जंय श्री गणेशाय नमः

शनिवार, 20 जून 2020

अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर घर पर ही करें योग,हमारी जीवन शैली है योग विज्ञान में :योगाचार्य विष्णु आर्य

अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर घर पर ही करें योग,हमारी जीवन शैली है योग विज्ञान में  :योगाचार्य विष्णु आर्य


सागर। जानेमाने योगाचार्य और योग निकेतन - योग प्रशिक्षण संस्थान सागर  के संचालक  विष्णु आर्य ने अपील की है कि विश्व योग दिवस 21 जून को सभी  घर पर टीवी और सोशल मीडिया के माध्यम से सुबह प्रधानमंत्री के संदेश के साथ मनाए और योगाभ्यास करे ।अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर घर पर ही करें योग। कॉमन योगा प्रोटोकाल का प्रातः 7 बजे से दूरदर्शन एवं अन्य सोशल मीडिया प्लैट्फ़ॉर्म पर प्रसारित होगा।  वर्तमान कोविड-19 संक्रमण डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अपने घर पर ही रहकर पूरे प्रदेश में एक ही समय पर स्वैच्छित रूप से आयोजित किया जाना है।

पढ़े : डॉ गौर विवि की जमीन पर अतिक्रमण/ निर्माण को लेकर विवि प्रशासन ने दिया नोटिस

प्रदेश के योग पुरस्कार स्वामी विवेकानंद सम्मान के लिए चयनित और एमपी योग परिषद के उपाध्यक्ष विष्णु आर्य ने कहा कि योग हमारी प्राचीन सँस्कृति  है । प्रधान मन्त्री श्री मोदी ने विश्व स्तर पर एक नई पहचान दी। वास्तव योग एक जीवन शैली है। कोरोना आपदा हो या संकट की घड़ी योगाभ्यास हमेशा लोगो के काम आता है । खासतौर से मानसिक तनाव को दूर करने में । योग हमारी मानसिक , शारीरिक और सामाजिक उन्नति करते रहे है। निजी क्षमताओं को बढाने में कारगर है।

पढ़े : 16 पुलिस उपनिरीक्षकों के तबादले

पढ़े MP : 27 पुलिस निरीक्षकों के तबादले

जैसे खाना-पीना जरूरी उसी तरह योग भी

उन्होंने योग दिवस पर अपने संदेश में कहा कि पहले से कही ज्यादा वर्तमान हालातो में योग जरूरी है। खासतौर से युवा पीढ़ी को तनाव से मुक्त और स्वस्थ्य रहने की दिशा में। जिस तरह 
से जीवन मे रोटी,कपड़ा और मकान जरूरी है। वैसे योग विज्ञान भी। तभी हम बेहतर समाज को बना पाएंगे। 
योगाचार्य विष्णु आर्य कई पुरस्कारों से संम्मानित हो चुके है। 84 वर्षीय श्री आर्य को एमपी सरकार का पिछड़ावर्ग के क्षेत्र में दिए जाने वाला रामजी महाजन सम्मान भी मिल चुका है। उन्होंने कहा कि कोरोना आपदा में शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने और मानसिक तनाव से मुक्ति का एक बड़ा माध्यम पूरे विश्व मे योग- ध्यान-प्राणायाम में दिखा। इस परिस्थिति में हमे योग ही अपनाना चाहिए। 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे

ट्वीटर  फॉलो करें
@weYljxbV9kkvq5Z

कोरोना काल मे अनेक लोगो ने इस सबन्ध में सम्पर्क भी किया। यही वजह है कि क्वारेन्टीन सेंटरों और हॉस्पिटल में योगाभ्यास पर जोर दिया जा रहा है।  योगाचार्य श्री आर्य ने  कोरोना आपदा में वीडियो और अन्य माध्यमो से लोगो को योगाभ्यास कराया है। योगाचार्य विष्णु आर्य पिछले 50 से अधिक वर्षों से सागर में योग की परंपरा को बढ़ा रहे है। देशभर में प्रचारप्रसार में जुटे हुए  है। 
उन्होंने कहा कि योग में संस्कार भी मिलेंगे। वही पेसो की बचत भी होंगी और स्वस्थ्य भी रहेंगे। उन्होंने सभी से आग्रह किया कि रोजाना आधा घण्टे इसका अभ्यास करे। उचित गुरु या शिक्षक से मार्गदर्शन लेकर ही अभ्यास करें क्योंकि कुछ बीमारियों में कुछ आसनों का अभ्यास वर्जित है। 

---------------------------- 


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885

-----------------------------

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive