अभियोजन अधिकारियों की साग़र संभाग की एक दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न

बुधवार, 1 अप्रैल 2020

अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझी,पत्नी से जबरन सम्बन्ध बनाने पर लिया था बदला

अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझी,पत्नी से जबरन सम्बन्ध बनाने पर लिया था बदला

सागर। सागर जिले की चौकी शाहपुर थाना सानौधा अंतर्गत ग्राम देवरी पथरिया की मनपहाडी पर हुई अंधे कत्ल की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया है। पत्नी के साथ जबरन सम्बन्ध बनाने की घटना का बदला  हत्या हुई थी।
पुलिस के मुताबिक चौकी शाहपुर थाना सानौधा अंतर्गत ग्राम देवरी पथरिया स्थित मनटोरिया पर 29 मॉर्च को एक अज्ञात शव मिला था ।जिसकी किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा सिर व गर्दन पर कई वार  कर हत्या की गई थी ।थाना सानौधा अंतर्गत हत्या का प्रकरण कायम कर विवेचना की गई । पुलिस अधीक्षक सागर  अमित सांघी दवारा घटना की गंभीरता को देखते हए तत्काल
याना प्रभारी श्री सी.एस. परिहार थाना सानौधा एवं चौकी प्रभारी शाहपुर उप.निरी. रविभूषण पाठक कोनिदेशित करते हुए एफएसएल टीम को भेजा था । अति.पुलिस अधीक्षक  विक्रम सिंह परिहार एवं अनुविभागीय अधि. रहली  अनुराग पान्डे द्वारा घटना स्थल का निरीक्षण कर विवेचना अधिकारी क आवश्यक दिशा निर्देश दिये ।
उपनिरीखसक, रविभूषण पाठक एवं उनकी टीम द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों के निदर्शों के पालन में
लगातार पतारसी कर अंधे कत्ल का पर्दाफाश किया । आरोपी भरत पिता रामचरन आदिवासी उम 26 वर्ष नि0 ग्राम सिसगुवों थाना बन्डा हाल देवरी मौजा ग्राम मगरोन चौकी शाहपुर को गिरफ्तार  कर न्यायालय पेश किया गया है।
पढ़े  : बिजली में भी कोरोना इफ़ेक्ट, हमेशा नुकसान पहुचाता है विधुत प्रवाह में ,इसमे भी रखा जाता है डिस्टेंस

पत्नी से जबरन सम्बन्ध बनाने पर लिया बदला
आरोपी द्वारा घटना के संबंध में बताया कि यह करीब एक वर्ष पूर्व गुजरात में अपनी पत्नी सहित काम करता था।  इस दौरान उसके ही गाँव का सरमन आदिवासी आता जाता रहता था । जो एक दिन इसकी पत्नि के साथ जबरन संबध बनाये लोकलाज के डर से भरत ने यह बात किसी को नहीं बताई ना ही कहीं रिपोर्ट की परन्तु अपने दिल में बदले की भावना बना ली एवं सरमन के साथ मेलजोल कर उठने बैठने लगा । होली त्यौहार के कारण सरमन व भरत व उसकी पत्नि गाँव सिसगुवाँ आ गये जो वापस नहीं गये और यहाँ पर साथ उठने बैठने लगे।  शाम करीब 07.30 बजे लड़की के मनटोरिया पर मिलने की बात का झांसा देकर भरत ने सरमन को वहाँ बुला लिया और मनटोरिया की
पहाडी पर पहुंचकर इंतजार का बहाना बनाया और मौका देखकर भरत ने सरमन को बखर की पॉस (लोहे की ) जो वह पहले से ही अपने कपड़ों में छिपाकर ले गया था से प्राणघातक चोर्ट पहचॉकर सरमन आदिवासी नि0 ग्राम सिसगुवाँ की निर्मम हत्या कर दी।
इनकी भूमिका रही सराहनीय
उक्त खुलासा में चौकी प्रभारी शाहपुर सहित सहा.उपनिरी. हरिशंकर तिवारी,  करन सिंह,  जितेन्द्र, रेवाराम,  अरविन्द, आर.जगदीश,आर. लकी पटैल आर. 1724 गजेन्द्र आर, सौरभ रैकवार (सायवर सेल सागर) का विशेष सराहनीय योगदान रहा ।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


नौरादेही अभ्यारण : प्रभावित लोगों का शत-प्रतिशत होगा विस्थापन : कलेक्टर

Archive