सागर की पहचान -लाख बंजारा झील

मंगलवार, 5 जनवरी 2021

सागर: नाबालिग से दुष्कृत्य करने वाले आरोपी की जमानत निरस्त

सागर: नाबालिग से दुष्कृत्य करने वाले आरोपी की जमानत निरस्त

 

सागर। न्यायालय सुधांषु सक्सेना विषेष न्यायाधीष लैंगिक अपराधों से बालकों का का संरक्षण अधिनियम 2012 रहली जिला सागर के न्यायालय ने आरोपी भरत का प्रस्तुत जमानत आवेदन निरस्त करने का आदेष दिया गया। राज्य शासन की ओर से पक्ष वरिष्ठ सहा. जिला अभियोजन अधिकारी श्री आषीष त्रिपाठी, रहली ने रखा।

  

घटना का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है कि दिनांक 31.10.2020 को रात करीब 12 बजे फरियादी के रिस्तेदार की तबीयत खराब हो जाने से उन्हे देखने गया था, उस समय अभियोक्त्री जो कि नाबालिग है, घर पर सो रही थी। जब रात्रि 02 बजे वह घर आया तो अभियोक्त्री घर पर नही थी। आसपास पता करने पर भी कोई पता नही चला। उक्त घटना की रिपोर्ट थाना रहली में लेखबद्ध कराई गयी। उक्त रिपोर्ट पर धारा 363 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। विवेचना के दौरान अभियोक्त्री को दस्तायाव किया गया। अभियोक्त्री के कथनों के आधार पर अभियुक्त भरत के विरूद्ध धारा 366,376 भादवि एवं 5/6 पाॅक्सो एक्ट का इजाफा किया गया। आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया। आरोपी के अधिवक्ता ने न्यायालय में जमानत आवेदन प्रस्तुत किया जहां अभियोजन ने जमानत आवेदन का विरोध किया और महत्वपूर्ण तर्क प्रस्तुत किये। माननीय न्यायालय द्वारा दोनों पक्षों को सुना गया, अपराध की गंभीरता को देखते हुए एवं अभियेाजन के तर्को से सहमत होकर अभियुक्त भरत का प्रस्तुत जमानत हेतु धारा 439 दं.प्र.सं का  आवेदन निरस्त कर दिया गया।

 



 




0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें


SAGAR : ऑक्सीजन की प्रति घंटे के हिसाब से कीमत तय ,लो फ्लो ऑक्सीजन प्रति घंटे डेढ़ सौ एवं हाईफ्लो ऑक्सीजन व्हिथ वेंटीलेटर 300 रुपये

Archive