर जिले की पहली मौत कोरोना से,  भाग्योदय तीर्थ  से गया था भोपाल

सागर जिले के बीना  के गांधी वार्ड मे रहकर संतराम यादव बहराइच उप्र झाडू बेचने का काम करता था।और बीते दिनों से अस्वस्थ था । जिसका इलाज पहले बीना में किया गया। यहां तीन डॉक्टरों के पास इलाजे हुआ। इस दौरान उसने कुछ प्रभावशाली लोगों से मदद भी मांगी। इसके बाद में इलाज के लिए सागर भी आया । यहां भाग्योदय तीर्थ हॉस्पिटल में इलाजे चला। उसके बाद उसे भोपाल रेफर किया गया था ।
कल गुरुवार को भोपाल के कोरोना सेंटर मे उसकी इलाज के दॊरान मॊत हो गयी। उसकी मौत की खबर से बीना में हड़कम्प मंच गया।
उधर इस मामले में भाग्योदय तीर्थ की लापरवाही भी सामने आई है। संतराम की जांचों में फेफड़ों में कफ आदि की शिकायत थी। ऐसे में  निर्देशो के मुताबिक सागर कोविड हॉस्पिटल में मरीज को भेजा जाना चाहिए था। लेकिन उसे निजी एम्बुलेंस से भोपाल भेजा गया।

कलेक्टर - एसपी पहुचे बीना

कोरोना पाजिटिव मरीज संतराम की मौत के बाद बीना में तेजी से व्यवस्थाएं बदली। गांधी वार्ड और उसके आसपास के इलाके को कन्टेनमेट क्षेत्र घोषित कर दिया गया। मौके पर कलेक्टर प्रीति मैथिल और एसपी अमित सांघी यहां पहुचे और व्यवस्थाओं का निरीक्षण कर आवश्यक निःर्देश दिए। 
कलेक्टर ने बताया कि इलाके को कंटेन्मेंट क्षेत्र बना दिया गया है। मरीज की कांटेक्ट और ट्रेवल हिस्ट्री पता कि जा रही है । अभी तक जितने भी चिनिहत  हुए है उनको होंम कवारेंटायन कर ICMR की गाईड लाईन के मुताबिक उनकी सेम्पलिंग होंगी। उन्होंने कहा कि बीना बड़ा शहर है सभी लोग सावधानी और सतर्कता बरते। मामले कि  जांच  कराई जा रही है। उन्होंने कहा कि भाग्योदय तीर्थ में भी उसका इलाज हुआ है। वहा पर मरीज का चेकअप करने वाले  डॉक्टर्स और और सम्बन्धितों को कवारेन्टीन कराया है। इनकी सेम्पलिंग होंगी।

हरियाणा में फंसे  मजदूर सागर आये स्पेशल ट्रेन से,हाथ हिलाकर किया ख़ुशी का इजहार

कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक ने बीना के गांधी वार्ड कंटेनमेंट क्षेत्र का निरीक्षण किया

 कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक और पुलिस अधीक्षक श्री अमित सांघी ने बीना का दौरा किया। उन्होंने गांधी वार्ड का भ्रमण कर बीएमओ, एसडीएम और पुलिस विभाग के अधिकारियों को आवष्यक दिषा निर्देष दिये। उन्होंने कंटेनमेंट क्षेत्र में कोरोना संक्रमण की रोकथाम संबंधी  निर्देषों का कड़ाई से पालन करने कहा। प्रशासन ने मृतक के साथी को सागर बीएमसी मे रखा है। मृतक की ट्रेवल हिस्टी की जांच की जा रही है। बीना मे डाक्टर के यहां मृतक ने इलाज कराया था। मृतक बीना के गांधी वार्ड मे रहकर झाडू बेचने का काम करता था और बीते दिनों से अस्वस्थ था जिसका इलाज पहले बीना में किया गया तथा बाद में इलाज के लिए सागर भी आया जहां से वह इलाज के लिए भोपाल चला गया था।
गुरुवार को भोपाल के कोरोना सेंटर मे उसकी इलाज के दौरान मौत हो गयी थी। कलेक्टर, एस पी ने कंटेनमेंट एरिया का दौरा कर पूरे मामले की जांच करने की बात कही और मृतक व उसके साथियो की ट्रेवल हिस्टी की जानकरी ली जा रही है। कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल ने कहा कि आईसीएमआर की गाइडलाइन के तहत संबंधित क्षेत्र  गांधी वार्ड को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित कर कर प्रतिबंधित कर दिया गया है और जो भी आवश्यकता महसूस होगी उसका पालन कराया जाएगा। 

पढ़िए : सागर में बकायादार बिजली उपभोक्ताओं के कनेक्शन काटे जाने को मिली हरी झंडी

उन्होंने कहा कि एसडीएम सुश्री अमृता गर्ग निरंतर निगरानी बनाए हुए हैं। संबंधित विकासखंड मेडिकल अधिकारी स्वास्थ्य टीम के माध्यम से स्वास्थ्य सर्वे करा रहे हैं। जिस अस्पताल के जिन  डाक्टरों ने एवं पैरामेडिकल स्टाफ ने संबंधित व्यक्ति का इलाज किया था उनको आज क्वॉरेंटाइन किया गया है। पुलिस अधीक्षक श्री अमित सांघी ने बताया कि पूरे कंटेनमेट क्षेत्र में पुलिस की समुचित व्यवस्था

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive