सागर की पहचान -लाख बंजारा झील

मंगलवार, 13 अक्तूबर 2020

विध्वंस तोड़-फोड़ करना नहीं है गुण संस्कारी, ये गुण है दुराचारी के : पारूल साहू #सुरखी_उपचुनाव

विध्वंस तोड़-फोड़ करना नहीं है गुण संस्कारी, ये गुण है दुराचारी के :  पारूल साहू

#सुरखी_उपचुनाव

सागर। सुरखी विधानसभा की कांग्रेस की प्रत्याशी पारुल साहू ने मीरखेडी गांव में जनसंपर्क  करते समय कहा कि तोड़ फोड़ करना विध्वंस मचाना संस्कारी गुण नही कहलाते कमलनाथ की सरकार तोड़ फोड़ सौदा बाजी करके गिराई गयी है चुनी हुई सरकार गिराना कौन से ग्रंथ वेद मे संस्कार की श्रेणी में रचित है ये गुण तो दुराचारियों के ही है।पारूल साहू ने कहा कि जो एक्टिंग करके जानता हो उसी को एक्टर कहा जायेगा कमलनाथ जी ने शिवराज को मुंबई जाने की गलत सलाह नही दी।

गंज बसौदा के पूर्व विधायक निशंक जैन ने कहा पूरे प्रदेश-देश का विकास चक्र रूक गया है अराजकता और अप्रजातांत्रिक कृत्यों से निर्माण प्रक्रिया ध्वस्व है। युवा डिग्री लिये घर बैठा है कारण सरकारी संस्थानों का निजीकरण, मजदूर अपनी मजदूरी छोड़ अनियोजित लांकडाउन और वर्तमान कोरोना संक्रमण के कारण अपना गृहनगर छोड़ नही पा रहे है। 

आकाशवाणी समाचार भोपाल से प्रसारित*
सागर जिले की चिट्ठी
आलेख: विनोद आर्य

इस अवसर पर बाबूसिंह लोधी, देवेन्द्र पटैल, हाजी मुन्ना चौधरी, प्रहलाद पटैल, फहीम कुरैशी, नदंकिशोर भारती, विजयसिंह लोधी, संतोष पटैल, जतिन चौकसे, सीमा चौधरी, धर्मेन्द्र अहिरवार, अंकित हिन्नौद, आनंद पांडे, शहरयार चौधरी, तारिक उस्मानी, अजीम नेता, मनीष जैन, सकील मंसूरी, विजय कुर्मी, शैलेन्द्र पीपरा, जगदीश तिवारी, सोहिल खान, डॉ. विपिन ओसवाल, सहित सैकड़ो कार्यकर्ता उपस्थित थे।


 ---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


कोविड संक्रमण: कमिश्नर ने बीएमसी के चिकित्सकों की बैठक ली

Archive