अभियोजन अधिकारियों की साग़र संभाग की एक दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न

शनिवार, 30 जनवरी 2021

सागर का होगा सुनियोजित विकास, 535 करोड़ रुपये की घोषणाएं मुख्यमंत्री ने ★ सागर के पाँच साल के विकास के रोडमैप की मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की समीक्षा

सागर का होगा सुनियोजित विकास, 535 करोड़ रुपये की घोषणाएं मुख्यमंत्री ने

★ सागर के पाँच साल के विकास के रोडमैप की मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की समीक्षा

सागर । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने आज नगर निगम सागर और मकरोनिया नगरपालिका क्षेत्र के विकास कार्यो की समीक्षा करते हुए करीब 535 करोड़ रुपये के कामो की घोषणा की । जिनमे एलिवेटेड कॉरिडोर, ट्रांसपोर्ट नगर , डेरी विस्थापन, शॉपिंग कॉम्प्लेक्सओ का उन्नय्यन आदि है। एक पूरा रोडमेप पांच साल का तैयार किया। इन कामो की जानकारी सीएम शिवराज सिंह ने मीडिया से चर्चा में दी। उन्होंने घोषणाओं की झड़ी लगा दी। उन्होंने कहा कि अब सागर का सुनियोजित विकास होगा। 

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सभा स्थल पर
370 करोड़ के कार्यों का भूमिपूजन किया। 10
करोड़ 92 लाख की लागत से सिटी स्टेडियम का पुर्नविकास, 10 करोड़ 10 लाख की लागत से खेल परिसर का पुर्नविकास किया जाएगा। इसके साथ ही पुराने आरटीओ कैंपस का पुर्नविकास व इन्क्यूबेशन सेंटर (इनोवेशन व स्टार्टअप) पर 12 करोड़ 75 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। इन्क्यूबेशन सेंटर का प्रबंधन 3 करोड़ 75 लाख से किया जाएगा। जीआईएस तकनीक पर आधारित प्रॉपर्टी टैक्स का सर्वे होगा। घरों की डिजिटल नंबरिंग की जाएगी और शी लॉउंज के निर्माण पर 47 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। इस तरह 370 करोड़ की लागत से शहर में विभिन्न विकास कार्य किए जाएंगे।

साग़र शहर के लिए 535 करोड़ के कामों की घोषणा

* इंटिग्रेटेड बस स्टैंड : 100 करोड़

* एलिवेटिड कॉरिडोर का निर्माण : 85 करोड़

* ट्रांसपोर्ट नगर व मैकेनिक्स कॉम्प्लेक्स का
निर्माण : 30 करोड़

* हेरिटेज बावड़ी : 15 करोड़

* आईटी एनेविल फायर फाइटिंग सिस्टम : 30
करोड़

* मल्टीलेवल पार्किंग का निर्माण : 35 करोड़

स्मार्ट पोल और स्ट्रीट लाइट : 10 करोड़

* बुंदेली हाट बाजार का निर्माण : 30 करोड़

* एनर्जी एफिशिएंट लाइट और लाइट सेंसर : 25 करोड़

* डेयरी विस्थापन- 20 करोड़

 * साबूलाल मार्केट : 25 करोड़

* नया बाजार शॉपिंग कॉम्प्लेक्स : 50 करोड़

सागर के पाँच साल के विकास के रोडमैप की मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की समीक्षा 

मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सागर बुंदेलखंड का केंद्र है एवं बुंदेलखंड क्षेत्र का एक प्रमुख नगर है।  सागर एवं मकरोनिया नगर पालिका क्षेत्र के 2026 तक के रोडमैप की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि अब सागर में सुनियोजित ढंग से विकास होगा। समीक्षा बैठक में कलेक्टर श्री दीपक सिंह के द्वारा वर्ष 2021-22 से 2025-26  तक के रोडमैप की पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से विस्तृत जानकारी दी गई।
सागर स्मार्ट सिटी के अंतर्गत किए जा रहे कार्यों की समीक्षा के दौरान कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने बताया कि महिलाओं की सुरक्षा हेतु निर्भया एप तैयार की गई है। आवश्यकता पढ़ने पर उनकी त्वरित सहायता हेतु सागर स्मार्ट सिटी के अंतर्गत बनायी गईं ''निर्भया सागर'' ऐप को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सराहा तथा इसे एक अच्छा प्रयोग बताया। उल्लेखनीय है कि निर्भया सागर ऐप के माध्यम से महिलाएँ आवश्यकता पढ़ने पर पैनिक बटन के माध्यम से सहायता प्राप्त कर सकतीं हैं। इस एप को स्मार्ट सिटी के कमांडेंट एण्ड कंट्रोल सेंटर के माध्यम से संचालित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि शहर के विकास तथा यहां निवेष की दृष्टि से एयर कनेक्टिविटी वर्तमान समय में बहुत महत्वपूर्ण है। जिसके लिए उन्होंने ढाना हवाई पट्टी के विकास हेतु कार्य योजना बनाकर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि प्रारंभ में महानगरों के विकास का रोडमैप तैयार किया जा रहा है आगे नगर पालिकाओं, नगर पंचायतों, ग्राम पंचायतों के विकास के लिए भी रोडमैप बनाया जाएगा।

स्वच्छता रैंकिग में प्रथम 10 में आने का करें प्रयास

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सागर जिले को स्वच्छता सर्वेक्षण रैंकिंग में प्रथम 10 में  आने के प्रयास करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए सभी को टीम भावना से मिलकर एक अभियान के रूप में कार्य करना होगा। बता दें कि इस बार सागर को ओडीएफ डबल प्लास का दर्जा मिला है। अब सागर जिला स्टार रेटिंग तथा वॉटर प्लस रैंकिंग के लिए कार्य कर रहा है।

आहार ऐप का प्रयोग कर जरूरतमंदों को पहुँचाएँ भोजन

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने समीक्षा के दौरान आहार एप के प्रयोग को बढ़ावा देने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि इस ऐप के माध्यम से किसी समारोह या घर में बचे हुए भोजन की जानकारी अपलोड की जा सकती है। जिसे स्वयं सेवी संस्थाओं द्वारा जरूरतमंदों को पहुंचाया जा सकता है। अतः सम्पूर्ण प्रदेश में इस तरह के प्रयोग को बढ़ावा मिलना चाहिए।


शहर में एक पार्क ऐसा बनाएं जो बने शहर की पह्चान


मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि शहर में एक ऐसा पार्क विकसित किया जाए, जो शहर की पहचान बनकर उभरे। सागर एवं अपने परिवार में आने वाला प्रत्येक व्यक्ति इस पार्क में जाए। उन्होंने कहा कि यह पार्क इस प्रकार से विकसित किया जाए कि बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक के लिए समस्त आवष्यक मनोरंजन की सुविधाएं हों।
इसके अतिरिक्त उन्होंने इन्क्यूबेंषन सेंटर, पर्यावरण संरक्षण की दिशा में कार्य किए जा रहे कार्यों की भी समीक्षा की। उन्होंने बताया कि शहर के युवा, जो स्टार्टअप खोलने के इच्छुक हैं उनके लिए इंदौर इन्क्यूबेंषन सेंटर की तर्ज पर सागर शहर में ही आवश्यक प्रशिक्षण तथा स्टार्टअप से संबंधित बुनियादी ट्रेनिंग दी जा सके।

गुणवत्ता और समय सीमा में पूर्ण हो एलिवेटेड कॉरिडोर का कार्य

शहर की यातायात व्यवस्था को सुलभ बनाने के लिए एक कॉरिडोर की मांग की जा रही थी। जिसे मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चौहान ने सागर भ्रमण के दौरान पूर्ण करते हुए निर्देष दिए कि उक्त कॉरिडोर का कार्य गुणवत्तापूर्ण एवं समय सीमा में किया जाए। उन्होंने कहा कि सड़कों का कार्य गुणवत्ता तरीके से हो।
उन्होंने बताया कि सागर में एक आधुनिक बस टर्मिनल, मैकेनिकल एवं ट्रांस्पोर्ट नगर निर्माण की आवश्यकता है जिसके लिए उन्होंने संबंधित अधिकारियों को प्रपोजल तैयार करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार भविष्य के सागर को दृष्टिगत रखते हुए बाईपास अथवा रिंग रोड के निर्माण की भी आवश्यकता है। जिस प्रकार इंदौर के सुपर कॉरिडोर विकसित होने से वहां निवेश की संभावनाओं को गति मिली उसी प्रकार सागर में भी भविष्य की संभावनाओं को देखते हुए बायपास का निर्माण किया जाए जिससे भविष्य में विभिन्न प्रकार के इंस्टीट्यूशन यहाँ आकर सागर के विकास को नए आयाम दे सकें।

समीक्षा के दौरान उन्होंने बताया कि सागर नगर तथा मकरोनिया नगरपालिका का विकास साथ-साथ होना आवश्यक है। अतः दोनों का समग्र एवं समेकित विकास किया जाना चाहिए। उन्होंने बताया कि जिस प्रकार से मकरोनिया क्षेत्र विकसित हो रहा है उसे देखते हुए कि भविष्य में अपार संभावनाएं नजर आती हैं। भविष्य का सागर एक बेहतर सागर बनकर उभरेगा।
इस अवसर पर लोक निर्माण, कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री  गोपाल भार्गव, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री  भूपेन्द्र सिंह, राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविन्द सिंह राजपूत, कृषि मंत्री श्री कमल पटेल, पशुपालन मंत्री  प्रेमसिंह पटेल, सांसद  राजबहादुर सिंह, सागर विधायक श्री शैलेन्द्र जैन, नरयावली विधायक श्री प्रदीप लारिया, बीना विधायक श्री महेष राय, जिला अध्यक्ष श्री गौरव सिरौठिया सहित कमिष्नर श्री मुकेष कुमार शुक्ला, कलेक्टर श्री दीपक सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री अतुल सिंह, अपर कलेक्टर श्री अखिलेष जैन, नगर निगम आयुक्त श्री आरपी अहिरवार, संयुक्त कलेक्टर श्री आदित्य शर्मा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। 


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive