SAGAR : 8000 से अधिक व्यक्तियों ने कोरोना से जीती जंग ,आत्मबल और मनोबल बनाए रखें

मंगलवार, 18 मई 2021

कोरोना के भय से परिजन नही पहुच रहे है अस्थियां उठाने मुक्तिधाम, ★ निगम कर्मचारियों ने नर्मदा नदी में विधि विधान से किया विसर्जन

कोरोना के भय से  परिजन नही पहुच रहे है अस्थियां उठाने मुक्तिधाम, 
★ निगम कर्मचारियों ने नर्मदा नदी में विधि विधान से किया विसर्जन

सागर । मुक्तिधाम में कोविड मरीजो के अन्तिमसँस्कार के बाद उनकी अस्थियां रखी हुई है। उनके परिजन कोरोना के भय से उठाने नही आ रहे है। या खुद पाजिटिव है तो इनके विसर्जन का संकट बना है। जिस कारण  इनका विसर्जन भी नही हो पा रहा है। करीब एक महीने में 20 कोरोना संक्रमित मरीजो की अन्तिम सँस्कार के बाद अस्थियां मुक्तिधाम की दीवाल पर लटकी है। निगम कर्मचारी रोजाना इनको उठाकर टांग देते है ताकि परिजन ले जाये। 
ऐसे में नगर निगम सागर ने एक शुरुआत आज से की है। अब नगर निगम माँ नर्मदा नदी में नरसिंहपुर जिले के बरमान में इनका विसर्जन कराएगा। आज निगम कर्मचारीयो ने मुक्तिधाम में अस्थियां एकत्रित की और 20 लोगो के अंतिम संस्कार के बाद  रखी अस्थियों को ले जाकर नर्मदा नदी में  विसर्जन किया।
नगर निगम आयुक्त आर पी अहिरवार
बताते है कि पिछले दिनों मुक्तिधाम के निरीक्षण में दिखा की यहाँ पर अस्थियां रखी हुई है  परिजन किन्ही कानोवश नही आ पाए। करीब 20- 25 दिन इंतजार किया। ऐसे में धार्मिक परम्पराओं के मुताबिक इनका विसर्जन हो । इसके लिए तय किया कि जैसे ही इकठ्ठा होगी । इनको नर्मदा नदी में विसर्जित कराएंगे।
इसकी शुरुआत आज से की।

सोशल मीडिया पर ट्वीट , मिली सराहना


कोरोना का भय
कोविड से हुई मौत, अस्थियां लेने नही पहुचे परिजन,नगर निगम साग़र ने नर्मदा नदी में विसर्जित कराई अस्थियां। बरसात में आज बरमान घाट पर 20 मृतकों के अस्थियां 

@ABPNews @OfficeofSSC @brajeshabpnews 
@collectorsagar



20 लोगो की अस्थियों का हुआ विसर्जन

साग़र में कोरोना काल के कहर में पिछले दिनों लगातार मोते हुई। कोरोना से मृत्यु होने पर 20 शवों का काकागंज मुक्तिधाम में निगम के कर्मचारियों द्वारा विधि विधान से कोरोना गाईड लाईन का पालन करते हुये अंतिम संस्कार किया गया।इसके बाद इनकी अस्थियों को एक थैला में इकठ्ठा करके मुक्तिधाम में टांग देते है। ताकि लोग ले जाये। लेकिन जब उनकी खारी उठाने के लिए अभी तक कोई  परिजन नहीं आया तो इस स्थिति में निगम आयुक्त  आर.पी.अहिरवार  ने मानव धर्म निभाते हुए  इसके विसर्जन की व्यवस्था हिन्दू रीति रिवाज से कराना तय किया। 
आज एक बॉक्स में लाल कपड़ा के ऊपर इन अस्थियो को रखा। बाकायदा इन पर फूल डाले और एक वाहन से नरसिंहपुर जिले के बरमान ले गए। यहां नर्मदा नदी
में एक नाव में सवार होकर इनको नदी में विसर्जित किया गया।

 ये दल गया विसर्जन कराने

आज सुबह काकागंज श्मषान घाट से निगम कर्मचारियों की टीम जिसमें प्रमुख रूप से प्रभारी अधिकारी  प्रहलाद रैकवार,  कुलदीप बाल्मीकि,  आषुतोष सोलंकी, रंजीत साहू, श्री अजय रैकवार, राकेष खटीक एवं उनकी टीम के 10 कर्मचारी सुबह वाहन से बरमान घाट रवाना हुये और वहाॅ अस्थियों  का विसर्जन करके माॅ नर्मदा जी से इनकी आत्मा की शांति हेतु प्रार्थना की। इस कार्य से यह सिद्व होता है कि सरकारी विभाग का कार्य सिर्फ शासकीय काम करना नहीं है बल्कि सामाजिक सरोकारों के कार्यो से भी उसका उतना ही संबंध है जितना कि सरकारी कार्य से और यह कार्य उसी दिषा में मानव सेवा की दिषा में मिसाल है।

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------



0 comments:

एक टिप्पणी भेजें


SAGAR: जिला अस्पताल में 10 दिन में तैयार हो जाएगा ऑक्सीजन प्लांट , 100 बिस्तरों को रोज मिलेगी ऑक्सीजन

Archive