गुरुवार, 19 दिसंबर 2019

बुन्देलखण्ड मेडीकल काॅलेज और महिला विवि का मामला उठाया, विधायक शेलेन्द्र जैन ने

बुन्देलखण्ड मेडीकल काॅलेज और  महिला विवि का मामला उठाया, विधायक शेलेन्द्र जैन ने
सागर। सागर विधायक शैलेन्द्र जैन ने मध्यप्रदेश विधान सभा में शीतकालीन सत्र के दौरान प्रश्न के माध्यम से बुन्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज सागर में सुपरस्पेशिलिटी सुविधाओं एवं स्वास्थ्य संबंधी सुविधाओं का मुद्दा उठाया। विधायक शैलेन्द्र जैन ने कहा कि, संभागीय मुख्यालय सागर के बुन्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज में कार्डियोलॉजी, न्यूरोलॉजी एवं कैंसर के विषय विशेषज्ञ तथा अन्य सुपरस्पेशिलिटी सुविधायें उपलब्ध नहीं है, जिस कारण मरीजों को अन्यत्र रिफर किया जा रहा है, जिससे इस क्षेत्र के मरीजों को इस मेडिकल कॉलेज का लाभ नहीं मिल पा रहा है एवं प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजनातंर्गत बुन्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज सागर में चिकित्सा सुविधा कब तक उपलब्ध कराई जा सके।
इसके उत्तर में चिकित्सा शिक्षा मंत्री डाॅ. विजयलक्ष्मी साधौ ने कहा कि, वर्तमान में बुन्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज सागर में कॉर्डियोलॉजी, न्यूरोलॉजी, कैंसर के विषय विशेषज्ञो में से मात्र कैंसर के विषय विशेषज्ञ उपलब्ध है। चिकित्सा महाविद्यालय के जिन विभागों में विषय विशेषज्ञ उपलब्ध नहीं है उन विभागों से संबंधित मरीजों को ही आवश्यकतानुरूप अन्य चिकित्सा महाविद्यालयों में रेफर किया जाता है। सुपरस्पेशिलिटी सुविधायें उपलब्ध कराये जाने पर विचार किया जायेगा। भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजनांतर्गत नये सुपरस्पेशिलिटी अस्पताल के प्रस्ताव मांगने पर सागर का प्रस्ताव भी भेजा जाये।
मेडिकल कालेज में आडिटोरियम का मामला
दूसरे प्रश्न में विधायक शैलेन्द्र जैन ने पूछा कि, बुन्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज सागर के ऑडिटोरियम को सर्वसुविधायुक्त बनाये जाने हेतु निर्माण एवं अन्य उपकरणों के प्रस्ताव स्वीकृति की क्या प्रक्रिया है। विधायक शैलेन्द्र जैन ने पूछा कि, बुन्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज में ट्रामा सेन्टर स्थापित किये जाने एवं कैंसर के इलाज हेतु रेडियेशन थैरेपी की महत्वपूर्ण सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी। इसके उत्तर में चिकित्सा शिक्षा मंत्री डाॅ. विजयलक्ष्मी साधौ ने कहा कि, बुन्देलखण्ड मेडिकल कॉलेज में ट्रामा सेन्टर स्थापित किये जाने का प्रस्ताव केन्द्र सरकार को स्वीकृति हेतु भेजा गया है। कैंसर के इलाज हेतु रेडियेशन थैरेपी की महत्वपूर्ण सुविधा उपलब्ध कराने पर विचार किया जायेगा।
शून्य काल में महिला विश्वविद्यालय खोले जाने का मुद्दा उठाया
 विधायक शैलेन्द्र जैन ने  शून्य काल के दौरान सागर विधायक शैलेन्द्र जैन ने सागर में महिला विश्वविद्यालय खोले जाने का मुद्दा उठाते हुये कहा कि, संभागीय मुख्यालय सागर में शासकीय महिला विश्वविद्यालय खोले जाने की मांग काफी लम्बे समय से की जा रही है। छात्राओं को उच्च शिक्षण हेतु एकमात्र शिक्षण संस्थान शासकीय उत्कृष्ट कन्या महाविद्यालय है, जिसमें दस हजार छात्रायें अध्ययनरत है एवं यहाॅ लगभग 100 कि.मी. की परिधि की छात्रायें प्रवेश लेने आती है, जिससे निर्धारित प्रवेश संख्या से कई गुना अधिक छात्राओं द्वारा प्रवेश हेतु आवेदन किया जाता है, परन्तु हजारों की संख्या में छात्रायें प्रवेश से वंचित रह जाती है तथा शासकीय उत्कृष्ट कन्या महाविद्यालय में निर्धारित संख्या से अधिक प्रवेश देने के कारण शिक्षण कार्य भी प्रभावित हो रहा है। सागर संभागीय मुख्यालय, बुन्देलखण्ड का आर्थिक रूप से पिछड़ा क्षेत्र है, यहाॅ लोगों की आय इतनी अधिक नहीं है कि, अपनी बेटियों को निजी महावि़द्यालयों में प्रवेश दिला सके। प्रायवेट शिक्षण संस्थानों की फीस अधिक होने से गरीब परिवारों की बेटियाँ उच्च शिक्षा से वंचित रह जाती है, जिस कारण अभिभावकों एवं छात्राओं में निराशा होती है। विधायक शैलेन्द्र जैन ने शासन से जल्द ही संभागीय मुख्यालय सागर में महिला विश्वविद्यालय खोले जाने की मांग की।  
 मध्यप्रदेश स्थानीय प्राधिकरण (निर्वाचन अपराध) संसोधन विधेयक 2019 का समर्थन किया
सागर/मध्यप्रदेश विधान सभा में शीतकालीन सत्र में विधायक शैलेन्द्र जैन द्वारा मध्यप्रदेश स्थानीय प्राधिकरण (निर्वाचन अपराध) संसोधन विधेयक 2019 का समर्थन करते हुए कहा कि, यदि कोई उम्मीदवार स्वयं या अपने प्रस्तावक के माध्यम से किसी निर्वाचन क्षेत्र में निर्वाचित होने के आशय से नामांकन पत्र में मिथ्या जानकारी प्रस्तुत करता है, जिसके बारे में वह जानता है या यह विश्वास करने का कारण है कि वह मिथ्या है तो वह कारावास का दण्ड दिया जाना चाहिये, जिसकी अवधि 6 मास तक हो सकेगी या जुर्माने के रूप में लगभग राशि रू. 25000 देना होगा अथवा दोनों से दण्डनिय होगा।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive