बुधवार, 11 मई 2022

SAGAR : दृष्टि बाधित गोवर्धन और राखी की पढ़ाई के दौरान हुई दोस्ती , मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत बंधे वैवाहिक बन्धन में

SAGAR : दृष्टि बाधित गोवर्धन और राखी की पढ़ाई के दौरान हुई दोस्ती  , मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत बंधे वैवाहिक बन्धन में

सागर । मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना कमजोर वर्ग के लिए एक बड़ा सहारा बनी है। नए सवरूप में लांच हुई इस योजना के तहत शिवराज सरकार 55 हजार रुपये दे दे रही है। इस योजना ने एक दृष्टिबाधित युगल की खुशियां बढा दी। कभी पढ़ाई के दौरान हॉस्टल में परिचय हुआ था आज दोनो वैवाहिक बन्धन में बंध गए। 



मुख्यमंत्री कन्यादान योजना की यह तस्वीर एमपी के सागर जिले के राहतगढ़ में आयोजित मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में सामने आई। यहां 169 जोड़ो के विवाह संपन्न हुए। इसी में  दृष्टिबाधित गोवर्धन और राखी बंसल भी परिणय -सूत्र में बंधे। इसके आयोजक परिव्हनमंत्री गोविंद राजपूत थे।




पढ़ाई में अव्वल है यह जोड़ा
नवयुगल गोवर्धन और राखी की कहानी इंदौर  के जीडीसी हॉस्टल से शुरू हुई। जहां राखी कन्या छात्रावास में रहतीं थीं और गोवर्धन बालक छात्रावास में रहता था। इंदौर में पढ़ाई के दौरान गोवर्धन और राखी का परिचय हुआ था।


राहतगढ़ विकासखंड के मोहासा निवासी गोवर्धन बंसल स्नातकोत्तर में अंग्रेजी विषय से पढ़ाई कर रहे हैं। वहीं उनकी नव जीवन संगिनी ने भी राजनैतिक शास्त्र  से स्नातकोत्तर की कक्षा प्रारंभ की है।  राखी बंसल ने बताया कि उन्होंने पीजीडीसीए भी किया है और अब बी -एड करने के लिए पढ़ाई कर रही हैं। दोनो के बीच चर्चा हुई। परिजन भी शादी के लिए तैयार हो गए। आज दोनो की शादी हो गई। 


नवयुगल ने शादी के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, राजस्व एवं परिवहन मंत्री  गोविंद सिंह राजपूत और कलेक्टर  दीपक आर्य का  आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि वे मुख्यमंत्री श्री चौहान का हृदय से धन्यवाद करते हैं जिनकी वजह से मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के माध्यम से आज वे परिणय- सूत्र में बंधकर अपना नया जीवन शुरू करने जा रहे हैं।
राखी ने मुख्य मंत्री श्री चौहान का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि  दोस्ती के बाद आज परिणय -सूत्र में बंधकर हम अपने नये जीवन की शुरुआत कर रहे हैं राखी ने बताया कि वे मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के विषय में कुछ ज्यादा नहीं जानतीं थीं, किंतु विगत दिनों योजना के बारे में जानकर बहुत खुश हुई। 


उन्होंने अपने अनुभव साझा करते हुए बताया कि विवाह कार्यक्रम में आज उन्हें आर्थिक रूप से किसी प्रकार का कोई खर्च नहीं उठाना पड़ा और उनकी शादी उनके पसंद के साथी के साथ संपन्न हुई।  11 हज़ार रुपए का चेक प्राप्त करते हुए उन्होंने कहा कि यह राशि मेरे लिए करोड़ों रुपए से कम नहीं है।
गोवर्धन के अनुसार राजस्व एवं परिवहन मंत्री  गोविंद राजपूत ने कन्यादान योजना के माध्यम से हमारा विवाह संपन्न करवाया है और अपनी ओर से 51 -51 हजार रुपए की राशि भी प्रदान की है। इस राशि से हम अपने वैवाहिक जीवन को प्रारंभ करेंगे। उन्होंने बताया कि मंत्री श्री राजपूत ने आगे की पढ़ाई करने के लिए भी हमें सहयोग करने के लिए कहा है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Archive

Adsense