गुरुवार, 12 मई 2022

जल संसाधन विभाग का कार्यपालन यंत्री बड़े बाबू के माध्यम से लेता था रिश्वत, ★ बिजली ठेकेदार से ली 35 हजार की रिश्वत, लोकायुक्त पुलिस ने दोनों पर की कार्यवाई

जल संसाधन विभाग का कार्यपालन यंत्री  बड़े बाबू के माध्यम से लेता था रिश्वत, 

★ बिजली ठेकेदार से ली 35 हजार की रिश्वत, लोकायुक्त पुलिस ने दोनों पर की कार्यवाई
सागर। एमपी में लोकायुक्त पुलिस की ट्रेप की कार्यवाई जारी है। ग्वालियर लोकायुक्त पुलिस ने जल संसाधन विभाग सम्भाग दतिया के क्लर्क को 35 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा है। जल संसाधन विभाग का कार्यपालन यंत्री बिजली बिलों के भुगतान के एवज में एक ठेकेदार से अपने विभाग के क्लर्क के माध्यम से रिश्वत ले रहा था। लोकायुक्त ने दोनों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। 


लोकायुक्त के ग्वालियर सम्भाग के एसपी और  सागर सम्भाग के प्रभारी एसपी रामेश्वर यादव ने बताया कि गोहद निवासी बिजली ठेकेदार आशुतोष श्रेयवास्तव ने कार्यालय में शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमे मड़ीखेड़ा बांध दतिया में बिजली बिल भुगतान के नाम पर कार्यपालन यंत्री प्रेम कुमार पाठक 85 हजार रुपये मांग की जा रही है। इसकी जांच की गई। जिसमें रिश्वत की राशि कार्यालय के क्लर्क रामसिया को देने की बात की गई।क्लर्क रामसिया ने दतिया में कमरा लाइट मिशनरी डिवीजन कार्यालय में बुलाया। 


लोकायुक्त पुलिस ने आज क्लर्क रामसिया को  फरियादी आशुतोष श्रेयवास्तव से  35 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा लिया।  लोकायुक्त पुलिस ने इस मामले में कार्यपालन यंत्री प्रेम कुमार पाठक व बाबू रामसिया काे आराेपी  बनाया है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense