आपदामपहर्तारं दातारं सर्वसम्पदाम्‌ । लोकाभिरामं श्रीरामं भूयो भूयो नमाम्यहम्‌ ॥ श्री रामनवमी की हार्दिक शुभकामनाएं

शुक्रवार, 16 अक्तूबर 2020

मन्त्री बनाती सुरखी, राजस्व मन्त्री को जिताने मंत्रियों की साख दांव पर #सुरखी_उपचुनाव @ विनोद आर्य

मन्त्री बनाती सुरखी, राजस्व मन्त्री को  जिताने मंत्रियों की साख दांव पर 

#सुरखी_उपचुनाव 


@ विनोद आर्य

सागर। ( तीनबत्ती न्यूज़ .कॉम ) । सुरखी विधानसभा सीट वह है जिसने   मन्त्री बनाये है। इस क्षेत्र से राजनीति करने वालो का मध्यप्रदेश में  पॉलिटिकल रसूख अक्सर हाई रहा है।शिवराज सरकार में सागर जिले के  तीन मंत्री गोपाल भार्गव , भूपेंद्र सिंह और गोविंद राजपूत है। इस दफा सुरखी उपचुनाव में बतौर प्रत्याशी परिवहन और राजस्व मंत्री गोविंद राजपूत की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। वही दोनो मन्त्री भूपेंद्र सिंह और गोपाल भार्गव की साख भी लगी है। इस तरह तीनों मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है। वैसे सुरखी की राजनीति से जुड़े लोग मन्त्री बनते रहे है। चाहे सरकार कांग्रेस की हो या भाजपा की।

सन 2018 में चुनाव  जीतने के बाद गोविंद राजपूत कमलनाथ सरकार में मन्त्री  बने। दलबदल के जरिये सरकार गिरी। तो गोविंद राजपूत शिवराज सरकार में मन्त्री बनाये गए। अब उपचुनाव में मैदान में है।  यदि चुनाव जीतते है तो फिर मन्त्री बनेंगे। गोविंद का मुकाबला 2013 में भाजपा से जीती पारुल साहू से है। अब दूसरी दफा पार्टी बदलकर आमने सामने है।

पढ़े :  
दलबदल में माहिर सुरखी के नेता !
★लक्ष्मीनारायण यादव ने कई दफा, गोविंद राजपूत ने दो दफा बदले दल
★ उपचुनाव में दलबदल को लेकर घूम रही कई कहानियां


लेकिन उपचुनाव में गोविंद राजपूत जिताने के लिए सागर जिले के दो मंत्रियों गोपाल भार्गव और भूपेंद्र सिंह प्रतिष्ठा भी दांव  पर लगी है।  नगरीय विकास मंत्री भूपेंद्र सिंह का  सुरखी से सीधा नाता है। यही से  जीतकर विधानसभा में पहला कदम रखा था। भूपेंद्र सिंह  ने भाजपा की जमीन यहां तैयार की। श्री सिंह भले ही खुरई से प्रतिनिधित्व कर रहे हो । लेकिन सुरखी में हमेशा प्रभाव शाली रहे है। उपचुनाव में प्रभारी के साथ  कुछ संकट भी गोविंद राजपूत के निपटाए। 
उधर बुन्देलखण्ड अंचल के कद्दावर नेता लोकनिर्माण मन्त्री गोपाल भार्गव के असर सुरखी में है। उनकी सीट रहली से भी सुरखी का  इलाका लगा हुआ है। दोनो मंत्रियों की साख भी जुड़ी है। 
राजनीतिक हालातो की बात करे तो इस चुनाव के नतीजे  जिले के तीनों मंत्रियों की राजनीतिक हैसियत को भी प्रभावित करने वाला होगा। भाजपा को जीत मिलती है तो प्रदेश की  सियासत में सागर की ताकत और बढ़ेगी।  इसके साथ ही बुन्देलखण्ड अंचल में भाजपा को तीसरा प्रभावशाली नेता मिलेगा। 


तीनबत्ती न्यूज़. कॉम
के फेसबुक पेज  और ट्वीटर से जुड़ने  लाईक / फॉलो करे


ट्वीटर  फॉलो करें
@weYljxbV9kkvq5ZB

वेबसाईट


मन्त्री बनते रहे है सुरखी के नेता

सुरखी क्षेत्र के लोगो को अपने विधायको के मन्त्री बनने का सुख अक्सर मिला है। भले ही विकास की गति वैसी नही रही हो। आज भी कई मूलभूत सुविधाओं की दरकार क्षेत्र को है। जनता पार्टी से  चुनाव जीते लक्ष्मी नारायण यादव जनता सरकार में शिक्षा मंत्री बने। तो  फिल्मी गीतकार और गांधीवादी नेता स्व विठ्ठल भाई उधोग मन्त्री सहित कुछ अन्य विभागों का दायित्व मिलता रहा। 

सुरखी क्षेत्र के लोग नगरीय विकास मंत्री भूपेंद्र सिंह को  लम्बे समय से अपना नेता मानते है। भले ही वो खुरई से प्रतिनिधित्व कर रहे हो। मन्त्री भूपेंद्र सिंह मानते है कि उनके मंत्रित्वकाल हो संसदीय सुरखी क्षेत्र के लोग हमेशा मुझसे जुड़े रहे है। कार्यकर्ताओं के  काम भी किये है। 
इसके बाद सन 2018 में गोविंद राजपूत कांग्रेस सरकार में मन्त्री रहे। सत्ता पलट के बाद फिर श्री राजपूत को मन्त्री पद मिला। अब चुनाव  मैदान में है। 

---------------------------- 





तीनबत्ती न्यूज़. कॉम ★ 94244 37885


-----------------------------



0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


SAGAR : ऑक्सीजन की प्रति घंटे के हिसाब से कीमत तय ,लो फ्लो ऑक्सीजन प्रति घंटे डेढ़ सौ एवं हाईफ्लो ऑक्सीजन व्हिथ वेंटीलेटर 300 रुपये

Archive