आपदामपहर्तारं दातारं सर्वसम्पदाम्‌ । लोकाभिरामं श्रीरामं भूयो भूयो नमाम्यहम्‌ ॥ श्री रामनवमी की हार्दिक शुभकामनाएं

मंगलवार, 23 मार्च 2021

डॉक्टर लोहिया के विचारों के अनुसार दुनिया बने तबसमानता और शांति दोनों कायम हो सकेंगे :रघु ठाकुर

डॉक्टर लोहिया के विचारों के अनुसार दुनिया बने तबसमानता और शांति दोनों कायम हो सकेंगे :रघु ठाकुर

 साग़र। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी डॉ राम मनोहर लोहिया की जन्मतिथि आज संजय ड्राइव स्थित लोहिया पार्क मैं गरिमा पूर्ण तरीके से मनाई गई।कार्यक्रम के प्रारंभ में सभी सम्मानित अतिथियों ने डॉक्टर लोहिया की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। 
इस अवसर पर मध्य प्रदेश के नगरीय निकाय के मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह ने वीडियो के माध्यम से कार्यक्रम में हिस्सेदारी की और कहा कि हम डॉक्टर लोहिया के बताए रास्तों पर चलने का काम करें उन्हीं का रास्ता बदलाव का रास्ता है ।समाज में इससे क्षमता स्थापित होगी ।कार्यक्रम के आयोजकों को उन्होंने इस अवसर पर शुभकामनाएं दी और कहा कि मुझे जो भी जो भी कार्य की जिम्मेदारी लोहिया पार्क के लिए दी जाएगी मैं उसे अवश्य पूरा करूंगा उन्होंने विशेषताएं ।श्री रघु ठाकुर जी को कार्यक्रम के लिए धन्यवाद दिया।
समाजवादी चिंतक एवं लोहिया विचारक रघु ठाकुर ने कहा कि जिस दुनिया की कल्पना डॉक्टर लोहिया ने की थी यदि आज लोग उनके बताए रास्ते पर चलें तो पूरे विश्व में समानता और शांति स्थापित हो सकेगी ।डॉक्टर लोहिया के विचारों को आज अंगीकार करने की आवश्यकता है।
उन्होंने कहा की पूरी दुनिया में किसी बात को लेकर आज विसंगति है तो वह है अपने अपने कट्टरपंथ को लेकर जबकि डॉक्टर लोहिया उदारता के पक्ष में थे ।यदि उदारता का रास्ता अपनाया जाए तो कट्टरपंथ समाप्त होगा और आपसी भाईचारा विश्वास परस्पर लोगों में कायम होगा।डॉक्टर लोहिया आम गरीब की आवाज थे उन्होंने स्वतंत्रता आंदोलन में अनेकों यातनाएं सही भारत को आजादी दिलाने में संघर्ष किया और देश को आजादी दिलाई।दाम बांधो नीति लागू करने का काम उस समय डॉक्टर लोहिया की मांग थी जो इतने बरसों बाद आज उचित जान पड़ती है।नदियों के जोड़ने का नर नारी समानता का पक्ष उन्होंने लिया था ।जो आज ना सिर्फ आवश्यक है बल्कि उस पर कायम रहने की भी जरूरत आ गई है।डॉक्टर लोहिया का रास्ता समाज में बदलाव का रास्ता है इसे आत्मसात करना होगा
टैगोर विश्वविद्यालय के कुलाधिपति श्री संतोष चौबे ने श्री रघु ठाकुर जी की मांग पर अपने विश्वविद्यालय में बुद्ध लोहिया एवं डॉक्टर गौर शोध पीठ स्थापित करने की मांग को स्वीकार किया और कहा कि इसके लिए अध्ययन केंद्र शुरू किया जाएगा। उन्होंने डॉक्टर लोहिया की सप्तक्रांति यों का विस्तार से उल्लेख किया और इस अवसर पर लोहिया पार्क की स्थापना को एक अविस्मरणीय कार्य बताया।उन्होंने कहा कि रघु ठाकुर जीआज के नए युग के लोहिया हैं। 
सागर के पूर्व महापौर श्री अभय दरे ने कहा कि यह मेरे कार्यकाल की उपलब्धि  थी कि मैं अनेकों विरोध और दबावों के बावजूद सागर मैं लोहिया प्रतिमा एवं लोहिया पार्क स्थापित करा सका ।उन्होंने कहा कि मैं रघु ठाकुर जी की मांग पर अपनी ओर से एक कक्ष सागर के लोहिया पार्क में बुद्ध  लोहिया एवं डॉ गौर के नाम का निर्माण कराने तैयार हूँ ताकि इतिहास की विकृतियों मे सुधार हो सके। 

साहित्यकार श्री मुकेश वर्मा ने सागर से जुड़ी अपनी कई घटना और संस् मरणों को याद किया और कहा कि श्री रघु ठाकुर जी के कारण मुझे लोहिया के विचारों से ओतप्रोत होने का मौका मिला और मैंने लोहिया जी के बारे में विस्तार से  न केवल सिर्फ सिर्फ पड़ा बल्कि में लोहिया के विचारों से स्थाई रूप से जुड़ सका ।इसके सही हकदार श्री रघु ठाकुर हैं। भोपाल से आये वरिष्ठ साहित्य कार बलराम गुमाश्ता जी ने कहा कि साहित्य ही वर्तमान में चुप्पी तोड़ सकता हैं और इसके लिये डॉ लोहिया ही प्रेरणा हैं। भोपाल के प्रसिद्ध अखबार पहले पहल के सम्पादक महेंद्र गगन ने लोहिया को स्मरण किया। 
लोहिया जी के जन्मदिन के अवसर पर श्रीमती गायत्री ठाकुर "सक्षम "द्वारा लिखित पुस्तक "अनूभुती "का विमोचन  डॉ हरिसिंह गौर केंद्रीय विश्वविद्यालय की प्रोफेसर श्रीमती चंदा वेंन द्वारा किया गया। 
कार्यक्रम का संचालन बद्री प्रसाद ने किया एवं आभार राम कुमार पचौरी ने माना।
कार्यक्रम में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी जिन्होंने भारत के आजादी के आंदोलन में हिस्सेदारी की उनके परिजनों को उनकी स्मृति में याद कर प्रशस्ति पत्र एवं प्रतीक चिन्ह भेंट किए गए। 

तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें


वेबसाईट


महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी जिनमें श्री ताराचंद जैन श्री अब्दुल गनी खान श्री गौरीशंकर केसरवानी श्री मन्नू लाल पटेल श्री जालम सिंह मोती श्री प्यारे लाल चौरसिया श्री कन्हैया लाल साहू श्री चिंतामन जैन श्री लाल चंद जैन श्री अब्दुल गनी श्री जी के लोक रस श्री राम नारायण सरवैया श्री राम भरोसे स्वामी श्री धनीराम दुबे श्रीमती कमला बडोनिया श्री गोविंद लाल बड़ौन्या श्री शिवचरण सेन श्री रामचरण कोरी श्री परमानंद चौरसिया श्री कंचन लाल जैन श्री केदारनाथ रोहन श्री गोपाल कृष्ण गुप्ता श्री ज्वाला प्रसाद ज्योतिशी श्री देवी संकर केसरवानी श्री राजाराम झुड़ेले श्री विनायक राव बेलापुरकर श्री कृष्ण कुमार बडोनया श्री लक्ष्मी नारायण भारद्वाज श्री भवानी सिंह ठाकुर श्री राम गोपाल कटारे श्री लक्ष्मी नारायण शिला कारी श्री दयाल चंद जैन श्री मूलचंद पचौरी श्री धर्मचंद जैन श्री टीकाराम जैन श्री महेश दत्त  दुबे एवम श्री बट्टू लाल दुबे श्री दीपचंद जैन श्री समर्थ चंद सोधिया श्री लोकनाथ सिलाकारी  श्री  हरिबल्लभ सिलाकारी श्री नारायण शंकर त्रिवेदी आदि स्वतंत्रता संग्राम सेनानीयों को याद कर पुण्य स्मरण कियागया।
कार्यक्रम में प्रमुख रूप से पं सुखदेव प्रसाद तिवारी श्री सुरेंद्र सुहानेपप्पू गुप्ता अब्दुल रफीक गनी मुकुल पुरोहित सिंटू कटारे अखिलेश केसरवानी सुधीर ठाकुर शिवराज सिंह ठाकुर अतुल तोमर चिकी एंथनी राजेंद्र सिला कारी प्रभात जैन संतोष पचौरी श्री रविंद्र जैन श्रीमती सीमा दुबे श्रीमती सुषमा जैन श्री कमल सउदिया श्री अनिल त्रिवेदी पंकज सिंघई  श्री शंभू दयाल सेन भूपेंद्र सिंह चील पहाड़ी अजय सिंह अनुज खटीक जितेंद्र रोहन श्री आशीष जोशी विनोद तिवारी संजय केसरवानी अरविंद बड़ौदा विकास बेलापुरकर कृष्ण वीर सिंह ठाकुर एडवोकेट भागचंद जैन मुन्ना लाल चौरसिया योगेंद्र मोती बृजेश पटेल ओमप्रकाश केसरवानी श्रीमती वीणा चौकसे सुनील चौक से श्री राजा खान प्रवीण लोकस नवीन सोनी दीनानाथ दुबे गोविंद लाल बड़ौन्या  श्री राजू राठौर सुनील चौकसे आई पी सिंह श्री नारायण सिंह श्री महेश पांडे नारायण सिंह सुरेंद्र सुहाने मोनी केशरवानी  अतुल तोमर राजेंद्र सिंहसुरेंद्र सुहाने उमाकांत मिश्र संजय सिंह राठौर कपिल पचौरी श्री मती चारू सिंह श्री मती विम्मी ठाकुर श्री मती शिल्पा जैन कु कपिला जैन गौरव पचौरी आदि कार्यक्रम में प्रमुख रूप से उपस्थित थे। 
बुंदेली गीतकार श्री अंकित पांडे एवं श्री शिव रतन यादव की टीम ने अपनी प्रस्तुति से सभी लोगों के मन में नया उत्साह भर दिया। श्री संतोष चौबे ने बुद्ध लोहिया गौर पुस्तकालय के लिए सौ पुस्तकें देने की घोषणा की और दस पुस्तको का सेट तत्काल श्री रघु ठाकुर को भेंट किया। डॉक्टर लोहिया अमर रहे के गगनभेदी नारों के साथ कार्य क्रम का समापन हुआ।


---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


SAGAR : ऑक्सीजन की प्रति घंटे के हिसाब से कीमत तय ,लो फ्लो ऑक्सीजन प्रति घंटे डेढ़ सौ एवं हाईफ्लो ऑक्सीजन व्हिथ वेंटीलेटर 300 रुपये

Archive