गुरुवार, 18 जून 2020

सागर : अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझी,टोल नाकों के सीसीटीवी कैमरों के सहारे मिला हत्या का सुराग

सागर : अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझी,टोल नाकों के सीसीटीवी कैमरों के सहारे मिला हत्या का सुराग

★हत्यारा  ट्रक ड्राईवर, अवैध सम्बन्ध थे फिर भी शक बनी हत्या का कारण,युवती और आरोपी यूपी के



सागर। सागर जिले के छानबीला के जंगलों में एक युवती की अंधे कत्ल को पुलिस ने सुलझाने में सफलता पाई है। आरोपी और मृतिका दोनो यूपी के रहने वाले है। आरोपी ट्रक ड्राईवर इस महिला को रखे हुए था। प्रेग्नेंट होने पर  शक हुआ तो उसने हत्या कर दी। पुलिस को सिर्फ एक cctv में एक ट्राला का फोटो मिला था। जिसके आधार पर टोल नाको के कैमरों के फुटेजों के सहारे पुलिस वारदात की तह तक पहुची और आरोपी को पकड़ने में कामयाब रही।
पुलिस अधीक्षक अमित सांघी और ASP  प्रवीण भूरिया ने आज मीडिया के सामने पूरे घटना का खुलासा किया। एसपी सांघी के मुताबिक इस वारदात में साइबर सेल ने काफी मेहनत की। कैमरे में सिर्फ एक सफेद कलर का ट्रक था। जिसके सहारे छानबीन चली। सन 2020 में अब कोई अंधा कत्ल नही बचा है। जिसका खुलासा न हो सका हो।

पढ़े : भारत सरकार द्वारा देशभर में सागर जिले को सर्वाधिक 4 पुरूस्कार , चार पंचायतों को

पुलिस के मुताबिक 7 जून को  थाना छानबीला पर सूचना प्राप्त हुई कि हाइवे से कुछ दूरी पर थ जंगलों में एक युवती की लाश पड़ी है । जिसके सिर पर चोट है सूचना पर मौके का मुआयना करने के बाद थाना छानबीला में अज्ञात आरोपी के विरूद्ध धारा 302,201 भादवि का अपराध दर्ज किया गया। मौके पर एफ.एस.एल. टीम पहुंची तथा पटना स्थल में एक चार पहिया वाहन का दरवाजे का हैंडल तथा अन्य साक्ष्य जप्त किये गये। महिला के गले में ताबीज था, जिसे खोलकर देखा गया तो उसमें एक
कागज मिला जिसमें उर्दू की आयतें लिखी थी, जिसमें महिला के धर्मविशेष का होने का संदेह हुआ।
युवती की अंधी हत्या का मामला होने से सभी वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा मौके का निरीक्षण किया गया। पुलिस अधीक्षण सागर  अमित सांधी द्वारा अज्ञात आरोपी की पतासाजी पर दस हजार रूपये का पारितोषिक की घोषणा कर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सागर  प्रवीण भूरिया के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया।

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे

ट्वीटर  फॉलो करें
@weYljxbV9kkvq5Z


छह पहियों का ट्रक दिखा कैमरे में 

टीम ने थाना  के सामने लगे सीसीटीव्ही वैमरे को खंगाला तो घटना की रात्रि छः चका
कंटेनर जिस पर सफेद पट्टी थी, थाने से कुछ दूरी पर खड़ा होकर भोपाल तरफ जाता दिखा तत्काल दो टीमें बनाकर हाइवे पर 100 कि.मी. दोनों तरफ भेजकर इसी हुलिए के डंपर की तलाश कराई गई, जो गुलगंज छतरपुर के टोल बैरियर पर इसी हुलिए का कंटेनर दिखा, जिसका नंबर MH 46 BF 6940 था । जिसमें
अस्पष्ट धुंधले तरीके से एक लड़की भी बैठी दिखाई गई, इस लीड के मिलने पर विभिन्न इंटरनेट साइट एवं सायबर सेल की मदद से कंटेनर की जानकारी निकाली गई, जो कंटेनर नवी मुंबई के जहांगीर अहमद का होना पाया गया एवं इंडस बैंक से फायनेंस होना पाया गया।यह जानकारी मिलने पर म.प्र. के सभी
इंटरस्टेट टोल नाकों को सूचित किया गया, दिनांक 16.06.2020 को एक टोल प्लाजा से सूचना प्राप्त हुई कि उक्त्त कंटेनर महोबा से म.प्र. की ओर आ रहा है, सूचना पर रास्ते के सभी थानों पर चैकिंवा लगाई गई एवं छतरपुर के उवत्त टैंकर को पकड़कर थाना लाया गया।
टैंकर में ड्राईवर आमिर खान मिला, जिससे पूछताछ एवं जांच पर से जानकारी मिली कि यह कंटेनर मुंबई नहीं जाता है।  पटना बिहार, नेपाल जाता है, ड्राइवर आमिर खान मूल रूप से उ.प्र. बलरामपुर का रहने वाला है ।

पढ़े : सागर :विशेष किशोर पुलिस ईकाई ने रुकवाया बाल विवाह

नेपाल आने जाने के दौरान यवती के सम्पर्क में आया हत्यारा

 नेपाल आने-जाने के क्रम में गोंडा (उ.प्र.) की इटियाटोल निवासी एक युवती के संपर्क में
आया एवं युवती से अपना शादीशुदा होने का तव्य छुपाकर पति पत्नी की तरह रहने लगा एवं युवती को गोण्डा में एक कमरा दिला दिया। युवती के गर्भवती होने पर आमिर को शक हुआ कि बच्चा उसका नहीं है और उसने युवती को मारने का प्लान बनाया, इसी बीच में युवती को भी आमिर के शादीशुदा होने का पता चल गया था, तो वह भी आमिर को धमकाने लगी थी ।आमिर युवती को अच्छे से पत्नी की तरह रखने का कहकर कंटेनर में अपने साथ लाया एवं दिनांक 06 व 07 जून की दरम्यानी रात वाना छानबीला के पास वन भूमि प्लानटेंशन के पास कंटेनर खड़ा कर आराम करने का कहकर युवती को ले गया एवं पहिया खोलने के लीवर से सिर पर आठ-दस वार कर हत्या कर दी, बाद कंटेनर लेकर भोपाल की ओर चला गया।
घटनास्थल से बरामद टूटा हैंडल भी दरवाजे से मैच कर गया। आरोपी ने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया, जिसका 05 दिवस का पी.आर. लिया जा रहा है, गोण्डा जाकर अग्रिम विवेचना की जाएगी।

पढ़े : कोरोना मरीजों की हुई मौतों की डेथ आडिट व अनियमित्ताओं की जांच की मांग की ,पूर्व मन्त्री सुरेंद्र चोधरी ने

इनकी भूमिका रही सराहनीय

अंधे कत्ल की पतासाजी की संपूर्ण कार्यवाही थाना छानबीला से एसडीओपी उमराव सिंह, उनि अरविन्द सिंह ठाकुर,सउनि राजाराम धुर्वे, 
 जितेन्द्र सिंह, रघुबीर प्रसाद, रविशंकर , गोविन्द , दिनेश, बृनंदन ,राजकुमाररबिन्द्र सिंह, आनंद  बादल,घरमदास,  रामकिशोर महिला आरक्षक आरती  बैजन्ती, पुष्मेन्द्र सिंह थाना बण्डा साईबर सेल से . अमित, अमर एवं कन्ट्रोल रुप प्रभारी उनि राजेन्द्र चौबे, उनि राजकुमार सिंह चौहान का विशेष योगदान रहा है ।

---------------------------- 


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885

-----------------------------


0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive