रविवार, 13 मार्च 2022

शराब बंदी को लेकर उमा भारती का एक्शन, शराब दुकान में घुसकर फेंका पत्थर,तोड़ी बोतले

शराब बंदी को लेकर उमा भारती का एक्शन, शराब दुकान में घुसकर फेंका पत्थर,तोड़ी बोतले

भोपाल।  पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती शराब
बंदी को लेकर एक्शन में आ गई है। लंबे समय से शराबबंदी को लेकर चर्चा में बनी उमा भारती ने आज भोपाल में एक शराब दुकान में समर्थको के साथ घुसकर पत्थर फेंका और बोतले तोड़ी। रविवार शाम को
उमा भारती भेल इलाके के बरखेड़ा पठानी क्षेत्र स्थित आजाद नगर पहुंची। यहां  शराब की दुकान में भीतर घुसकर शराब की बोतलें तोड़ी। उन्होंने पत्थर उठाया और दुकान में जाकर पत्थर शराब की बोतल पर मारकर तोड़फोड़ की। उमा भारती की इस दंबगई के कारण ठेकेदार ने पुलिस में शिकायत नही की है। उधर भाजपा ने कहा कि यह प्रशासन और उमा के बीच का मामला है। पार्टी का इससे कोई लेना देना नही है। 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें

वेबसाईट



बस्ती में महिलाओं को परेशानी

उमा भारती का कहना है कि मजदूरों की बस्ती हैं, पास में मंदिर हैं, छोटे बच्चों के स्कूल हैं। जब लड़कियां और महिलाएं छतों पर खड़ी होती हैं तोशराबी लोग उनके तरफ मुंह करके लघुशंका करने के लिए खड़े होकर उनको लज्जित करते हैं। मजदूरों की
पूरी कमाई इन दुकानो में फूक जाती हैं। यहां के निवासियों एवं महिलाओं ने आपत्तियां की। विरोध में धरने दिए। क्योंकि यह दुकान सरकारी नीति के खिलाफ है। इसलिए प्रशासन ने हर बार बंद करने का आश्वासन दिया, लेकिन कई साल हो गए यह नहीं हो पाया । अब उन्होंने प्रशासन को एक
हफ़्ते के अंदर दुकान और आहाता बंद करने की चेतावनी दी हैं।उमा भारती का शराबबंदी का यह  अभियान शिवराज सरकार के लिए मुसीबत खड़ी कर सकता है। वे साफ तौर पर कह चुकी हैं कि मप्र में शराब बंदी हो चुकी है। बीते दिनों उन्होंने कहा था कि वह शराब की दुकानों के सामने खड़े होकर लोगों से पूछेंगी।




यह भाजपा का कार्यक्रम नही : डॉ हितेश वाजपेयी

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता डॉ हितेश वाजपेयी का कहना है कि उमा जी निजी  रूप से तय किया हुआ आंदोलन है।यह अपना तरीका है। वो शराबबंदी को लेकर बता भी रही है। वर्तमान घटनाक्रम उमा जी और प्रशासनिक विषय है। यह भाजपा का कोई कार्यक्रम नही है। इसलिए कोई टिप्पणी नही कर सकता। 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense