मध्यप्रदेश में लगभग 135 लाख मैट्रिक टन किया जाएगा गेंहू उपार्जित -खाद्य, नागरिक आपूर्ति प्रमुख सचिव श्री किदवई

सोमवार, 25 जनवरी 2021

डॉक्टर शुभम उपाध्याय के परिजनों को मरणोपरांत शासन से प्राप्त हुई 50 लाख रुपए की राशि

डॉक्टर शुभम उपाध्याय के परिजनों को मरणोपरांत शासन से प्राप्त हुई 50 लाख रुपए की राशि


सागर।  कोरोना योद्धा डॉक्टर शुभम उपाध्याय के नाम से आज पूरा शहर परिचित है। डॉक्टर शुभम जो विगत दिनों बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में पदस्थ रहते कोरोना पीड़ितों की मदद करते करते स्वयं करोना पीड़ित हो गए थे और संक्रमण के चलते उनकी असमय मृत्यु हो गई थी। जिससे ना केवल शुभम के परिजन बल्कि संपूर्ण जिला दुखमय हो गया था।

उल्लेखनीय है कि डॉ उपाध्याय की मृत्यु के उपरांत शासन की गाइडलाइन के अनुसार कलेक्टर श्री दीपक सिंह द्वारा कोरोना योद्धा की समस्त कार्यवाही संपूर्ण करवाते हुए यह प्रस्ताव मध्यप्रदेश शासन को प्रस्तुत किया गया।प्रस्ताव के परीक्षण करने के उपरांत मध्यप्रदेश शासन के स्वास्थ्य विभाग द्वारा यह प्रस्ताव प्रधानमंत्री कार्यालय प्रस्तुत किया गया। प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा प्रस्ताव का परीक्षण करने के उपरांत डॉ उपाध्याय के परिजनों को 50 लाख रुपए की राशि हस्तांतरित की गई। उक्त राशि डॉ उपाध्याय के पिता श्री सुदामा प्रसाद उपाध्याय के स्टेट बैंक केसली शाखा के खाता में हस्तांतरित की गई। यह राशि मिलने में देरी को लेकर मीडिया में खबरे भी प्रकाशित हुई थी। पूरे दो महीने बाद परिजनों को यह राशि मिली। 


एबीपी न्यूज़
Special Report: कोरोना से जान गंवाने वालों को याद कर भावुक हुए PM Modi, शहीदों के घर पहुंचा abp News
कोरोना योद्धा डॉ शुभम उपाध्याय के परिजनों को नही मिली 50 लाख की राशि..


डॉक्टर शुभम उपाध्याय के पिता श्री सुदामा प्रसाद उपाध्याय से बात करने पर उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन सहित मध्यप्रदेश शासन ने उनकी बहुत मदद की है। उन्होंने मध्यप्रदेश शासन से अपेक्षा की है कि उनके पुत्र डॉक्टर शुभम उपाध्याय के मरणोपरांत कोरोना योद्धा का प्रमाण पत्र भी प्रदान किया जाए। श्री उपाध्याय ने प्रशासन से यह भी माँग की है कि उनके  छोटे पुत्र सत्यम उपाध्याय जो सैम कॉलेज भोपाल में बीएएमएस के द्वितीय वर्ष में अध्ययनरत हैं, उसको अनुकंपा नियुक्ति प्रदान की जाये।

 उन्होंने बताया कि जब मेरे बैंक खाते में यह राशि मोबाइल के माध्यम से प्राप्त होने की उन्हें सूचना मिली तो उन्होंने सर्वप्रथम उनके छोटे बेटे सत्यम उपाध्याय एवं धर्मपत्नी श्रीमती अर्चना उपाध्याय को इसकी जानकारी दी जिससे सभी लोग भावुक हो गए। उन्होंने बताया कि उनके पुत्र डॉक्टर शुभम उपाध्याय ने पूरी ईमानदारी एवं लगन से कोरोना काल में कोविड वार्ड  में अपनी सेवाएं प्रदान की।

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive